close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ईरान को ‘‘स्पष्ट संदेश’’ देने के लिए अमेरिका तैनात करेगा ‘करियर स्ट्राइक ग्रुप’

ट्रम्प ने सत्ता में आने के बाद ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से स्वयं को पिछले साल अलग कर लिया था और उसके खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाए थे.

ईरान को ‘‘स्पष्ट संदेश’’ देने के लिए अमेरिका तैनात करेगा ‘करियर स्ट्राइक ग्रुप’
उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘अमेरिका ईरानी शासन के साथ युद्ध नहीं चाहता, लेकिन हम किसी भी हमले का जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. (फाइल फोटो)

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने चेतावनी दी है कि अमेरिका ईरान को यह ‘‘स्पष्ट’’ संदेश भेजने के लिए पश्चिम एशिया में ‘यूएसएस अब्राहम लिंकन करियर स्ट्राइक ग्रुप’ और एक बमवर्षक कार्य बल तैनात कर रहा है कि अमेरिकी हितों या उसके सहयोगियों पर हर हमले से ‘‘निर्ममता’’ के साथ निपटा जाएगा. बोल्टन ने रविवार को कहा कि ईरान से मिले कई ‘‘परेशान करने वाले और तनाव बढ़ाने वाले संकेतों एवं चेतावनियों’’ के जवाब में पश्चिम एशिया में ‘यूएसएस अब्राहम लिंकन करियर स्ट्राइक ग्रुप’ और एक बमवर्षक कार्य बल तैनात करने का निर्णय लिया गया है. 

You tube के इंजीनियरों ने ऐसे खत्म कर दी Internet Explorer 6 की बादशाहत, पढ़ें पूरी कहानी

बोल्टन ने बताया कि ‘यूएसएस अब्राहम लिंकन करियर स्ट्राइक ग्रुप’ और एक बमवर्षक कार्य बल तैनात करने का मकसद ‘‘ईरानी शासन को यह स्पष्ट संदेश देना है कि अमेरिकी हितों या हमारे सहयोगियों पर हर हमले से निर्ममता से निपटा जाएगा’’. उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘अमेरिका ईरानी शासन के साथ युद्ध नहीं चाहता, लेकिन हम किसी भी हमले का जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं, भले ही वह छद्म हो, इस्लामिक रेवल्यूशनरी गार्ड कोर या फिर ईरानी बलों का हमला हो.’’ 

उल्लेखनीय है कि यह कदम उठाने से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पिछले महीने भारत जैसे देशों को ईरान से तेल खरीदने में मिली छूट को समाप्त कर दिया था ताकि ईरान से तेल निर्यात खत्म किया जा सके. ट्रम्प ने सत्ता में आने के बाद ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से स्वयं को पिछले साल अलग कर लिया था और उसके खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाए थे.

(इनपुट भाषा)