वेनेजुएला पर प्रतिबंधों से निकोलस मादुरो नाराज, ट्रंप से करना चाहते हैं सीधी बात

देश में नयी संविधान सभा के चुनाव के एक दिन बाद अमेरिका ने इसे ‘अवैध’ और ‘तानाशाही’ बताते हुए 31 जुलाई को मादुरो पर प्रतिबंध लगाया था.

वेनेजुएला पर प्रतिबंधों से निकोलस मादुरो नाराज, ट्रंप से करना चाहते हैं सीधी बात
मादुरो ने कहा कि ‘अगर संभव हो’ तो 20 सितंबर को ट्रंप से बातचीत की व्यवस्था की जाये. (फाइल फोटो)

कराकस: ‘साम्राज्यवादी आक्रमकता’ के खिलाफ डटे हुए वेनेजुएला के नेता निकोलस मादुरो का कहना है कि देश के खिलाफ प्रतिबंध लगाने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से वह आमने-सामने सीधी बातचीत करना चाहते हैं. पिछले महीने हुए आम चुनावों के बाद गठित नये शक्तिशाली और विश्वासपात्र नेताओं की संविधान सभा को संबोधित करते हुए मादुरो ने गुरुवार (10 अगस्त) को कहा कि उन्होंने अपने विदेश मंत्री को इसकी व्यवस्था करने का निर्देश दिया, ताकि ‘‘वह डोनाल्ड ट्रंप के साथ आमने-सामने बैठकर बातचीत कर सकें.’

मादुरो ने कहा कि उन्होंने यह भी आदेश दिया कि ‘अगर संभव हो’ तो 20 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर इस बातचीत की व्यवस्था की जाये. न्यूयॉर्क में होने वाली इस बैठक में भाग लेने के लिए दुनियाभर के देशों के राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष शहर में एकत्र होंगे. उन्होंने कहा, ‘अगर उन्हें (ट्रंप) वेनेजुएला में इतनी दिलचस्पी है तो, मैं यही हूं. श्रीमान डोनाल्ड ट्रंप मैं अपना हाथ आगे बढ़ाता हूं.’

तीन घंटे से अधिक लंबे अपने भाषण में मादुरो ने अपना अधिकतर समय उनके शासन के खिलाफ अमेरिका की कथित कार्रवाइयों पर नाराजगी प्रकट करने में लगाया. उन्होंने कहा, ‘हमलोग कभी विदेशी ताकतों के सामने नहीं झुकेंगे.' देश में नयी संविधान सभा के चुनाव के एक दिन बाद अमेरिका ने इसे ‘अवैध’ और ‘तानाशाही’ बताते हुए 31 जुलाई को मादुरो पर प्रतिबंध लगाया था. इस सप्ताह संविधान सभा के कई सदस्यों के खिलाफ भी प्रतिबंध लगाये गये.