VIDEO: 'पॉप बैंड' की लाइव परफॉर्मेंस पर थिरक रहे थे लोग, अचानक आई सुनामी और ...

'सेवेंटीन' नाम का 'पॉप बैंड' तांजुंग लेसुंग के बीच रिसॉर्ट में लाइव परफॉर्मेंस दे रहा था.

VIDEO: 'पॉप बैंड' की लाइव परफॉर्मेंस पर थिरक रहे थे लोग, अचानक आई सुनामी और ...
इस घटना में पॉप बैंड के चार सदस्यों की मौत हो गई है. (फोटो साभारः वीडियो ग्रैब, यूट्यूब)

जकार्ता: सुनामी के कारण दुनियाभर में कई बार तबाही मच चुकी है. वहीं, इंडोनेशिया में शनिवार को एक बार फिर सुनामी ने कहर बरपाया है. यहां एक ज्‍वालामुखी विस्‍फोट के बाद समुद्र में आई सुनामी में करीब 168 लोगों की मौत हो गई है. साथ ही करीब 700 लोग घायल हुए हैं. इन सबके बीच सोशल मीडिया पर सुनामी से मची तबाही के वीडियो की बाढ़ सी आ गई है. इनमें से एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में एक 'पॉप बैंड' लाइव परफॉर्मेंस के दौरान सुनामी की चपेट में आ जाता है. साथ ही वहां मौजूद लोग भी सुनामी में बह जाते हैं. 

 

 

नए साल का जश्न मनाने आए थे लोग
बताया जा रहा है कि यह वीडियो उस समय का है जब 'सेवेंटीन' नाम का यह 'पॉप बैंड' तांजुंग लेसुंग के बीच रिसॉर्ट में लाइव परफॉर्मेंस दे रहा था. बैंड एक टेंट के नीचे बने स्टेज पर गानों की प्रस्तुति दे रहा था. नए साल का जश्न मनाने के लिए स्थानीय बिजली विभाग के करीब 200 लोग वहां अपने परिवार के सदस्यों के साथ मौजूद थे. वीडियो में साफतौर पर देखा जा सकता है कि लोग पार्टी और संगीत का जमकर लुत्फ ले रहे थे. लेकिन, अचानक ही आई इस सुनामी ने वहां हाहाकार मचा दिया. सुनामी की तेज लहरों में बैंड के सदस्य और वहां बैठे कई लोग बह गए. 

 

 

बैंड के 4 और 29 स्थानीय लोगों की हुई मौत 
बैंड के लीड सिंगर रिफियन ने इंस्टाग्राम पर जानकारी देते हुए बताया कि इस घटना में पॉप बैंड के चार सदस्यों की मौत हो गई है. जिनमें बास प्लेयर, रोड मैनेजर, गिटारिस्ट और क्रू मेंबर शामिल है. बैंड का ड्रमर अभी भी लापता बताया जा रहा है. वहीं, स्थानीय बिजली विभाग ने बताया है कि इस घटना में 29 कर्मचारी और पारिवारिक सदस्य की मौत हो गई. साथ ही 13 लोग लापता हैं.   

अनाक क्राकाटाओ ज्‍वालामुखी के फटने के बाद आई सुनामी
सुनामी के कारण वहां के सभी रास्ते बंद हो गए हैं. जिसके कारण लोगों को वहां से निकलने में दिक्कत आ रही है. बताया जा रहा है कि शनिवार को आई सुनामी के बाद करीब 20 मीटर ऊंची लहरें उठीं जिससे होटलों सहित सैकड़ों मकान नष्ट हो गए. इंडोनेशिया की मौसम विज्ञान और भूभौतिकी एजेंसी के वैज्ञानिकों ने कहा कि अनाक क्राकाटाओ ज्‍वालामुखी के फटने के बाद समुद्र के नीचे भूस्खलन सुनामी का कारण हो सकता है. उन्होंने लहरों के उफान का कारण पूर्णिमा के चंद्रमा को भी बताया. 

सितंबर में आए भूकंप और सुनामी ने भी मचाई थी भारी तबाही
भूभौतिकी एजेंसी ने कहा कि हिंद महासागर और जावा समुद्र को जोड़ने वाले सुंडा जलडमरूमध्य में सुनामी आने से करीब 24 मिनट पहले अनाक क्राकाटाओ ज्वालामुखी फटा था. इससे पहले सितंबर में सुलावेसी द्वीप पर पालू शहर में आए भूकंप और सुनामी में करीब 2,500 लोगों की मौत हुई थी.