कोरोना पॉजिटिव होकर अस्पताल में भर्ती हुआ कपल, सरकार ने दी ऐसी भयानक 'सजा'
X

कोरोना पॉजिटिव होकर अस्पताल में भर्ती हुआ कपल, सरकार ने दी ऐसी भयानक 'सजा'

अपने सबसे प्रिय कुत्तों की बेदर्दी से हत्या किए जाने के बाद फम मिन्ह की पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है. इस सदमे की वजह से अस्पताल में भर्ती कपल की तबियत और खराब हो गई है. 

कोरोना पॉजिटिव होकर अस्पताल में भर्ती हुआ कपल, सरकार ने दी ऐसी भयानक 'सजा'

नई दिल्ली: कोरोना ने पूरी दुनिया में कोहराम मचाया और लाखों परिवार उजड़ गए. किसी ने महामारी में अपने दोस्तों को खोया तो किसी के परिजन इसका शिकार होकर अलविदा कह गए. हर देश अपने स्तर से महामारी पर लगाम लगाने की कोशिशों में जुटा हुआ है. भारत समेत ज्यादातर देशों में मिशन मोड में वैक्सीनेशन और टेस्टिंग अभियान चलाया जा रहा है ताकि संक्रमण को रोका जा सके और लोगों का जीवन बचाया जाए.

कोरोना पॉजिटिव निकला कपल

वियतनाम भी भारत की तरह युद्ध स्तर पर कोरोना टेस्टिंग कर रहा है ताकि लोगों को डिटेक्ट कर आइसोलेट किया जाए और फिर संक्रमण को आगे फैलने से रोका जाए. यहां फम मिन्ह हंग नाम के एक शख्स को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद आइसोलेट किया गया, उसकी पत्नी न्गुयेन थी ची एम को भी कोरोना निकला और वह भी पति के साथ अस्पताल में भर्ती हो गईं. लेकिन दोनों को आइसोलेट करने के बाद स्थानीय सरकार ने जो फैसला लिया उस पर अब बहस छिड़ गई है.

सरकार ने लिया विवादित फैसला

दरअसल, यह कपल अपने घर में 12 कुत्ते पालता था और उन्हें किसी बच्चे की तरह प्यार करता था. जब पति-पत्नी कोरोना पॉजिटिव हो गए तो उनके पीछ पालतू कुत्तों को भी आइसोलेशन सेंटर भेज दिया गया. लेकिन इसके बाद सरकार ने संक्रमण फैलने के डर से सभी 12 कुत्तों को जलाकर मार डाला. हालांकि कुत्तों के संक्रमित होने की कोई पुष्ट जानकारी नहीं थी. सरकार के इसी फैसले के खिलाफ फम मिन्ह हंग अब न्याय की गुहार लगा रहे हैं.

अपने सबसे प्रिय कुत्तों की बेदर्दी से हत्या किए जाने के बाद फम मिन्ह की पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है. इस सदमे की वजह से अस्पताल में भर्ती कपल की तबियत और खराब हो गई है. उनपर अपने 12 कुत्तों की मौत का दुख आपदा बनकर टूटा है.

न्याय की गुहार लगा रहे लोग

कपल ने बीबीसी से बातचीत में बताया कि कुत्तों को कोरोना होता भी है या नहीं, इस बारे में अब तक कोई स्टडी नहीं है. ऐसे में प्रशासन किस आधार पर 12 कुत्तों की बेरहमी से हत्या कर सकता है. उन्होंने सरकार से न्याय की गुहार लगाई है और इस खबर के सामने आने के बाद से सोशल मीडिया पर भी लोग इस परिवार को अपना समर्थन दे रहे हैं. इसके लिए लगातार ऑनलाइन कैंपेन चलाई जा रही है और कपल को न्याय दिलाने के लिए लाखों लोग पिटीशन साइन कर चुके हैं.

ये भी पढ़ें: पति का था दूसरी महिला से अफेयर, बौखलाई पत्नी हद से गुजर गई

अपने फैसले को सही ठहराते हुए स्थानीय प्रशासन से दलील दी है कि संक्रमण को रोकने के मकसद से ऐसा कदम उठाया गया था और वह किसी भी किस्म का रिस्क लेने को तैयार नहीं थे. हालांकि लोगों का कहना है कि बेजुबानों के साथ ऐसी क्रूरता नहीं होनी चाहिए थी.

Trending news