US-Russia Tension: एक हथियार कारोबारी के लिए पुतिन ने किया बाइडेन के साथ ऐसा समझौता, जिसे समझ नहीं पाए बड़े-बड़े लोग
topStories1hindi1478172

US-Russia Tension: एक हथियार कारोबारी के लिए पुतिन ने किया बाइडेन के साथ ऐसा समझौता, जिसे समझ नहीं पाए बड़े-बड़े लोग

US-Russia Row: अमेरिका और रूस के बीच ताकत और वर्चस्व की लड़ाई दशकों से चल रही है. इस बीच एक अमेरिकी खिलाड़ी और एक रूसी हथियार कारोबारी की रिहाई की खबर ने उनके दोस्तों और फैंस को बड़ी राहत दी है. क्या है पूरा मामला आइए बताते हैं.

US-Russia Tension: एक हथियार कारोबारी के लिए पुतिन ने किया बाइडेन के साथ ऐसा समझौता, जिसे समझ नहीं पाए बड़े-बड़े लोग

Russia Ukraine War Exchange Programs: यूक्रेन पर रूस के हमले (Russia-Ukraine War) के बाद वाशिंगटन और मॉस्को के बीच तलवारें खिची हुई हैं. दोनों देशों के एक दूसरे के पर प्रतिबंध लगाने और जमकर भढ़काऊ बयानबाजी के बीच जब हाल ही में अमेरिका (US) और रूस (Russia) के अफसर एक दूसरे से बड़े सम्मान और अदब से मुलाकात करते नजर आए तो दुनियाभर के राजनयिक और कूटनीति के जानकर दंग रह गए. 

डिप्लोमेसी या मजबूरी?
कूटनीति के मंच पर अक्सर असंभव सी बातें भी संभव हो जाती हैं. इस बीच जब कुछ कैदियों की अदला-बदली हुई तो साधारण सी दिखने वाली यह खबर दुनियाभर की सुर्खियों में आ गई. दरअसल हाल ही में अबू धाबी हवाई अड्डे पर अमेरिकी बास्केटबॉल खिलाड़ी ब्रिटनी ग्राइनर के लिए रूसी नागरिक विक्टर बाउट का आदान-प्रदान किया गया. यह ऐलान रुसी विदेश मंत्रालय ने किया है. गुरुवार को टेलीग्राम पर जारी एक बयान में कहा, 'एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत ऐसा घटनाक्रम संभव हो सका है. ग्राइनर को कैदियों की अदला-बदली में छोड़ा गया है. वहीं अमेरिका ने उनके बदले रूस के बड़े हथियार कारोबारी विक्टर बाउट को रिहा कर दिया है.

अमेरिका राष्ट्रपति का बयान
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) ने बृहस्पतिवार को कहा कि रूस के साथ कैदियों की अदला-बदली के अभूतपूर्व घटनाक्रम के बाद डब्ल्यूएनबीए स्टार ब्रिटनी ग्राइनर सुरक्षित हैं और अमेरिका की अभिरक्षा में हैं और घर लौट रही हैं. व्हाइट हाउस से अपने एक संबोधन में बाइडेन ने कहा कि ‘पिछले कुछ महीने ब्रिटनी के लिए नर्क के समान थे’, लेकिन अब वह ठीक हैं. 

अमेरिकी पक्ष ने की पुष्टि 
न्यूज़ एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी पक्ष ने भी कैदियों की अदला-बदली पूरी होने की पुष्टि की है. आपको बताते चलें कि ग्राइनर को फरवरी 2022 में हिरासत में लिया गया था जब वह न्यूयॉर्क से मास्को हवाई अड्डे पर पहुंची थी, उसके सामान में भांग के तेल से भरे डार्ट पाए जाने के बाद अगस्त में उन्हें नशीली दवाओं की तस्करी के लिए नौ साल की जेल और दस लाख रूबल का जुर्माना लगाया गया था.

वहीं वाशिंगटन के अनुरोध पर, थाईलैंड की पुलिस ने 2008 में बाउट को अमेरिका द्वारा नामित विदेशी आतंकवादी समूह को हथियार बेचने के आरोप में बैंकॉक में गिरफ्तार किया था. उन्हें 2010 में अमेरिका प्रत्यर्पित किया गया था और 2012 में 15 मिलियन डॉलर के जुर्माने के साथ 25 साल की सजा सुनाई गई थी. इस तरह दोनों देशों ने अपने-अपने नागरिक को सुरक्षित रिहा करा लिया.

(इनपुट न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस के साथ)

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news