पुतिन ने किया खुलासा, ब्रिटेन के पूर्व जासूस स्क्रिपल को रूस के दो 'आम नागरिकों' ने दिया जहर

व्लादिवोस्तोक में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की मौजूदगी में एक आर्थिक फोरम में पुतिन ने दोनों व्यक्तियों से मीडिया को संबोधित करने का अनुरोध किया और कहा कि उनमें ‘‘कुछ भी आपराधिक’’ नहीं हैं.

पुतिन ने किया खुलासा, ब्रिटेन के पूर्व जासूस स्क्रिपल को रूस के दो 'आम नागरिकों' ने दिया जहर
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (फाइल फोटो)
Play

व्लादिवोस्तोक (रूस) : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को कहा कि ब्रिटेन ने पूर्व जासूस सर्जेई स्क्रिपल को नर्व एजेंट जहर देने वाले जिन दो व्यक्तियों को संदिग्ध बताया है वे अपराधी नहीं है और उनकी पहचान असैन्य नागरिकों के रूप में की गई है. व्लादिवोस्तोक में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की मौजूदगी में एक आर्थिक फोरम में पुतिन ने दोनों व्यक्तियों से मीडिया को संबोधित करने का अनुरोध किया और कहा कि उनमें ‘‘कुछ भी आपराधिक’’ नहीं हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हम जानते हैं वे कौन हैं, हमने उनका पता लगाया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर वे आम नागरिक हैं.’’ ब्रिटेन के अधिकारियों ने दावा किया है कि दो संदिग्ध व्यक्ति रूस की सेना की खुफिया एजेंसी के सदस्य हैं. उसके इस दावे के बाद पुतिन की प्रतिक्रिया आई है. पुतिन ने दोनों लोगों से पत्रकारों से बात करने का आग्रह किया.

ये भी पढ़ें- SPY स्‍टोरी: रूस के 2 जासूस, जिनमें से एक राष्‍ट्रपति बना और दूसरे को जहर दिया गया

उन्होंने कहा, ‘‘मैं उम्मीद करता हूं कि वे सामने आएंगे और अपने बारे में बताएंगे. मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि वहां कुछ भी खास नहीं है, कुछ भी आपराधिक नहीं है. हम निकट भविष्य में देखेंगे.’’ 

अब दूसरे रूसी जासूस को भी क्‍या गद्दारी की दी गई सजा?

ब्रिटिश अधिकारियों ने रूस की सैन्य खुफिया एजेंसी जीआरयू के दो संदिग्ध सदस्यों अलेक्जेंडर पेत्रोव और रुसलान बोशिरोव के खिलाफ यूरोपीय गिरफ्तारी वारंट जारी किया है. ये दोनों चार मार्च को सालिस्बरी में रूस के पूर्व जासूस स्क्रिपल और उनकी बेटी यूलिया पर नोविचोक नर्व एजेंट हमला करने के आरोपी हैं. ब्रिटेन का मानना है कि रूस ने यह हमला कराया था.

पूर्व जासूस को जहर देने का मामला: NATO ने 7 रूसी राजनयिकों को निकाला

ब्रिटिश सरकार ने कहा कि इस हमले के लिए पुतिन जिम्मेदार है जबकि रूस ने इस दावे का कड़ा खंडन किया है.