जी20 समिट: पुतिन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच 2 घंटे की मुलाक़ात, अमेरिकी चुनाव में रूस के दख़ल का मुद्दा उठा

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप को बताया कि 2016 अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस ने हस्तक्षेप नहीं किया. रूस के विदेश मंत्री ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि ट्रंप, पुतिन के इस आश्वासन से संतुष्ट भी हो गए.

जी20 समिट: पुतिन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच 2 घंटे की मुलाक़ात, अमेरिकी चुनाव में रूस के दख़ल का मुद्दा उठा
हैमबर्ग में जी20 सम्मेलन से इतर व्लादिमीर पुतिन और डोनाल्ड ट्रंप ने मुलाकात की. (ट्विटर फोटो)

हैम्बर्ग: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप को बताया कि 2016 अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस ने हस्तक्षेप नहीं किया. रूस के विदेश मंत्री ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि ट्रंप, पुतिन के इस आश्वासन से संतुष्ट भी हो गए.

द इंडिपेंडेंट के मुताबिक, हैमबर्ग में शुक्रवार (7 जुलाई) को जी20 सम्मेलन से इतर दोनों नेताओं के बीच दो घंटे तक चली बैठक में इस पर बातचीत हुई. अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने कहा कि ट्रंप ने अमेरिकी चुनाव में रूस द्वारा कथित साइबर हस्तक्षेप का मुद्दा उठाया था.

उन्होंने कहा कि अमेरिका ने इस तरह के हमलों के बारे में बात की, जो लोकतांत्रिक प्रक्रिया के लिए खतरा है. व्हाइट हाउस से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि ट्रंप ने पुतिन द्वारा दिए गए आश्वासनों को स्वीकार किया कि रूस ने 2016 चुनाव में किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं किया है.

टिलरसन ने कहा, "ट्रंप ने 2016 राष्ट्रपति चुनाव में कथित रूसी हस्तक्षेप का मुद्दा उठाया. इस मुद्दे पर दोनों के बीच बहुत लंबी चर्चा हुई." उन्होंने कहा कि ट्रंप ने इस मुद्दे पर चर्चा शुरू की लेकिन पुतिन ऐसे किसी भी हस्तक्षेप से इनकार करते रहे.

जी20 शिखर सम्मेलन में पहली बार ट्रंप और पुतिन ने मिलाया हाथ

जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में हो रहे जी20 शिखर सम्मेलन में पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनके रूसी समकक्ष व्लादीमीर पुतिन ने शुक्रवार (7 जुलाई) को पहली बार हाथ मिलाया. क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने कहा था, 'उन्होंने हाथ मिलाया और कहा कि वे अलग से मुलाकात करेंगे.' 

अरबपति कारोबारी और केजीबी के पूर्व एजेंट की जर्मनी के बंदरगाह शहर हैम्बर्ग में हो रही मुलाकात साल की सबसे चर्चित सियासी मुलाकातों में से एक बताई जा रही है. बैठक से पहले दोनों नेताओं ने कहा था कि वे अंतत: बैठकर बात करने को लेकर आशान्वित हैं.