रूस की हाइपरसोनिक मिसाइल ने बढ़ाई अमेरिका की चिंता

रूस की हाइपरसोनिक मिसाइल ने बढ़ाई अमेरिका की चिंता
रूस की हाइपरसोनिक मिसाइल ने बढ़ाई अमेरिकी की चिंता (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः  रूस ने 'जिरकोन' नाम की हाइपरसोनिक एंटी-शिप मिसाइल तैयार की है. इस मिसाइल की रफ्तार लगभग 7400 किमी. प्रति घंटा है. और एक बार लॉन्च करने के बाद इसे रोकना काफी मुश्किल है. इस खबर ने सभी के होश उड़ा रखे हैं. 

भारत-रूस के बीच मिसाइल सिस्टम के लिए 39 हजार करोड़ की डील 

रूस के रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को इस मिसाइल की तस्वीर जारी की है. अगर एक बार लॉन्च करने के बाद इस मिसाइल को रोकने की कोशिश की गई, तो इसका मलबा भी निशाने को काफी हद तक नुकसान पहुंचाएगा. यही कारण है कि अमेरिका भी इस मिसाइल के सामने आने के बाद टेंशन में है. इस मिसाइल की सबसे बड़ी ताकत इसकी रफ्तार ही है. 

2022 तक रूस की सेना में होगी शामिल
इस मिसाइल की क्षमता लगभग 400 किमी. तक बताई जा रही है, इसे 2022 तक रूस की सेना में शामिल किया जाएगा. इस मिसाइल में स्क्रैमजेट इंजन का उपयोग किया गया है, जो कि हवा में से ऑक्सीजन का प्रयोग करता है. इस मिसाइल में कोई चलन वाला हिस्सा नहीं है. जिरकोन के साथ ही लॉन्च होने वाला पहला जहाज किरोव-वर्ग परमाणु शक्ति वाले युद्ध क्रूजरों में से एक होने की संभावना है, इनमें से दो अभी भी रूसी नौसेना के साथ है. 

रूस से एस-400 मिसाइल खरीदने का विचार कर रहा भारत 

जल्द ही भारत के पास भी होगी ऐसी मिसाइल
उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही आने वाले समय में भारत के पास भी अपनी हाइपरसोनिक एंटी-शिप मिसाइल होगी. भारत में अभी दूसरी पीढ़ी के ब्रह्मोस मिसाइल को तैयार किया जाएगा. इसमें भी स्क्रैमजेट इंजन का उपयोग किया जाएगा.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.