close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

EXCLUSIVE! जल्द आ रहा है 'महाविनाशक', दुश्मन की मिसाइल को आसमान में करेगा राख

लेज़र तकनीक के साथ साथ प्रिडेटर सी अवेंजर में कई और खूबियां हैं जो इस फ्यूचर वॉर का सबसे बड़ा हथियार बनाती हैं.

EXCLUSIVE! जल्द आ रहा है 'महाविनाशक', दुश्मन की मिसाइल को आसमान में करेगा राख
अमेरिका ने प्रिडेटर अवेंजर ड्रोन को अपडेट करने का फैसला लिया है.

नई दिल्ली: जिसे हम महाविनाशक कह रहे हैं वो अमेरिका का सुपर फाइटर ड्रोन प्रिडेटर सी अवेंजर (Predator C Avenger) है. दुश्मनों के लिए बेहद ख़तरनाक है. अमेरिका ने प्रिडेटर अवेंजर ड्रोन को अपडेट करने का फैसला लिया है. अपडेटेड वर्ज़न में अवेंजर लेज़र तकनीक से लैस होगा. आसमान में अमेरिका इसकी मदद से लेज़र वॉर कर सकेगा. अवेंजर लेज़र तकनीक मिसाइल को मार गिराने में सक्षम होगा. ये अमेरिकी ड्रोन (US Drone) कैमरे, रडार, और सेंसर्स से लैस है. इसे अमेरिका की लेटेस्ट किलिंग मशीन (Killing Machine) कहा जाए तो अतिशयोक्ति नहीं होगी. 

प्रिडेटर सी अवेंजर कल्पना से भी ज़्यादा ख़तरनाक है. आसमान के सन्नाटे को चीरती हुई ये किलिंग मशीन लेज़र तकनीक से लैस है. अनमैन्ड एरियल व्हीकल से निकलती किरणें छोटे से छोटे और बड़े से बड़े टारगेट को पल भर में तबाह कर देती है. बिना पायलट के उड़ने वाला ये अमेरिका का लेटेस्ट प्रिडेटर सी अवेंजर ड्रोन है. कैमरे, राडार, और सेंसर्स से लैस, ये ड्रोन दुश्मन को अपनी खबर दिए बिना उसके इलाके में घुसने की और जलाकर राख करने की क्षमता रखता है. 

आसमान में उड़ते प्रिडेटर सी अवेंजर को दुश्मन निशाना बनाने के लिए मिसाइल भी दागे तब भी इसका कुछ नहीं बिगड़ेगा. ज़मीन से प्रिडेटर सी अवेंजर को मार गिराने के लिए मिसाइल दागी गईं. अवेंजर के करीब मिसाइल पहुंचे इससे पहले ही ड्रोन का लेज़र सिस्टम एक्टिव हो जाता है. अवेंजर से निकलने वाली किरणें मिसाइल को हिट करती हैं और मिसाइल आसमान में ही आग के गोले में तब्दील हो जाती है. अवेंजर यूं ही शान से उड़ता रहता है. 

LIVE टीवी: 

अवेंजर का लेज़र का वार कभी खाली नहीं जाता. अवेंजर मिसाइल को तो आसमान में नष्ट कर दिया, अब बारी उस सिस्टम की है जिससे मिसाइल छोड़ा गया था. AVENGER अपने कैमरे और सेंसर्स से मिसाइल सिस्टम का पहले पता लगाता है. लोकशन ट्रैक होते ही अवेंजर की ख़तरनाक किरणें अपना काम शुरू कर देती है. मिसाइल सिस्टम को लेज़र पिघलाने लगती हैं और देखते-देखते दुश्मन के पूरे इलाके को जला डालती हैं.  लेज़र तकनीक के साथ साथ प्रिडेटर सी अवेंजर में कई और खूबियां हैं जो इस फ्यूचर वॉर का सबसे बड़ा हथियार बनाती हैं.

आसमान में मौत का प्रिडेटर सी अवेंजर:
- 13 मीटर लंबा ड्रोन एक बार में लगातार 18 घंटे तक हवा में रह सकता है.
- 50 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ान भरने की क्षमता है.
- अधिकतम रफ़्तार 740 किलोमीटर प्रति घंटे की है.
- ड्रोन के अंदर 1600 किलोग्राम तक हथियार रखे जा सकते हैं.
- और ड्रोन के बाहर 2900 किलोग्राम पेलोड की क्षमता है जो अब तक किसी ड्रोन में नहीं है. 
- इसे ग्राउंड से कंट्रोल के लिए सिर्फ़ 2 क्रू मेंबर्स की ज़रूरत पड़ती है. 
- इसमें दिन और रात में देखनेवाला कैमरा लगा है. 
- मौसम चाहे कैसा भी हो, बादल हों या फिर अंधेरी रात हो. ड्रोन का सिंथेटिक अपर्चर राडार किसी भी इलाके का 3डी नक्शा बना सकता है. 
- प्रिडेटर में जमीन पर मौजूद लक्ष्य का पीछा करनेवाला सिस्टम भी है. यानी किसी भी टारगेट का बचना नामुमकिन है. 

फिलहाल प्रिडेटर सी अवेंजर अमेरिका की कल्पना है लेकिन वो दिन दूर नहीं जब आसमान में लेज़र से युद्ध लड़े जाएंगे.