हटाए गए अमेठी डीएम प्रशांत, अरुण कुमार बने नए डीएम

ट्रेनी पीसीएस सुनील सिंह का कॉलर पकड़कर खींचने के मामले में अमेठी डीेएम को शासन की नाराजगी का सामना करना पड़ा है. सोशल मीडिया पर उनके कारनामे का वीडियो वायरल हो गया, जिसके बाद किरकिरी होने पर गुरुवार को उन्हें पद से हटा दिया गया है. केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने भी इस मामले में उन्हें सीख दी है. स्मृति अमेठी से सांसद हैं. मंगलवार को उनके संसदीय क्षेत्र में व्यवसायी की हत्या हो गई थी.

हटाए गए अमेठी डीएम प्रशांत, अरुण कुमार बने नए डीएम

लखनऊः ट्रेनी पीसीएस का कॉलर पकड़कर खींचने का वीडियो वायरल होने के बाद अमेठी के डीम का तबादला कर दिया गया. डीएम प्रशांत शर्मा को गुरुवार को प्रतीक्षासूची में डाला गया है. अब उनकी जगह मेरठ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अरुण कुमार को तैनाती दी गई है. बुधवार को अमेठी के डीएम और आईएएस प्रशांत शर्मा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इसमें वह ट्रेनी पीसीएस सुनील सिंह का कॉलर खींचते और मौजूद लोगों से अभद्र तरीके से बात करते दिख रहे हैं. 

यह था मामला
यह सारा मामला शुरू हुआ मंगलवार से जब शाम को भठ्ठा व्यवसायी विजय सिंह उर्फ सोनू की मुसाफिरखाना रोड पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सोनू गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र के बिसुनदासपुर निवासी थे. घटना के बाद से ही स्थानीय लोगों के साथ मृतक का परिवार यहां प्रदर्शन कर रहा था. मंगलवार शाम से ही जारी विरोध-प्रदर्शनों के बीच बुधवार सुबह किसी तरह मृतक का पोस्टमॉर्टम कराया गया. इस दौरान उग्र लोगों ने पोस्टमॉर्टम हाउस पर भी प्रदर्शन किया. यहां लोग मौके पर डीएम को बुलाने की मांग करने लगे.

इसके बाद जब डीएम प्रशांत शर्मा यहां मौके पर पहुंचे तो लोगों ने पुलिस पर हत्याकांड से पहले कार्रवाई न करने और लापरवाही होने की शिकायत की. लोगों का कहना है कि इतना सुनते ही डीएम भड़क गए. चिल्लाते हुए जिलाधिकारी ने कहा, हम कोई भगवान तो हैं नहीं, जो सभी त्रासदी को रोक सकें. आप हमारी जगह होते तो क्या करते, मर्डर को रोक लेते. ऐसी घटना को रोकना तो किसी के हाथ में नहीं है। कोई कार्रवाई ना हो तो हमारी गलती है. 

फिर खींचा था ट्रेनी पीसीएस कॉलर
मृतक सोनू सिंह के भाई हैं सुनील सिंह. वह ट्रेनी पीसीएस हैं. परिवार और आस-पास के लोगों के साथ वह भी भाई की हत्या पर प्रदर्शन कर रहे थे. इतने में डीएम ने पीछे से उनका कॉलर पकड़ लिया और खींचते हुए कुछ दूर ले गए. इसी वाकये का वीडियो वायरल हुआ था. हालांकि डीएम प्रशांत शर्मा ने सुनील सिंह का ही एक वीडियो जारी किया जिसमें सुनील खुद कह रहे थे कि डीएम ने उनसे कोई बदसलूकी नहीं की और जो वीडियो वायरल हुआ वह एडिट किया हुआ है. लोग इसे डीएम के दबाव में दिया गया बयान बता रहे हैं.

स्मृति ने भी दी सीख 
डीएम प्रशांत शर्मा के इस अभद्र व्यवहार का विडियो सोशल मीडिया पर फैल गया तो लोगों ने उन्हें जमकर निशाने पर लिया. अमेठी सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने भी डीएम को टैग करते हुए ट्वीट किया कि विनयशील एवं संवेदनशील बनें हम यही प्रयास होना चाहिए. जनता के हम सेवक हैं, शासक नहीं'

इसके जवाब में सफाई के तौर पर डीएम प्रशांत शर्मा ने सुनील सिंह के इकबालिया बयान वाला वीडियो शेयर किया, जिसे लोग दबाव में दिया गया बयान बता रहे हैं. गुरुवार को भी सोशल मीडिया पर किरकिरी जारी रही तो शासन ने प्रशांत शर्मा को हटाने का फैसला किया. उन्हें वेटिंग लिस्ट में डालते हुए उनकी जगह अब अरुण कुमार अमेठी के डीएम बनाए गए हैं.