Nirjala Ekadashi 2021: निर्जला एकादशी पर जानिए महाउपाय जो बदलकर रख देंगे आपका भाग्य

जीवन में आने वाली कई परेशानियों और संकटों-समस्याओं का भी निदान निर्जला एकादशी के व्रत विधान से पाया जा सकता है. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 21, 2021, 07:45 AM IST
  • निर्जला एकादशी के दिन पानी में गंगाजल डालकर स्नान करें
  • आज मंदिर में तिल, कपड़े, धन, फल व मिठाई का दान करें
Nirjala Ekadashi 2021: निर्जला एकादशी पर जानिए महाउपाय जो बदलकर रख देंगे आपका भाग्य

नई दिल्लीः वर्षभर की आने वाली सभी एकादशियों में निर्जला एकादशी को सर्वश्रेष्ठ स्थान मिला हुआ है. मान्यता है कि इस एक एकादशी के व्रत से साल भर की सभी एकादशियों का पुण्य फल प्राप्त हो जाता है. ज्येष्ठ मास की तपती गर्मी और धूप में खुद प्यासा रह जाना और दूसरों को पानी पिलाने की चिंता करना, मनुष्य में ऐसी प्रवृत्ति होनी चाहिए, इसीलिए यह एकादशी विधान की गई है. 

जीवन में आने वाली कई परेशानियों और संकटों-समस्याओं का भी निदान निर्जला एकादशी के व्रत विधान से पाया जा सकता है. ऐसे में कोई भी इस एकादशी का व्रत तो कर ही सकता है, इसके अलावा इस खास दिन खास उपाय भी किए जा सकते हैं. आचार्य विक्रमादित्य से जानिए निर्जला एकादशी के महा उपाय-

निर्जला एकादशी पर ऐसे बदलेगा आपका भाग्य 

आज के दिन, पानी में गंगाजल डालकर स्नान करें.
तांबे के लोटे से सूर्य को अर्घ्य दें.
मंदिर में तिल, कपड़े, धन, फल और मिठाई का दान करें.
निर्जला एकादशी का व्रत रखें.
पूजा करें और पितरों के लिए तर्पण करें.
भगवान शिव माता पार्वती की विशेष पूजा करें.
भगवान विष्णु और महालक्ष्मी की पूजा करें. 

यह भी पढ़िएः Daily Panchang आज निर्जला एकादशी, जानिए व्रत का महत्व, पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

ऐसे करें एकादशी व्रत के दिन पूजा

भगवान विष्णु की प्रतिमा स्थापित करें.
भगवान विष्णु को दूध, दही, घी, चीनी से स्नान कराएं.
भगवान विष्णु को वस्त्र समर्पित करें.

चंदन से भगवान विष्णु का तिलक करें. 
भगवान के चरणों में फूल चढ़ाएं. 
यजुर्वेद में आए पुरूषसुक्त के मंत्रों से पूजन करें. 
भगवान विष्णु को मिठाई, फल का भोग लगाएं. 

संतान की खुशहाली के लिए करें उपाय

मंदिर में गोपाल यंत्र की स्थापना करें. धूप और नैवेद्य चढाएं. मंदिर में दीपक जलाएं. ऊँ नमो नारायणाय मंत्र का 108 बार जप करें. भगवान को 108 बेल पत्र चढाएं. 

सेहत के लिए निर्जला एकादशी महाउपाय 

शालीग्राम के श्री विग्रह की स्थापना करें. पंचामृत से शालिग्राम को स्नान कराएं. शालिग्राम पर 108 तुलसी के पत्ते चढ़ाएं. ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय नम: मंत्र का जप करें. 

शत्रु पर विजय पाने के निर्जला एकादशी उपाय 

एकादशी पर घर में हवनकुंड स्थापित करें. पीली सरसों की साम्रगी से 108 आहुति दें. आहुति देते समय ऊँ केशवाय नम: मंत्र का जप करें. 

निर्जला एकादशी पर महाउपाय

भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए दूध में केसर मिलाकर अभिषेक करें. 
विष्णु सहस्त्र पाठ करने से कुंडली के सभी दोष खत्म होते हैं. 
भगवान विष्णु को पीली वस्तुओं का भोग लगाने से धनलाभ होता है. 

भगवान विष्णु के सामने गीता पाठ करने से पितरों का आशीर्वाद मिलता है. 
भगवान विष्णु की पूजा में तुलसी का उपयोग जरूर करें. 

यह भी पढ़िएः Daily Horoscope 21th June 2021 में जानिए कैसा है आज का राशिफल, कितना बदलेगा भाग्य

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप. 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़