Rathyatra 2021: दो टन चांदी से सजेंगे जगन्नाथ धाम के दरवाजे, रथयात्रा के बाद होंगे प्रभु दर्शन

Rath Yatra 2021: रथ यात्रा उत्सव पूरा होने के दो दिन बाद मंदिर जनता के लिए खुलेगा. भगवान बलभद्र, देवी सुभद्रा और भगवान जगन्नाथ 23 जुलाई को नौ दिवसीय रथयात्रा उत्सव के बाद मंदिर लौटेंगे. भक्तों को दो दिन बाद मंदिर में प्रवेश करने का अवसर मिलेगा.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 17, 2021, 08:07 AM IST
  • रथ यात्रा सुरक्षा कर्मियों की मौजूदगी में सेवादारों की भागीदारी से होगी
  • पुरी के जगन्नाथ मंदिर में आठ दरवाजों पर चांदी की परत चढ़ाई जाएगी
Rathyatra 2021: दो टन चांदी से सजेंगे जगन्नाथ धाम के दरवाजे, रथयात्रा के बाद होंगे प्रभु दर्शन

पुरी: Rath Yatra 2021: पुरी का प्रसिद्ध जगन्नाथ मंदिर 25 जुलाई को जनता के लिए खुलेगा. यह जानकारी प्राधिकारियों ने बुधवार को दी.

मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार ने कहा कि यह निर्णय श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) की बैठक में लिया गया. उन्होंने कहा कि मंदिर 15 जून तक भक्तों के लिए बंद था, जिसे 25 जुलाई तक बढ़ा दिया गया.

रथयात्रा के दो दिन बाद खुलेगा मंदिर

रथ यात्रा उत्सव पूरा होने के दो दिन बाद मंदिर जनता के लिए खुलेगा. भगवान बलभद्र, देवी सुभद्रा और भगवान जगन्नाथ 23 जुलाई को नौ दिवसीय रथयात्रा उत्सव के बाद मंदिर लौटेंगे.


उन्होंने कहा, ‘‘भक्तों को दो दिन बाद मंदिर में प्रवेश करने का अवसर मिलेगा.’’

यह भी पढ़िएः Jagannath Rath Yatra 2021: आखिर कैसे लग गई जगन्नाथ भगवान के मुंह पर जूठन, जानिए रहस्य

कोरोना प्रोटोकॉल के साथ होगी रथयात्रा

कुमार ने कहा कि हालांकि, एसजेटीए 24 या 25 जुलाई को फिर से बैठक करेगा और मौजूदा स्थिति के आधार पर जनता को अनुमति देने पर फैसला करेगा. 24 जून को स्नान यात्रा (स्नान उत्सव) और 12 जुलाई को रथ यात्रा राज्य सरकार के निर्णय के अनुसार भक्तों के बिना, कोविड-19 दिशानिर्देशों के पालन के साथ आयोजित की जाएगी.

पुरी में निषेधाज्ञा लागू की जाएगी

कुमार ने कहा कि रथ यात्रा सुरक्षा कर्मियों की मौजूदगी में सेवादारों की भागीदारी से होगी. उन्होंने कहा कि उत्सव में भाग लेने वाले सेवकों को टीकाकरण की दोनों खुराकों का प्रमाण पत्र या कोविड निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी.


जिलाधिकारी समर्थ वर्मा ने कहा कि त्योहार के दौरान पुरी में निषेधाज्ञा लागू की जाएगी.

दो टन चांदी का होगा प्रयोग

एसजेटीए ने एक अलग बैठक में जगन्नाथ मंदिर में आठ दरवाजों पर चांदी की परत चढ़ाने के लिए दो समितियों का गठन करने का भी निर्णय लिया. उनमें से एक तकनीकी समिति होगी और दूसरी सेवादारों का प्रतिनिधित्व करेगी.
कुमार ने कहा कि एक दानदाता चांदी प्रदान करेगा. कुमार ने कहा कि लगभग दो टन धातु का उपयोग होने की संभावना है.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़