Sun transit in Leo: सूर्य देव कर रहे हैं कन्या राशि में गोचर, सेहत-कारोबार और धन पर क्या पड़ेगा असर

Sun transit in Leo: कुम्भ- राशि से अष्टम भाव में सूर्य का गोचर अचानक चोट लगवा सकता है और नेत्र पीड़ा को बढ़ा सकता है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 16, 2021, 06:58 AM IST
  • मिथुन- राशि से चतुर्थ भाव में गोचर, मां के स्वास्थ्य में सुधार
  • कन्या- राशि में ही सूर्य का गोचर स्वास्थ्य में गड़बड़ी करेगा
Sun transit in Leo: सूर्य देव कर रहे हैं कन्या राशि में गोचर, सेहत-कारोबार और धन पर क्या पड़ेगा असर

नई दिल्लीः Sun transit in Leo: सूर्य देवता राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं. वे कन्या राशि में प्रवेश करेंगे. सूर्यदेव के कन्या राशि में प्रवेश से सभी राशियों पर प्रभाव पड़ेगा. वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य आत्मा, पिता, राज्य, मान-सम्मान, नेत्र और राजनीति का कारक होने के साथ-साथ स्वास्थ्य व आरोग्य प्रदान करता है. सूर्य देव 17 सिंतबर 2021 को दोपहर 1 बजे राशि परिवर्तन करेंगे. ऐसे में ये जानना जरूरी है कि सूर्य का ये परिवर्तन राशि के अनुसार कैसे असर डालेगा. 

मेष- राशि से छठे भाव में सूर्य का गोचर आपके कार्यक्षेत्र में लाभ के साथ साथ शत्रु पक्ष को शांत कर देगा खर्च पर नियंत्रण करेगा.
उपाय: प्रातकाल उगते हुए सूर्य के दर्शन करके नमस्कार करें तथा गुड़ का दान करें.

वृषभ- राशि से पंचम भाव में सूर्य का गोचर आपकी संतान का स्वास्थ्य खराब करने के साथ ही पेट की समस्या बढ़ा सकता है.
उपाय: ॐ घृणि  सूर्याय नमः मंत्र का 108 बार रोज जाप करें और गेहूं का दान करें.

मिथुन- राशि से चतुर्थ भाव में सूर्य का गोचर आपकी माता के स्वास्थ्य में सुधार करेगा और आप की कार्य क्षमता को बढ़ाएगा तथा मान-सम्मान की वृद्धि करेगा.
उपाय: जरूरतमंद लोगों को मीठी गुड़ की वस्तु का दान करें तथा सूर्य दर्शन करें.  

कर्क- राशि से तीसरे भाव में सूर्य का गोचर आपके पराक्रम में वृद्धि के साथ साथ पिता से सम्बंध बेहतर करायेगा 
उपाय: भगवान सूर्यनारायण को तांबे के लोटे से अर्घ्य दे और पिता के चरण स्पर्श करें  

सिंह- राशि से दूसरे भाव मे सूर्य का गोचर आपकी वाणी में क्रोध से कार्यों में गड़बड़ी करेगा कुटुंब में कलह करवा सकता है.  
उपाय: तांबे की प्लेट में गुड़ गेहूं और लाल वस्त्र रखकर जरूरतमंद व्यक्ति को दान करें.  

कन्या- राशि में ही सूर्य का गोचर स्वास्थ्य में गड़बड़ी करेगा तथा दाम्पत्य जीवन मे कलह क्लेश बढ़ सकता है.
उपाय: लाल चंदन की माला से पूर्व दिशा में मुंह करके गायत्री मंत्र का जाप करें और पितरो के नाम से भोजन दान करें.

तुला- राशि से बारहवें भाव में सूर्य का गोचर आखों की समस्या बढ़ायेगा तथा खर्च बढ़ाकर बहुत समस्याएं करेगा.  
उपाय: सुबह के समय भगवान शिव की पूजा करें तथा सूर्य के वैदिक मंत्र ॐ घृणि सूर्याय नमः मन्त्र का 108 बार पाठ करें.  

वृश्चिक- राशि से एकादश भाव में सूर्य का गोचर आपकी नौकरी व्यापार में लाभ के साथ साथ कलह क्लेश खत्म करेगा और भाग्य में वृद्धि भी करेगा.  
उपाय: कम से कम दस नेत्रहीन लोगों को घर का बना हुआ मीठा भोजन कराएं और सूर्यमंत्र जाप करें.  

धनु- राशि से दशमभाव में सूर्य का गोचर आपकी नौकरी में प्रमोशन के साथ साथ आपके मान सम्मान में वृद्धि करेगा धन लाभ करायेगा. 
उपाय: सुबह के समय आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें तथा सूर्य को जल दें.  

मकर- राशि से नवम भाव में सूर्य का गोचर आपके पराक्रम को बढ़ाएगा भाग्य में वृद्धि के साथ-साथ कार्यों की रुकावट खत्म करेगा. 
उपाय: सुबह के समय लाल आसन पर बैठकर सूर्याअष्टक का पाठ करें अनार के रस से शिवलिंग का अभिषेक करें.  

कुम्भ- राशि से अष्टम भाव में सूर्य का गोचर अचानक चोट लगवा सकता है और नेत्र पीड़ा को बढ़ा सकता है.  
उपाय: सुबह के समय गायत्री स्तोत्र का पाठ करने के साथ साथ पिता के चरण स्पर्श करें.  

मीन- राशि से सप्तम भाव में सूर्य का गोचर पारिवारिक कलह क्लेश करा सकता है और रक्तचाप की समस्या भी बढ़ा सकता है.  
उपाय: जरूरतमंद लोगों को गेहूं गुड़ और लाल वस्त्र के साथ साथ शहद का दान करें.

यह भी पढ़िएः Daily Horoscope 16th September 2021: जानिए आज का राशिफल, क्या कह रही हैं राशियां

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.    

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़