close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP से गठबंधन पर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान

महाराष्ट्र में इसी साल विधानसभा के चुनाव होने है. फिलहाल महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना की सरकार है. हालांकि सीट बंटवारे को लेकर काफी दिनों से दोनों पार्टियों के बीच तनाव की खबरें आ रही थीं. लेकिन ठाकरे के बयान से आज काफी हद तक तस्वीर साफ होती दिखाई दे रही है.

BJP से गठबंधन पर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान
File Photo

महाराष्ट्र में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सभी सियासतदानों ने अपनी-अपनी कमर कस ली है. चुनाव के मद्देनज़र राजनीतिक गलियारों में सरगर्मी बढ़ती जा रही है. इस बीच भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और शिवसेना के बीच गठबंधन को लेकर उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान सामने आया है. महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनावों में गठबंधन पर शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने तस्वीर साफ कर दी है. 

उन्होंने कहा, 'हमारे बीच कोई मतभेद नहीं है. रही बात सीट बंटवारे की तो वो बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस से पहले हुई बातचीत और तय किए गए फॉर्मूले के आधार पर ही होगा.'

शिवसेना प्रमुख का कहना है कि अगले 2 दिनों के भीतर इस पर अंतिम फैसला हो जाएगा. उद्धव ठाकरे ने पार्टी के नेताओं के साथ चर्चा के बाद मुंबई में इसकी जानकारी दी. 

  • राम मंदिर पर ठाकरे ने अपनाया ये रुख

इस दौरान उन्होंने बेवाकी से राम मंदिर मुद्दे पर भी बयान दिया. उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण उनके जैसे करोड़ों हिन्दुओं की भावना से जुड़ा है. न्यापालिका पर फरोसा जताते हुए उन्होंने इंतजार करने की नसीहत दी. प्रधानमंत्री मोदी के बयान को सही करार देते हुए ठाकरे ने कहा कि न्यायपालिका पर हमारा भरोसा है. जल्द से जल्द फैसला आए यही हमारी भावना है. 

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने राममंदिर पर आये दिन बयानबाजी करने वाले नेताओं को नसीहत देते हुए कहा था कि लोगों को अनाप-शनाप बयानबाजी करने की बजाय देश की न्याय व्यवस्था पर भरोसा रखना चाहिए.

  • कश्मीर मुद्दे पर कांग्रेस को घेरा

इस दौरान ठाकरे ने कश्मीर मुद्दे पर कांग्रेस को कटघरे में खड़ा किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की देर थी कश्मीर समस्या और उस भूल को पीएम मोदी ने सुधारा है.

महाराष्ट्र में इसी साल विधानसभा के चुनाव होने है. फिलहाल महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना की सरकार है. हालांकि सीट बंटवारे को लेकर काफी दिनों से दोनों पार्टियों के बीच तनाव की खबरें आ रही थीं. लेकिन ठाकरे के बयान से आज काफी हद तक तस्वीर साफ होती दिखाई दे रही है.

इसे भी पढ़ें- राम मंदिर पर बड़बोले नेताओं को पीएम मोदी ने दी ये नसीहत

गौरतलब है कि साल 2014 में भी बीजेपी और शिवसेना के बीच सीट बंटवारे को लेकर बात बिगड़ गई थी. जिसके बाद दोनों दलों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था.