close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव, सभी पर चतुष्कोणीय मुकाबला

हरियाणा और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव होने में अब सिर्फ कुछ घंटे बाकी हैं. अपनी-अपनी तैयारी के बाद सभी पार्टियों को अब केवल जनादेश का इंतजार है. इस चुनावी रण के साथ सभी राजनीतिक दलों को अपना दमखम उपचुनावों में भी दिखाना है. दरअसल चुनाव आयोग ने उपचुनावों के लिए भी मतदान की तारीख 21 अक्टूबर तय कर रखी है और जिसका परिणाम भी 24 अक्टूबर को आएगा.

 उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव, सभी पर चतुष्कोणीय मुकाबला

लखनऊः  उत्तर प्रदेश में सोमवार को 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होंगे. इस दौरान यहां चतुष्कोणीय मुकबला दिखाई दे रहा है, क्योंकि इन सभी सीटों पर भाजपा, बसपा, समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने अपने-अपने प्रत्याशी उतारे हैं. ऐसे में उपचुनाव के चुनावी समर कुल 110 प्रत्याशी मैदान में है, जिनके भाग्य का फैसला कुछ ही घंटों में जनता करने वाली है. इन 11 सीटों पर सोमवार सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो जाएगा जो कि शाम पांच बजे तक चलेगा.

किस सीट से हैं कितने प्रत्याशी

लखनऊ कैंट से सबसे अधिक प्रत्याशी मैदान में हैं, इनकी संख्या 13 है. इसी तरह घोसी सीट पर 12 प्रत्याशी हैं. प्रतापगढ़, गंगोह व बलहा  की सीट से 11-11 प्रत्याशी मैदान में ताल ठोक रहे हैं तो वहीं मानिकपुर व गोविंदनगर में 9-9 उम्मीदवार खड़े हैं. इगलास, रामपुर व जैदपुर की सीट से 7-7 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं.

किसकी दिवाली होगी रोशन

जिन 11 सीटों पर यहां चुनाव होना है, उनमें से 9 सीटों पर भाजपा काबिज रही है. ऐसे में भाजपा के लिए जीत को बनाए रखना अपनी प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए जरूरी है. इसके साथ ही पार्टी की कमान संभाल रहे स्वतंत्र देव सिंह के लिए भी यह चुनाव किसी परीक्षा की घड़ी से कम नहीं है. इसके पहले हुए संसदीय उपचुनावों में भाजपा को हार मिली थी, इसलिए सीएम योगी के लिए भी इन उपचुनावों की जीत बेहद जरूरी बन जाती है. हालांकि सीएम योगी ने पूरे जोर-शोर से सभी सीटों पर प्रचार किया है. भाजपा की तुलना में विपक्षी दलों में शामिल बसपा, कांग्रेस व सपा में प्रचार के दौरान अधिक तेजी देखने को मिलेगी. इसके बावजूद जीत का फैसला तो जनता के हाथों में है. परिणाम आने के तीन दिन बाद ही दिवाली है ऐसे में यह तो वक्त ही बताएगा कि किसकी दिवाली रोशन होगी.

तैयारी है पूरी

जिला निर्वाचन अधिकारियों ने चुनाव से जुड़ी तैयारियां पूरी कर ली हैं. अधिकारियों ने सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त किए हैं. मतदान केंद्रों के आसपास बैरिकेडिंग की है और पोलिंग पार्टियां अपने-अपने पोलिंग स्टेशन पर पहुंच गई हैं. कुछ पोलिंग बूथ जो अतिसंवेदनशील एरिया में आते हैं वहां सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किए गए हैं.