शरद पवार के बारे में भतीजे अजित ने ये बोलकर बढ़ा दी सियासी सरगर्मी

शरद पवार के भतीजे अजित पवार का अपने चाचा के लिए एक ऐसा बयान आया कि राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई. उनके बयान के क्या मायने हैं, ये समझना बेहद ही मुश्किल है क्योंकि महाराष्ट्र की सियासत में पल-पल तस्वीरें बदल रही हैं.

शरद पवार के बारे में भतीजे अजित ने ये बोलकर बढ़ा दी सियासी सरगर्मी

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में शनिवार सुबह-सुबह नई सरकार बन गई. देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर से सीएम पद की शपथ ली और एनसीपी चीफ शरद पवार के भतीजे अजित पवार के हाथ डिप्टी सीएम का पद आया. लेकिन महाराष्ट्र की सियासत का अध्याय यहीं खत्म होता तो और बात होती. क्योंकि महाराष्ट्र में नई सरकार को लेकर रार खत्म होने के बजाय और बढ़ गई.

अजित पवार का संकेत और मायने

साफ है कि महाराष्ट्र में इस वक्त आर-पार की सियासी जंग चल रही है. इस लड़ाई में साम दाम दंड भेद, सबका सहारा लिया जा रहा है. पूरा देश इस पर टकटकी लगाए देख रहा है. एनसीपी की तरफ से अजित पवार की देर सबेर घरवापसी के दावों के बीच अजित पवार ने एक बड़ा ट्वीट किया. ये तीनों दलों के लिए साफ-साफ इशारा है कि वो अब पीछे लौटनेवाले नहीं है. उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने ट्वीट कर पीएम मोदी की बधाई पर उन्हें धन्यवाद दिया है.

अजित पवार ने लिखा कि 'आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी बहुत-बहुत धन्यवाद. हम एक स्थिर सरकार सुनिश्चित करेंगे, जो कि महाराष्ट्र के लोगों के बेहतर भविष्य के लिए कड़ी मेहनत करेगी.'

अजित पवार की तरफ से ये ट्वीट तब सामने आया जबकि शरद पवार और उनके समर्थकों की तरफ से लगातार दावे किए जा रहे थे कि अजित पवार भी आखिरकार भाजपा का साथ छोड़कर घरवापसी कर लेंगे.

इसे भी पढ़ें: शरद पवार से 'पीछा छुड़ाने' के लिए बेताब थे अजित पवार!

भतीजे ने ये बोलकर बढ़ा दिया सस्पेंस

जुबानी दावे की बात करें तो शिवसेना तो हमेशा से कहती आई है कि उसके पास 170 विधायकों का समर्थन है, अब इसमें कौन से गणित और फॉर्मूले का इस्तेमाल किया गया है, ये तो भगवान ही जानते हैं. शरद पवार ये बोलते रहते हैं कि उनके भतीजे ने उन्हें धोखा दिया है. लेकिन अजित पवार बार-बार अपने चाचा की तारीफ करते हुए उन्हें शुक्रिया अदा कर रहे हैं, तो कभी उनकी पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं. मामला इतना ज्यादा उलझ गया है, कि किसी भी पहलू का बखान करना उतना ही मुश्किल हो गया है जितना कि रेत से पानी निकालना.

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री पद का सपना टूटा! तो बेबस राउत भाजपा को देने लगे शाप

अजित पवार के इस ट्वीट ने हर किसी को असमंजस में डाल दिया है. इतना ही नहीं, उन्होंने बैक टू बैक ढेर सारे ट्वीट किए, इसमें सबसे आखिरी ट्वीट और भी दिलचस्प था. उन्होंने सकारात्मक प्रतिक्रिया देते हुए ये लिखा कि 'चिंता करने की बिल्कुल जरूरत नहीं है, सब ठीक है. हालांकि थोड़ा धैर्य आवश्यक है. आप सभी के समर्थन के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.'

इस ट्वीट के जरिए शरद पवार के भतीजे क्या कहने की कोशिश कर रहे हैं, इसे समझना उतना मुश्किल नहीं है. महाराष्ट्र का क्लाइमेक्स अभी बाकी है. रहस्य, रोमांच और सनसनी के अध्यायों के बीच से गुजरती महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे की कहानी कहां जाकर खत्म होगी, ये कोई नहीं जानता है.

इसे भी पढ़ें: क्या कर्नाटक-गोवा के रास्ते पर पहुंच गई है महाराष्ट्र की विधानसभा