close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा में सोनिया की एकमात्र रैली रद्द, भाजपा को मिली मुंह मांगी मुराद

हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी की मुखिया सोनिया गांधी को एकमात्र रैली संबोधित करनी थी, और वो भी रद्द हो गई. अब ऐसे में भाजपा की एक बड़ी मुराद पूरी हो गई. क्योंकि, बीजेपी लंबे वक्त से ये कहती आई है कि राहुल गांधी जहां-जहां प्रचार करते हैं. वहां भाजपा की जीत होती है.

हरियाणा में सोनिया की एकमात्र रैली रद्द, भाजपा को मिली मुंह मांगी मुराद

नई दिल्ली: हरियाणा विधानसभा चुनाव को देखते हुए वैसे तो सभी सियासी दल अपना दमखम दिखाने में जुटे हैं. लेकिन कांग्रेस पार्टी की मुखिया सोनिया गांधी की एक मात्र रैली होनी थी, जिसे भी रद्द कर दिया गया है. सोनिया की जगह राहुल गांधी जनसभा को संबोधित करेंगे. तो क्या ऐसा माना जाए कि भारतीय जनता पार्टी की एक बड़ी मुराद पूरी हो गई है. भाजपा लंबे समय से राहुल गांधी की चुटकी लेते हुए ये कहती आई है, कि राहुल गांधी का प्रचार करना हमारे लिए फायदेमंद साबित होता है.

हरियाणा में हांफने लगी कांग्रेस! 

कांग्रेस पार्टी की स्थिति आए दिन खराब होती दिखाई दे रही है. लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद से पार्टी में उथल-पुथल का दौर शुरू हो चुका है. एक तरफ राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया. तो, वहीं दूसरी तरफ उनकी मम्मी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, दो राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में ज्यादा एक्टिव नजर नहीं आई. लोकसभा चुनाव के नतीजों में तो हरियाणा से एक भी सीट उनकी पार्टी को नसीब नहीं हुई थी. तो क्या ऐसा माना जाए कि कांग्रेस थक चुकी है? और वो हरियाणा विधानसभा चुनाव में हांफ रही है, सुस्ता रही है?

सोनिया की एकमात्र रैली रद्द

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी हरियाणा के महेंद्रगढ़ में शुक्रवार को रैली करने वाली थी, जो कैंसल हो गई. लेकिन गौर करने वाली बात ये है कि पूरे हरियाणा विधानसभा चुनाव के दौरान सोनिया सिर्फ एक रैली का हिस्सा बनने वाली थी, लेकिन अब उनकी जगह उनके सुपुत्र राहुल गांधी महेंद्रगढ़ में जनसभा को संबोधित करेंगे.

हरियाणा विधानसभा चुनाव को देखते हुए सियासी पारा हाई है, कशमकश का दौर लगातार जारी है. लेकिन कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व बेहद उदासीन दिखाई दे रहा है. लेकिन यहां, एक सबसे दिलचस्प बात ये निकलकर आ रही है कि सोनिया की रैली रद्द होने से भाजपा की एक बड़ी मुराद पूरी हो गई. भाजपा नेता बार-बार ये कहते दिखाई दिए हैं कि राहुल गांधी जहां-जहां चुनावी रैली और प्रचार करते हैं, उसका फायदा BJP को पहुंचता है.

किन-किन नेताओं ने कब-कब कसा तंज

प्रकाश जावड़ेकर

  • साल 2017 में भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने तत्कालीन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उनके गुजरात में प्रचार अभियान का जिक्र किया और था कि 'जहां वह गए, भाजपा जीती.'

अनिल विज

  • बीते 12 अक्टूबर को हरियाणा की एक चुनावी रैली में अनिल विज ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका हरियाणा में आना भाजपा के लिए शुभ है, क्योंकि 'राहुल गांधी जहां-जहां प्रचार के लिए जाते हैं, वहां- वहां बीजेपी जीतती है और कांग्रेस का सफाया हो जाता है.'

योगी आदित्यनाथ

  • 14 अक्टूबर को महाराष्ट्र की एक रैली में योगी ने राहुल पर तंज कसते हुए कहा कि यहां राहुल गांधी की मौजूदगी का मतलब है कि भाजपा 100 फीसदी चुनाव में जीत दर्ज करने जा रही है. उन्होंने कहा कि 'राहुल जहां-जहां जाते हैं वहां भाजपा की शत प्रतिशत जीत होती है.'

देवेंद्र फडणवीस

  • 14 अक्टूबर को ही महाराष्ट्र के सीएम फडणवीस ने कहा था कि 'लोकसभा में राहुल गांधी ने जहां-जहां प्रचार किया वहां-वहां कांग्रेस की हार हुई.' उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि ऐसे में मैं चाहता हूं कि राहुल गांधी ज्यादा से ज्यादा महाराष्ट्र में प्रचार करें, ताकि बीजेपी को अधिक सीटों पर जीत मिल सके.

अब जब सोनिया गांधी की रैली की जगह राहुल चुनावी रणभूमि पर हुंकार भरने के मूड में हैं तो ये बात भाजपा को बहुत रास आने वाली है. सूबे में कुल 90 सीटों पर विधानसभा चुनाव कराए जा रहे हैं. एक ओर जहां, भाजपा ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है. अमित शाह से लेकर नरेंद्र मोदी तक चुनावी मैदान पर अपना पूरा जोर-आजमाइश कर रहे हैं. तो नहीं कांग्रेस के सारे बड़े नेताओं ने प्रचार से अपनी कन्नी काट ली है. इतना ही नहीं कई बड़े नेता को आपस में ही दो-दो हाथ करने के मूड में दिखाई दे रहे हैं.

आपको बता दें, आगामी 21 अक्टूबर को हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग की जाएगी. जिसके बाद 24 अक्टूबर को चुनावी परिणाम आने हैं.