दिल्ली विधानसभा चुनावः आप ने जारी की लिस्ट, नई दिल्ली से ताल ठोंक रहे हैं सीएम

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी. इस सूची में 46 मौजूद विधायकों को टिकट दिया गया है. 8 महिलाओं को टिकट मिला है.  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली सीट से चुनाव लड़ेंगे. वहीं, मनीष सिसोदिया पटपड़गंज सीट से चुनाव लड़ेंगे. 

दिल्ली विधानसभा चुनावः आप ने जारी की लिस्ट, नई दिल्ली से ताल ठोंक रहे हैं सीएम

नई दिल्लीः दिल्ली विधानसभा चुनाव की जंग अब रोचक मोड़ पर है. यह वह दौर है जहां राजनीतिक दल 70 विधानसभा सीटों से अपने-अपने प्रत्याशियों के चेहरे सामने रखेंगे और फिर उनके कंधे पर अपने क्षेत्र की जनता का वोट हासिल करने का सीधा दबाव होगा. आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को चुनावी संग्राम के अगले कदम का बिगुल फूंक दिया है. पार्टी ने 70 विधानसभा सीटों पर टिकट वितरण कर प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए हैं. मंगलवार को लंबी बैठक के चले दौर के बाद पार्टी ने सूची जारी की है. 

सूची में 46 मौजूदा विधायकों को दिया गया टिकट
दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी. इस सूची में 46 मौजूद विधायकों को टिकट दिया गया है. 8 महिलाओं को टिकट मिला है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली सीट से चुनाव लड़ेंगे. वहीं, मनीष सिसोदिया पटपड़गंज सीट से चुनाव लड़ेंगे. तिमारपुर से दिलीप पांडेय को टिकट मिला है. बुराड़ी से संदीप झा, बवाना से जयभगवान, नरेला से शरद चौहान, किराड़ी से ऋतुराज झा, शालीमार बाग से वंदना कुमारी मैदान में होंगे. 

सीएम केजरीवाल को दिल्ली, सिसोदिया को मिला पटपड़गंज
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने नई दिल्ली सीट से चुनाव लड़ना मंजूर किया है, वहीं डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पटपड़गंज सीट के वोट हासिल करेंगे. दरअसल पटपड़गंज विधानसभा सीट को पूर्वाचल और उत्तराखंड बाहुल्य माना जाता है. पिछली बार भाजपा ने आप के तत्कालीन बागी विधायक विनोद कुमार बिन्नी को सिसोदिया के खिलाफ मैदान में उतारा था, लेकिन, वह चुनौती तो दूर सिसोदिया का मत प्रतिशत बढ़ने से भी नहीं रोक सके थे. इस बार क्या समीकरण रहेंगे वह आने वाले कुछ दिनों में सामने होगा.

आप और भाजपा के बीच मुकाबला
दिल्ली में विधानसभा की 70 सीटें हैं जिसमें से 58 सामान्य श्रेणी की है जबकि 12 सीटें अनुसूचित जाति के लिये आरक्षित हैं. दिल्ली में मुख्य मुकाबला सत्तासीन आम आदमी पार्टी और केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के बीच ही दिख रहा है. कांग्रेस की स्थिति पर अभी कुछ कहा नहीं जा सकता, लेकिन पिछले चुनाव से कुछ बेहतर की उम्मीद जताई जा रही है. दिल्ली में विधानसभा चुनाव 2015 में आप ने ऐतिहासिक जीत हासिल कर राष्ट्रीय राजधानी की 70 में से 67 विधानसभा सीटों पर कब्ज़ा किया था, और शेष तीनों सीटें भाजपा के खाते में आई थीं. 

ऐसा चलता रहा तो बिहार में नीतीश कुमार को दरकिनार कर देगी भाजपा