close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ये तीन खबरें बताती हैं कि झारखंड में बढ़ गई है चुनावी गहमागहमी

विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होती ही झारखंड में गतिविधियां तेज हो गई  हैं. चाहे ये राजनीतिक दलों में हो या फिर धनपतियों में, हलचलें हर तरफ तेज हो गई हैं. 

ये तीन खबरें बताती हैं कि झारखंड में बढ़ गई है चुनावी गहमागहमी
30 नवंबर से झारखंड में चुनाव

रांची. झारखंड में चुनाव नजदीक ही हैं. 5 चरणों में होने वाले चुनाव 30 नवंबर से शुरु होकर 20 दिसंबर तक चलेंगे. ऐसे में सत्ताधारी गठबंधन और विपक्षी दल अपनी मोर्चाबंदी करने में जुट गए हैं. 

भाजपा और आजसू में सीटों के लिए खींचतान
झारखंड में सत्ता संभाल रही भाजपा और आजसू में सीटों के लिेए खींचतान देखी जा रही है. दोनों पार्टियां चक्रधरपुर सीट के लिए झगड़ रही हैं. इस बार के चुनाव में इस सीट पर आजसू दावा कर रही है. लेकिन प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने आजसू के दावे को खारिज कर दिया है. वो इसे बीजेपी की परंपरागत सीट बता रहे हैं. लेकिन इससे दोनों पार्टियों के रिश्तों में तनाव पैदा हो गया है. चुनावी माहौल में इसका संकेत अच्छा नहीं जा रहा है. 

मामला संभालने के लिए उतरे बड़े नेता
भाजपा और आजसू का झगड़ा सुलझाने के लिए कई बड़े नेता आगे आए हैं. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के झारखंड प्रभारी ओम माथुर ने आजसू (AJSU) के साथ रिश्तों पर कहा कि मेरे रहते हुए कोई खींचतान नहीं हो सकती है. दोनों पार्टियों के बीच जल्द सीट शेयरिंग हो जाएगी और उम्मीदवारों के नाम की घोषणा होगी. 

वहीं, बीजेपी के सह प्रभारी नंद किशोर यादव ने कहा कि उम्मीदवारों के नाम पर केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में चर्चा होगी. बैठक में तमाम दावेदारों के नाम रखे जाएंगे. दिल्ली में गठबंधन के मुद्दे पर भी चर्चा होगी.


लोहरदगा से आजसू उम्मीदवार के 11 नवंबर के नामांकन की घोषणा पर बीजेपी के प्रदेश महामंत्री अनंत ओझा ने कहा कि आपस में बात कर सभी गतिरोध को दूर कर लिया जाएगा. आजसू के साथ संवाद जारी है.

विपक्ष भी अभी नहीं है एकजुट
सत्ताधारी गठबंधन का मुकाबला करने के लिए झारखंड में विपक्ष एकजुट होने की कोशिश तो कर रहा है. लेकिन इसकी कोशिशें अभी तक तो सफल होते हुए नहीं दिखाई दे रही हैं. झारखंड के सबसे बड़े विपक्षी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने साफ कर दिया है कि उनकी पार्टी 42 सीटों से कम पर नहीं लड़ेगी. उन्होंने बताया कि गठबंधन को लेकर हमने सभी दलों को अपना अपना प्रपोजल दिया है, लेकिन जेवीएम (JVM) की तरफ से कोई प्रपोजल नहीं आया है.
उन्होंने बताया कि 8 तारीख यानी शुक्रवार को जेएमएम अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करेगा.

हेमंत सोरेन ने कहा कि बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi)  से मिलने का भी समय मांगा गया है, साथ ही जिन सीटों पर महागठबंधन (Mahagathbandhan) में विवाद है, उसका भी रास्ता निकलेगा, लेकिन इसके लिए इच्छाशक्ति होनी चाहिए.

झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) के मद्देनजर एक महत्वपू्र्ण बैठक झारखंड मुक्ति मोर्चा के प्रमुख और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन (Shibu Soren) के आवास पर हुई. इस बैठक में जेएमएम के कई कद्दावर और वरिष्ठ नेता मौजूद रहे. बैठक में पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन भी शामिल हुए.

कब और कहां होने वाले हैं झारखंड में चुनाव, जानने के लिए यहां क्लिक करें

चुनाव में धन बल के इस्तेमाल की भी है आशंका
झारखंड विधानसभा चुनाव में 23 दिन बाकी हैं. लेकिन इस चुनाव के लिए पैसों का खेल शुरु हो गया है. चुनाव के मद्देनजर गढ़वा जिले के हर थाना पुलिस द्वारा वाहनों की जांच की जा रही थी, इसी दौरान मेराल थाना पुलिस ने  दो गाड़ियों से कुल साढ़े सोलह(16.5) लाख रुपए बरामद किए हैं. एक कार में 15 लाख, जबकि दूसरी कार से डेढ़ लाख रुपए बरामद हुए हैं. वाहन चालक से जब पूछा गया तो उसने कहा कि उसे मझिआंव से उत्तरप्रदेश के लखनऊ तक जाने के लिए कहा गया था.

मेराल थाना से कुछ ही दूरी पर स्थित प्रखंड कार्यालय परिसर में उपविकास आयुक्त और आब्जर्वर की मौजूदगी में रुपयों की गिनती के साथ-साथ वाहन चालक और साथ के लोगों से पूछताछ की गई.