झारखंड में आज थम जाएगा पहले चरण का चुनाव प्रचार! अमित शाह की हुंकार

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण में होने वाले मतदान 30 नवंबर को होने वाले हैं, जिसके लिए हो रहे चुनाव प्रचार का सिलसिला आज थम जाएगा. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज दो रैलियों में जनसभा को संबोधित कर रहे हैं.

झारखंड में आज थम जाएगा पहले चरण का चुनाव प्रचार! अमित शाह की हुंकार

नई दिल्ली: झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Elections 2019) को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी एड़ी से चोटी तक का जोर लगा दिया है. पहले चरण के लिए मतदान होने में कुछ ही घंटे बाकी रह गए हैं ऐसे में आज यानी गुरुवार को चुनाव प्रचार का सिलसिला थम जाएगा.

30 नवंबर को पहले चरण का मतदान

सूबे में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान 30 नवंबर को किया जाएगा. जिससे पहले आज यानी 28 नवंबर को चुनाव प्रचार का दौर खत्म हो जाएगा. इस बीच प्रदेश में सत्ता पर काबिज भाजपा ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. 

भाजपा दिखाएगी दम!

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज झारखंड की दो विधानसभा सीटों में हुंकार भर रहे हैं. पहले चरण के लिए होने वाली वोटिंग को लेकर आज चुनाव प्रचार थम जाएगा. ऐसे में हर किसी की नजर शाह की इस रैली पर है. चतरा में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने विरोधियों को खूब खरी-खोटी सुनाई.

शाह का पूरा कार्यक्रम

सुबह 10:30 बजे- अमित शाह रांची एयरपोर्ट पहुंचे
दोपहर 01:00 बजे- चतरा में चुनावी सभा को संबोधित किया.
दोपहर 01:30 बजे के बाद- गढ़वा में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे
शाम 04:00 बजे- दिल्ली के लिए वापस रवाना हो जाएंगे

भाजपा के लिए झारखंड विधानसभा चुनाव बेहद अहम है, महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ की हुई गलती को भाजपा यहां दोहराना नहीं चाहती है. जिस तरह से चुनावी नतीजों में शिवसेना-भाजपा गठबंधन को बहुमत मिला और फिर शिवसेना ने अलग रास्ता अपना कर भाजपा से सीएम की कुर्सी के लिए रिश्ता तोड़ लिया.

ऐसे में वो किसी भरोसा नहीं करना चाहती है. भारतीय जनता पार्टी अब झारखंड में अकेले  विधानसभा चुनाव लड़ रही है.

इसे भी पढ़ें: झारखंड: पहले चरण के चुनाव में 13 सीटों पर अपनों से ही लड़ेगी भाजपा

चुनाव 30 नवंबर से शुरू होकर पांच चरणों में संपन्न होंगे. 81 सदस्यों वाली झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए आखिरी चरण (5वें) की वोटिंग 20 दिसंबर को की जाएगी. जबकि नतीजे 23 दिसंबर को आएंगे. झारखंड की सत्ता में क्या एक बार फिर भाजपा शानदार कमबैक करती है या फिर उसे हार का मुंह देखना पड़ता है, ये तो चुनावी नतीजे सामने आने के बाद ही पता चल पाएगा.

इसे भी पढ़ें: झारखंड में चुनाव आते ही पार्टियों को याद आए आदिवासी