close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आजम खान के छलके आंसू तो जया प्रदा ने दिया तीखा जवाब! यहां पढ़ें- 5 बड़े विवाद

लंबे वक्त से सियासी सरजमीं पर दो-दो हाथ करने वाले कट्टर दुश्मन आजम खान और जया प्रदा एक बार फिर आमने सामने हैं. विधानसभा उपचुनाव में जहां, आजम खान ने अपने आंसू बहा कर लोगों को भावुक करने की कोशिश की तो वहीं दूसरी तरफ जया प्रदा ने उनके इमोशनल कार्ड पर ऐसा करारा प्रहार किया कि सियासत में उबाल बढ़ गया.

आजम खान के छलके आंसू तो जया प्रदा ने दिया तीखा जवाब! यहां पढ़ें- 5 बड़े विवाद

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान और समाजवादी पार्टी से बीजेपी में आई जया प्रदा के बीच रामपुर की सियासी जंग को लेकर जो शोले लोकसभा चुनाव से पहले और चुनाव के दौरान सुलगते थे वो अभी तक ठंडे नहीं पड़े है. रामपुर के सियासी रण में आजम खान और जया प्रदा एक बार फिर आमने-सामने हैं. आजम जहां आंसू बहा-बहाकर अपने परिवार के लिए वोट मांग रहे है तो जया प्रदा आजम के आंसुओं पर ही सवाल उठा रही हैं.

रामपुर में अपनी सियासी विरासत को बचाने के लिए आजम खान ने एक चुनावी जनसभा में आंसुओं की गंगा-जमुना बहा दी.

आजम खान ने क्या कहा?

उन्होंने कहा कि 'खुली किताब हूं आपके सामने, इसका एक लफ्ज, एक अक्षर भी नहीं मिटा है अभी तक. इस किताब को झुकाने वालों, अपनी गरीबी, अपनी खुद्दारी, अपनी अहमियत का सौदा करने वालों, ये दिन तो गुजर जाएंगे लेकिन हजारों साल की तारीखे तुम्हारे सामने रहेंगी.' इस दौरान वो इमोशनल भी हो गए.

रामपुर की जनता के सामने आजम खान ने आंसुओं का सैलाब बेवजह नहीं बहाया. बल्कि उसकी वजह ये है कि रामपुर विधानसभा सीट के उपचुनाव में उनकी पत्नी और राज्यसभा सदस्य डॉ. तजीन फातमा को समाजवादी पार्टी के टिकट पर मैदान में है. लेकिन वोट की खातिर आजम खान के इन आंसुओं को बीजेपी नेता और रामपुर की पूर्व सांसद जया प्रदा ने सियासी ड्रामेबाजी करार दिया. जया प्रदा ने दो टूक कहा कि आजम उसी का फल भुगत रहे है जो उन्होंने किया है.

जया प्रदा ने आजम को सुनाई खरी-खोटी

जया प्रदा ने आजम पर हमला बोलते हुए कहा कि 'अगर आप (आजम खान) वोट ले रहे हो, तो पांच-छह महीने से इतने सारे जो गरीब लोग है उनकी तकलीफ को आपने समझा? आप उनके पास आए? आपकी जायदाद जा रही है? आपने गरीबों की जमीन को कब्जा किया था उस पर आपके ऊपर केस हुआ, तो उसके लिए आप आंसू बहा रहे हो.'

1). एसिड अटैक का आरोप

  • इसी साल फरवरी के महीने में जयाप्रदा ने यह बोलकर सनसनी फैला दी थी कि आजम खान उनके उपर एसिड से हमला करवाना चाहते हैं. जयाप्रदा ने यह भी कहा था कि उन्हें आजम खान की तरफ से कई बार धमकियां मिल चुकी हैं.

2. जब आजम ने जया को कहा ‘नाचने वाली’

  • जिस वक्त पद्मावत फिल्म रिलीज हुई थी. जयाप्रदा ने आजम के खिलाफ अपनी भड़ास निकालते हुए कहा था कि 'जब मैं पद्मावत फिल्म देख रही थी, तो खिलजी के किरदार ने मुझे आजम खान जी की याद दिला दी, कि कैसे उन्होंने चुनाव के दौरान मुझे परेशान किया था.' जया की इस बात से आजम खान बौखला गए. उन्होंने बयान दिया कि 'सुना है कि पद्मावत फिल्म के किरदार खिलजी का चरित्र बहुत घटिया था. पद्मावती ने खिलजी के आने से पहले ही इस दुनिया को छोड़ दिया था. लेकिन अब एक 'नाचने वाली' औरत ने मेरे बारे में कुछ टिप्पणी की है.' मुझे बताइए, 'अगर मैं इस 'नाचने वाली' की हर बात का जवाब देता रहूंगा, तो मैं राजनीति पर कैसे ध्यान दे पाऊंगा?'

3. जया के खिलाफ फैलाए गएं अश्लील अफवाह

  • साल 2009 में तत्कालीन सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने जयाप्रदा को रामपुर से टिकट देने की घोषणा की. जो आजम खान को नागवार गुजरी, उन्होंने खुले तौर पर मुलायम का विरोध तो नहीं किया लेकिन आजम ने रामपुर में अपने लोगों को शह दे दी थी. उनके आदमी जया को ‘नचनिया’ से लेकर ‘घुंघरू वाली’ तक कहने लगे. और ढ़ेर सारे अफवाहें फैलाई गई.

4. पोस्टर लगने के बाद आत्महत्या करने वाली थीं जया

  • 2009 के चुनावी सीजन में ही ऐसा आरोप सामने आया कि आजम ने अपने समर्थकों के जरिए जयाप्रदा के अश्लील पोस्टर छपवाए, इन पोस्टरों में किसी नग्न महिला का शरीर था, लेकिन उसपर जया का चेहरा चिपका दिया गया था. इसे पूरे रामपुर में जगह जगह लगा दिया गया. इसके बाद जया आत्महत्या करने की बात तक सोचने लगीं. लेकिन बाद में अमर सिंह ने उन्हें समझाया जिसके बाद जया ने अपना मन बदल लिया.

5. सोशल मीडिया पर अश्लील वीडियो शेयर करना

  • आजम के समर्थकों ने जयाप्रदा की गलत तरह से हुए वीडियो को बनाया और उसे वायरल कर दिया. इसके अलावा इस वीडियो की सीडी बनवा कर उसे बंटवाई भी गई. लेकिन जया इसके बावजूद चुनाव में घूम-घूम कर प्रचार कीं और 30 हजार वोट से उस चुनाव में जीत दर्ज की

रामपुर विधानसभा की सीट आजम खान के लोकसभा चुनाव जीतने से ही खाली हुई थी. और 2019 के लोकसभा चुनाव में जया प्रदा को आजम के हाथों हार का मुंह देखना पड़ा था. यही वजह है कि इस बार जया प्रदा आजम खान को उन्हीं के घर में चुनौती देने के लिए डटी हुई हैं. जया प्रदा ने बीजपी प्रत्याशी के समर्थन में पूरी ताकत झोंक दी है. अब देखना ये है कि रामपुर की जनता पर आजम के आंसू असर करते हैं या फिर जया प्रदा की खरी-खरी.