महाराष्ट्र का चुनावी घमासान सुप्रीम कोर्ट में, उधर लापता होने लगे विधायक

महाराष्ट्र के राजनीतिक ड्रामे पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को दोबारा सुनवाई होगी. उधर एनसीपी के  बाहर किए गए अजित पवार भी भाजपा नेताओं के साथ वकीलों से मुलाकात करने के लिए पहुंचे. महाराष्ट्र की पूरी राजनीति अब अदालत की चौखट पर है. 

महाराष्ट्र का चुनावी घमासान सुप्रीम कोर्ट में, उधर लापता होने लगे विधायक
विधायकों के गायब होने की दर्ज कराई जा रही है एफआईआर

नई दिल्ली:  महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणनवीस को मुख्यमंत्री और अजित पवार को उप मुख्यमंत्री पद पर शपथ लेने के बाद राज्यपाल ने उन्हें बहुमत साबित करने के लिेए पांच दिनों का समय दिया. जिसके खिलाफ शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने शनिवार की शाम सुप्रीम कोर्ट में अपील कर दी. अदालत ने रविवार को सुनवाई के बाद मामला सोमवार तक के लिए टाल दिया है. 

सुप्रीम कोर्ट में होगा राजनीतिक फैसला 

सर्वोच्च अदालत के सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक ये याचिका स्वीकार कर ली गई है और सुनवाई के लिए रविवार की सुबह 11.30 बजे का समय तय किया था.

विपक्ष ने अपनी याचिका में देवेन्द्र फडणवीस को 24 घंटे के भीतर बहुमत साबित करने का निर्देश देने की अपील की थी. 

बीजेपी से नाता तोड़ चुकी शिवसेना ने इस मामले में कोर्ट से शनिवार रात ही याचिका पर सुनवाई करने का अनुरोध किया था. क्योंकि उसे डर था कि उसके विधायकों को तोड़ने की कोशिश की जा सकती है. 

शिवसेना ने अदालत से अनुरोध किया कि वह महाराष्ट्र सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह 24 घंटों के भीतर बहुमत साबित करे.

अदालत ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के  बाद केन्द्र, राज्य, देवेन्द्र फडणवीस और अजित पवार को नोटिस जारी करके अपना पक्ष रखने के लिए कहा है. इसके अलावा अदालत ने कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की तुरंत फ्लोर टेस्ट करवाने की मांग खारिज करते हुए सोमवार को इस मामले की सुनवाई फिर से करवाने का आदेश दिया है. 

दो विधायकों की गुमशुदगी का मामला दर्ज

शाहपुर से वर्तमान MLA दौलत दरोड़ा की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. शाहपुर पुलिस ने यह जानकारी दी है. दौलत दरोड़ा दक्षिण मुंबई स्थित राजभवन में सुबह हुई देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार की शपथ ग्रहण में शामिल हुए थे. उसके बाद से उनका कोई अता पता नहीं है. 

पुलिस के अधिकारी ने बताया कि दरोड़ा शुक्रवार रात को अपने बेटे करण के साथ ठाणे से रवाना हुए थे. पूर्व विधायक पांडुरंग बरोड़ा ने शाहपुर पुलिस में जाकर दरोड़ा के गायब होने की शिकायत दर्ज कराई. 

उधर एनसीपी के कलवण विधानसभा क्षेत्र से विधायक नितिन पवार के बेटे ने भी नासिक के पंचवटी पुलिस स्टेशन में पिता की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई है.

विधायक नितिन पवार 23 नवंबर को सुबह 6 बजकर 30 मिनट के लिए मुंबई रवाना हुए थे लेकिन घर नहीं लौटे. नितिन पावर समेत 3 विधायकों का फोन अब भी संपर्क से बाहर जा रहा है.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार के साथ मीटिंग के बाद सभी विधायकों को बस से पवई के होटल रेनासेंस के लिए रवाना कर दिया गया था. विधायकों को लेकर वाईबी सेंटर से रवाना हुई बस होटल पहुंची. सभी दल हॉर्स ट्रेडिंग के डर से अपने-अपने विधायकों को बचाने की कवायद में जुटे हैं.

इस बीच एनसीपी विधायक दल के नेता नव नियुक्त नेता जयंत पाटिल  शरद पवार के आवास पर पहुंचे हैं. उन्हें अजित पवार की जगह एनसीपी विधायक दल का नेता चुना गया है.