जेपी नड्डा बोले-भाजपा कार्यकर्ताओं पर हुए हमले राज्य प्रायोजित, दिलाई विभाजन की याद

भाजपा कार्यकर्ताओं पर हुए हमले के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ममता बनर्जी पर करारा हमला किया है. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 5, 2021, 07:41 PM IST
जेपी नड्डा बोले-भाजपा कार्यकर्ताओं पर हुए हमले राज्य प्रायोजित, दिलाई विभाजन की याद

कोलकाता: 2 मई को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद राज्य में उपजी हिंसा में भारतीय जनता पार्टी के कई कार्यकर्ताओं का जान चली गई. भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों पर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला किया. इस दौरान कई लोगों की जान चली गई. ऐसे में भाजपा ने बुधवार को पूरे देश में हिंसा की इस घटना का पुरजोर विरोध किया. 

वहीं विरोध प्रदर्शन के इस कार्यक्रम का नेतृत्व करने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पहुंचे. उन्होंने तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले ममता बनर्जी पर हमला करते हुए जेपी नड्डा ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हुए हमले को राज्य प्रायोजित बताया और कहा कि ये दिन उन्हें विभाजन की याद दिलाता है. 

बटवारे की दिलाता है याद 
जेपी नड्डा ने कहा, 'ये दिन मुझे बटवारे के दिन की याद दिलाता है. ये घटना मुझे 16 अगस्त, 1946 की याद दिलाती है. वो डायरेक्ट एक्शन डे था. 2 मई की दोपहर भी उसी तरह 'खेला होबे डे' है.' नड्डा ने आगे कहा, 'उनकी खामोशी ये बता रही है कि वो इन सभी घटनाओं में शामिल हैं, वो तीसरे कार्यकाल की शुरुआत खून से सने हाथों के साथ की है.'

हम चुनाव के प्रचार में जब कहते थे कि बंगाल में महिलाएं सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं, तो हम सही थे. बंगाल में पहले लोगों पर हमला, फिर परिवारों पर हमला, फिर महिलाओं पर अटैक और उसके बाद लूटपाट हमें देखने को मिलती है. टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने भाजपा के जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं और उनके परिवारजनों को भी निशाना बनाया है. उनके निशाने पर खासतौर पर महिलाएं थीं उनके साथ बड़े पैमाने पर छेड़छाड़ और रेप की घटनाएं हुई हैं. 

हर कार्यकर्ता के साथ हैं खड़े
बंगाल में हुई इन घटनाओं में जिन लोगों की जान गई है, उनकी संख्या अब तक 14 हो गई है. हम कहना चाहते हैं कि भाजपा हर एक कार्यकर्ता के साथ खड़ी है. हम ये लड़ाई बंगाल की सारी जनता के लिए निर्णायक मोड़ तक लड़ेंगे. गांव वालों को लूटा गया. लोगों ने सुरक्षा के लिए अपना घर और गांव खाली हो गए हैं. कुछ लोग बंगाल से भागकर असम पहुंच गए हैं. 

राज्य प्रायोजित है हमला 
ये राज्य प्रायोजित हमला है. दो दिन से कहां है मानवाधिकार की दुहाई देने वाले लोग? मैं इस बात से भी अचंभे में हूं कि क्यों किसी विरोधी दल ने दो दिन में इन हमलों की निंदा नहीं की. ये उनके दोहरे चरित्र को दिखाता है. हम भाजपा के एक एक कार्यकर्ता के साथ खड़े हैं और हम आखिर तक उनके लिए लड़ेंगे. हम इस मसले का समाधान निकालेंगे. हम चाहते हैं कि हर बंगाली बराबरी और आत्मसम्मान के साथ जीवन जिए. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़