close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आदित्य ने क्यों बदला स्टाइल? शिवसेना के लिए बेहद खास रही आज की वोटिंग

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में सोमवार की वोटिंग शिवसेना के लिए सबसे ज्यादा खास रही. क्योंकि ठाकरे परिवार के राजकुमार कहे जाने वाले आदित्य ठाकरे और ठाकरे फैमिली का कोई सदस्य पहली बार सियासी सरजमीं पर बतौर योद्धा मौजूद है. आदित्य ठाकरे ने देखते ही देखते अपने भीतर काफी बदलाव लाया है.

आदित्य ने क्यों बदला स्टाइल? शिवसेना के लिए बेहद खास रही आज की वोटिंग

नई दिल्ली: देश के दो राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग का दौर सोमवार को देर शाम तक चला. ऐसे में महाराष्ट्र की सियासी गद्दी किसको नसीब होगी? महाराष्ट्र की वोटिंग शिवसेना के लिए बेहद खास है, क्योंकि ठाकरे परिवार के राजकुमार आदित्य ठाकरे इस बार चुनावी मैदान में हैं. आदित्य मुंबई की वर्ली सीट से अपनी किस्मत आजमा रहा हैं. माना जाता है कि इस सीट पर आदित्य को हरा पाना लगभग नामुंकिन सा है. दरअसल इस सीट पर शिवसेना का जबरदस्त दबदबा है.

और बदल गया आदित्य का स्टाइल

सियासी मैदान पर कदम रखते ही आदित्य ठाकरे के हाव-भाव में तब्दीलियां आने लगी. अपने स्टाइल के लिए मशहूर आदित्य दिन-पर-दिन बदलने लगे और आज के वक्त में उन्हें एक गंभीर नेता के तौर पर देखा जाने लगा है. आदित्य को कई क्षेत्र में काफी दिलचस्पी है. कहा जाता है कि उन्हें लिखना, खेलना और फोटोग्राफी में काफी रूचि है.

1). कविता लिखने और पढ़ने में दिलचस्पी

  • आदित्य ठाकरे को बचपन से ही कविता लिखने और पढ़ने के काफी शौक रहा है. बताया जाता है कि आदित्य ने सैकड़ों कविताएं लिखी है, जिन्हें बड़े-बड़े पब्लिशिंग हाउस ने छापी भी है. आदित्य के अंदर अपने परिवार की सभी दिग्गजों की खूबियां शुमार है.

2). गीत लेखन

  • कविता के साथ-साथ आदित्य गीत लिखने के लिए भी जाने जाते हैं. एलबम में आदित्य के कई गीतों को कैलाश खेर, शंकर महादेवन सुरेश वाडेकर और सुनिधि चौहान ने गाया है. 

3). फोटोग्राफी का शौक

  • आपको ये जानकर हैरानी होगी कि आदित्य के बाबा यानी बाल ठाकरे एक बेहतरीन चित्रकार थे, वो सामाजिक परिदृश्य को अपनी कला में उतारा करते थे. लेकिन आदित्य के भीतर चित्रकार का अपग्रेडेड वर्जन शुमार है. उन्हें अलग-अलग तरह से फोटोग्राफी करने का बहुत शौक है. बताया तो ये भी जाता है कि फोटोग्राफी की ललक उनके अंदर अपने पिता उद्धव की फोटोग्राफी को देखकर जागी थी. दरअसल, शिवसेना प्रमुख को भी एक दौर में फोटोग्राफी में काफी रूचि थी.

4). खेलों में रूचि

  • आदित्य ठाकरे को तरह-तरह के खेल भी काफी पसंद हुआ करते हैं. वो मुबंई डिस्ट्रिक्ट फुटबॉल एसोसिएशन (MDFA) के चेयरमैन भी हैं. ऐसे में इस बात का अंदाजा लगाना काफी आसान हो जाता है कि वो एक खेल प्रेमी भी हैं.

5). दिशा पाटनी के साथ डिनर

  • पिछले कुछ महीने पहले आदित्य ठाकरे और एक्ट्रेस दिशा पाटनी को एक होटल से डिनर करने के बाद साथ निकलते देखा गया था. जिसके बाद खबरों का बाजार गर्म हो गया था. उस वक्त इंटरनेट पर दिशा और आदित्य के कनेक्शन निकाले जाने लगे थे. कई ने तो तरह-तरह से आदित्य और दिशा पर निशाना भी साधा. किसी ने ये लिखा कि 'टाइगर जिंदा है', तो कोई कहने लगा कि 'लगता है कि चुनाव की तैयारी अभी से शुरू हो गई है'. आदित्य के साथ दिशा के डिनर वाली खबर कई दिनों तक सुर्खियों में रही थीं. हालांकि जब ये मुद्दा शांत हुआ तो दोबारा इसकी चर्चा नहीं हुई.

आदित्य ठाकरे अपने कूल अंदाज के लिए भी जाने जाते हैं. उन्हें फोटोग्राफी करने के साथ-साथ फोटो खिंचवाना भी काफी ज्यादा पसंद है. लेकिन अब राजनीति में कदम रखने के बाद और विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत पर दांव खेल रहे आदिक्य का हाव-भाव बिल्कुल गंभीर नेता में तब्दील होने लगा है. शिवसेना और आदित्य के चाहने वाले उनका बतौर सीएम राजतिलक होते देखने के लिए बेकरार हैं. लेकिन भाजपा ने पहले ही ये साफ कर दिया है कि इस बार भी देवेंद्र फडणवीस ही सीएम के चेहरे होंगे. अब ऐसे में आज वोटिंग चल रही है. आदित्य पर वर्ली के लोगों ने कितना भरोसा जताया है, ये तो आने वाली 24 तारीख को ही साफ हो पाएगा. जब विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती की जाएगी.