लक्षदीप के लोगों के लिए संघर्ष जारी रखेंगी आयशा सुल्ताना, रविवार को पुलिस के समक्ष होंगी हाजिर

आयशा द्वीप समूह के लिए रवाना होने से पहले कोच्चि हवाई अड्डे पर मीडिया से बातचीत कर रही थीं. उन्हें इस मामले में रविवर को पूछताछ के लिए कवारत्ती पुलिस के सामने पेश होना है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 19, 2021, 06:26 PM IST
  • आयशा सुल्ताना इन दिनों देशद्रोह के मामले में फंसी हुई हैं
  • अब वह रविवार को पुलिस के सामने हाजिर होने वाली हैं

ट्रेंडिंग तस्वीरें

लक्षदीप के लोगों के लिए संघर्ष जारी रखेंगी आयशा सुल्ताना, रविवार को पुलिस के समक्ष होंगी हाजिर

नई दिल्ली: लक्षद्वीप एक्ट्रस और फिल्माकार आयशा सुल्ताना (Ayesha Sultana) पिछले कुछ समय से काफी विवादों में छाई हुई हैं. हाल ही में उन पर राजद्रोह का आरोप लगाया गया है. वहीं दूसरी ओर अब आयशा ने शनिवार को कहा कि उन्होंने अब तक देश के विरुद्ध कुछ नहीं किया है और तब तक अपना संघर्ष जारी रखेंगी जब तक द्वीपवासियों को इंसाफ नहीं मिल जाता.

आयशा ने की मीडिया से बात

आयशा द्वीप समूह के लिए रवाना होने से पहले कोच्चि हवाई अड्डे पर मीडिया से बातचीत कर रही थीं. उन्हें इस मामले में रविवर को पूछताछ के लिए कवारत्ती पुलिस के सामने पेश होना है. सुल्ताना ने कहा कि उनके वकील भी उनके साथ जा रहे हैं और वह पुलिस के साथ सहयोग करेंगी. उन्होंने कहा, "मुझे विश्वास है कि मुझे इंसाफ मिलेगा क्योंकि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया. मेरे शब्दों की गलत व्याख्या की गई और मैं पहले ही अपने हाल के फेसबुक पोस्ट में हर चीज का उल्लेख कर चुकी हूं."

विवादास्पद शब्द पर खड़ा हुआ बवाल

टेलीविजन पर परिचर्चा के दौरान उनके द्वारा विवादास्पद शब्द ‘जैविक हथियार’ के इस्तेमाल किए जाने के बारे में पूछ जाने पर आयशा ने कहा कि ये सारे विवाद उसी खास शब्द को लेकर है.

उन्होंने कहा, "मैंने देश के विरुद्ध कुछ नहीं किया है. मैंने जो एक शब्द बोला, ये सारे विवाद उसी के कारण पैदा हुए. इसलिए यह साबित करना मेरी जिम्मेदारी है कि मैंने कुछ गलत नहीं किया है. मैं तब तक संघर्ष करूंगी जब तक मेरी भूमि और लोगों को इंसाफ मिल नहीं जाता."

केरल उच्च न्यायालय ने दी एक्ट्रेस को अंतरिम जमानत

सुल्ताना को राहत प्रदान करते हुए केरल उच्च न्यायालय ने बृहस्पतिवार को उन्हें एक सप्ताह के लिए अंतरिम अग्रिम जमानत दे दी, पर उनके अग्रिम जमानत आवेदन पर आदेश सुरक्षित रख लिया. उच्च न्यायालय ने सुल्ताना को राजद्रोह के मामले में पूछताछ के लिए 20 जून को पेश होने के लिए कवारत्ती पुलिस द्वारा जारी किए गए नोटिस का अनुपालन करने का निर्देश दिया था. गौरतलब है कि आयशा पर आरोप है कि 7 जून को एक मलयालम खबरिया चैनल पर बहस के दौरान उन्होंने कहा था कि केंद्र ने लक्षद्वीप के लोगों के विरुद्ध ‘जैविक हथियार’ का इस्तेमाल किया है.

ये भी पढ़ें- फरहान अख्तर ने मिल्खा सिंह को दिया आखिरी सलाम, ये इमोशनल पोस्ट नम कर देगा आंखें

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़