भूमि पेडनेकर को सता रही है इस बात की चिंता, समझाई ये जरूरी बात

भूमि पेडनेकर ने अपने किरदारों से हमेशा ही दर्शकों का दिल जीता है. अब उन्होंने एक अहम मुद्दे पर बात की है, जिसके बारे में सोचने के लिए उन्होंने किसी को जोर दिया है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 28, 2021, 02:44 PM IST
  • भूमि पेडनेकर ने अपनी फिल्मों से हमेशा दिल जीता है
  • अब भूमि ने प्रकृति को लेकर अहम बात की है.
भूमि पेडनेकर को सता रही है इस बात की चिंता, समझाई ये जरूरी बात

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमि पेडनेकर (Bhumi Pednekar) अपनी फिल्मों के अलावा सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं. वह हमेशा ही फैंस के साथ पोस्ट शेयर करती रहती हैं. वहीं, भूमि अक्सर पर्यावरण को लेकर भी चिंता व्यक्त करती नजर आती हैं. अब भूमि ने बुधवार को विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस पर साझा किया कि उन्होंने ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने के नए तरीके खोजने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग एक उपकरण के रूप में युवाओं को संरक्षण के प्रति जागरूक करने की कोशिश की है.

मौसम को लेकर परेशान हैं भूमि

भूमि ने कहा, "कोविड पर सभी ध्यान केंद्रित करने और दुनिया को फिर से शुरू करने के साथ, हमें यह महसूस करना होगा कि जैसा हम बोलते हैं जलवायु परिवर्तन हो रहा है. हां, पूरा ध्यान कोरोना वायरस महामारी पर गया है, जैसा कि होना चाहिए था, लेकिन मैं उम्मीद कर रही हूं कि जलवायु परिवर्तन का ज्वलंत मुद्दा सरकारों के सामने पीछे नहीं रहे." भूमि दुनिया भर में लोगों को प्रभावित कर रहे चरम मौसम की स्थिति के बारे में बहुत चिंतित हैं.

कोरोना वायरस ने दिया समय

32 वर्षीय अभिनेत्री ने कहा, "महामारी ने हमें पुनर्गणना करने, खुद को और पर्यावरण के प्रति अपने दृष्टिकोण को रीसेट करने का समय दिया है. हमें हर समय हमारे आसपास क्या हो रहा है, इस पर ध्यान देना चाहिए. भले ही प्रकृति को कुछ समय मिला हो लेकिन आने वाला खतरा अभी टला नहीं है. हम अभी भी जंगल की आग, अचानक बाढ़, पोलर कैप्स हमारे चारों ओर पिघलते हुए दिख रहे हैं.

जलवायु परिवर्तन को गंभीरता से लेने की जरूरत

उन्होंने जोर देकर कहा कि जलवायु परिवर्तन को गंभीरता से लेने की जरूरत है. भूमि का कहना है, "हमने इसे भारी नतीजों के स्तर तक तेज कर दिया है और कोई रोक नहीं लगाई है. अचानक बाढ़, सूखा, जंगल की आग, बीमारी का प्रकोप, बड़े पैमाने पर विलुप्त होने- हमने यह सब देखा है. इस वैश्विक संकट के प्रति हमारे बुनियादी व्यवहार को बदलने की जरूरत है."

भूमि अकेले बढ़ा रही हैं जागरूकता

अभिनेत्री अकेले भारत में जलवायु परिवर्तन के गंभीर प्रभाव के बारे में जागरूकता बढ़ाने की कोशिश कर रही है. भूमि ने कहा, "हमें ग्रह संरक्षण और भविष्य में इसके प्रभाव के बारे में सिखाया गया था, लेकिन हमारे लिए भविष्य लगभग 400 साल बाद महसूस हुआ, लेकिन यह सच नहीं है, यह अभी है. प्रभावी और टिकाऊ संसाधन निश्चित रूप से होंगे हमारे लिए गेम चेंजर होंगे."

ज्यादा लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रही हैं भूमि

अभिनेत्री ने आगे कहा, "एक जागरूक भारतीय नागरिक के रूप में मैंने सोशल मीडिया को एक उपकरण के रूप में उपयोग करने की कोशिश की है जिससे मैं ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच सकूं और युवाओं तक जलवायु संरक्षण के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए नए तरीके ढूंढ सकूं. हम सभी को जलवायु योद्धा बनने की आवश्यकता होगी और हम जो कर सकते हैं वह लगातार करें."

भूमि ने कहा कि अपनी पहल, क्लाइमेट वॉरियर के माध्यम से, वह जीनियस माइंड्स से मिलीं, जो अपने निजी स्तर पर बदलाव लाने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा, और यही कुंजी है. हमें वास्तव में आगे आने और विश्व नेताओं, नीति निर्माताओं को कार्रवाई करने के लिए बोलने की जरूरत है."

इन फिल्मों को लेकर चर्चा में हैं भूमि

भूमि पेडनेकर के वर्क फ्रंट की बात करें तो जल्द ही उन्हें 'बधाई दो' और 'रक्षा बंधन' में देखा जाने वाला है. फैंस उन्हें एक बार फिर से पर्दे पर देखने के लिए बेहद उत्साहित हैं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़