इस देश के 'नेशनल एंथम' से अनु मलिक ने चुराई धुन, सालों बाद टोक्यो ओलंपिक में हुआ खुलासा

म्यूजिक कंपोजर और सिंगर अनु मलिक (Anu Malik) पर कई बार धुन या म्यूजिक चुराने का आरोप लग चुका है. एक बार फिर अनु सोशल मीडिया पर गाने के धून को चुराए जाने को लेकर ट्रोल किए जा रहे हैं.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Aug 2, 2021, 10:50 AM IST
  • अनु मलिक ने सालों पहले चुराया था धुन
  • टोक्यो ओलंपिक में हुआ इस बात का खुलासा
इस देश के 'नेशनल एंथम' से अनु मलिक ने चुराई धुन, सालों बाद टोक्यो ओलंपिक में हुआ खुलासा

नई दिल्ली: बॉलीवुड के मशहूर म्यूजिक कंपोजर और सिंगर अनु मलिक (Anu Malik) पर कई बार धुन या म्यूजिक चुराने का आरोप लग चुका है. एक बार फिर अनु सोशल मीडिया पर गाने के धुन को चुराए जाने को लेकर ट्रोल किए जा रहे हैं.

दरअसल वह  (Anu Malik got trolled) अपने किसी नए गाने की वजह से नहीं बल्कि सालों पहले रिलीज किए गए फिल्म दिलजले का सॉन्ग मेरा मुल्क मेरा देश को लेकर यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं. फिल्म के इस गाने को लोगों ने काफी पसंद किया और आज भी सॉन्ग को लोग देशभक्ति से जोड़कर सुनना पसंद करते हैं. इसके बावजूद अनु मलिक ट्रोल हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें-जाह्नवी कपूर ने किया शादी की प्लानिंग का खुलासा, इस जगह पर लेंगी सात फेरे.

बता दें कि जैसे ही ओलंपिक में इजराइल के खिलाड़ी डोल्गोपयात को जिमनास्ट के लिए गोल्ड मेडल मिला उसके थोड़ी देर बाद ही अनु मलिक को ट्रोल किया जाना शुरू हो गया. दरअसल ओलंपिक में जिस भी खिलाड़ी को मेडल मिलता है, उसके देश के सम्मान में उनके देश का नेशनल एंथम बजाया जाता है. ठीक उसी तरह इजराइल के खिलाड़ी के जीतने के बाद वहां का नेशनल एंथम बजाया गया.

ये भी पढ़ें-दोस्त की मेहंदी में पहुंची रिया चक्रवर्ती, फोटो देख नजरें हटा पाना मुश्किल.

इस एंथम को सुनते ही भारतीयों को कुछ मिलता-जुलता गाना याद आ गया. यह गाना मेरा मुल्क मेरा देश है जिसकी धुन बिलकुल इजराइल के नेशनल एंथम से मिलती-जुलती है. बस फिर क्या था सोशल मीडिया पर यूजर्स तरह-तरह के कमेंट कर अनु मलिक को चोर बता रहे हैं. वहीं कुछ ने उन्हें बहुत पुराना चोर बताया.

अब देखना दिलचस्प होगा कि इस पर अनु मलिक कोई सफाई देते हैं या नहीं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़