टीवी का वह छोटा कृष्ण, जिसे लोग भगवान का बालरूप ही समझने लगे थे

1993 में रामानंद सागर ने स्वप्निल जोशी को अपने सीरियल 'कृष्णा' में श्रीकृष्ण का किरदार निभाने का मौक़ा दिया. स्वप्निल जोशी की मासूमियत लोगों को ख़ूब भाई और लोगों ने उन्हें कृष्ण के रूप में ख़ूब प्यार दिया. सीरियल के ज़रिये स्वप्निल जोशी घर-घर बेहद जाने-पहचाने हो गए थे

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Apr 25, 2020, 06:07 PM IST
    • कृष्ण के किरदार में मशहूर हुए स्वप्निल जोशी का जन्म 18 अक्टूबर 1977 में हुआ था
    • 1993 में रामानंद सागर ने उन्हें अपने सीरियल 'कृष्णा' में श्रीकृष्ण का किरदार निभाने का मौक़ा दिया
टीवी का वह छोटा कृष्ण, जिसे लोग भगवान का बालरूप ही समझने लगे थे

नई दिल्लीः लॉकडाउन के दौर में रामायण-महाभारत सीरियल ने लोगों का मन लगा रखा है, लोग इन सीरियल को देख रहे हैं और पुराने दौर को याद कर रहे हैं. इसी के साथ याद आ रहे हैं वह सभी एक्टर्स जिन्होंने इन धारावाहिकों से अपनी पहचान बनाई थी और लंबे समय तक के लिए लोगों की याद में बस गए थे. इसी कड़ी में आज बात कर रहे हैं अभिनेता स्वप्निल जोशी की. 

स्वप्निल जोशी बने थे छोटे कृष्णा
यह पहली बार था कि जब वह कैमरे के सामने पहुंचे थे. टीवी सीरियल लव-कुश में कुश का किरदार निभाकर उन्होंने सागर आर्ट पर अपनी छाप छोड़ी थी. फिर जब श्री कृष्णा बनाने का ऐलान हुआ तब किशोर श्रीकृष्ण की भूमिका के लिए उन्हें चुन लिया गया.

इससे पहले नीतिश भरद्वाज महाभारत में श्रीकृष्ण का अभिनय कर चुके थे, लेकिन उसमें बाल स्वरूप बहुत दिनों तक नहीं था, इसलिए स्वप्निल जोशी को किशोर कृष्ण के तौर पर अपनी छवि बनाने में कोई दिक्कत नहीं आई और वे साक्षात गोपियों के चहेते कृष्ण जैसे लगे थे. 

1993 में प्रसारित हुआ था श्रीकृष्णा
1993 में रामानंद सागर ने उन्हें अपने सीरियल 'कृष्णा' में श्रीकृष्ण का किरदार निभाने का मौक़ा दिया. स्वप्निल जोशी की मासूमियत लोगों को ख़ूब भाई और लोगों ने उन्हें कृष्ण के रूप में ख़ूब प्यार दिया. सीरियल के ज़रिये स्वप्निल जोशी घर-घर बेहद जाने-पहचाने हो गए थे. लोग अरुण गोविल की तरह उन्हें भी श्रीकृष्ण का बाल रूप ही समझते थे. उन्होंने दर्शकों पर ऐसी छाप छोड़ी कि लोग आज भी उन्हें कृष्ण के रूप में ही पहचानते हैं.

नजर आए कई टीवी सीरियल में 
इसके बाद जैसे-जैसे समय बीतता गया, स्वप्निल टीवी सीरियल में छाते चले गए. उन्होंने आगे कई कॉमेडी शो भी किए, पर पहचान उन्हें रामानंद सागर के धारावाहिक से ही मिली. 'कृष्णा' के बाद उन्होंने टीवी सीरियल, कॉमेडी शोज़ और फ़िल्में भी कीं. 

उन्होंने 'दिल विल प्यार व्यार', 'हद कर दी', 'भाभी', 'देश में निकला होगा चांद' और 'हरे कांच की चूड़ियां' जैसे सीरियल में काम किया है.  स्वप्निल मराठी इंडस्ट्री में भी बड़े चहेते हैं. 

अक्षय तृतीया कल, जानें इस तिथि का महत्व और लाभ

लोग मानने लगे थे भगवान
कृष्ण के किरदार में मशहूर हुए स्वप्निल जोशी का जन्म 18 अक्टूबर 1977 में हुआ था. उन्होंने एक दिलचस्प वाकया बताया कि उन दिनों वह कॉलेज में थे. एक शख्श आकर पैरों में गिर गया और रोने लगा. मेरे लिए यह थोड़ा अजीब था. उसने कहा कि वह चेन स्मोकर था, लेकिन अब जब भी सिगरेट पीता है तो आपका चेहरा सामने आ जाता है. इसलिए उसने सिगरेट छोड़ दी थी. उस समय ऐसे कई वाकये पेश आते थे. 

जानिए कैसे बदल गया सर्वदमन का जीवन,अब कहां रहते हैं रामानंद सागर के 'श्री कृष्ण'

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़