close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुजरात में बारिश का तांडव, घरों के अंदर पानी का कब्जा

गुजरात के ऐसे हालात के चलते कई जिले में रह रहे लोगों का जीना मुहाल हो गया है. दुकानों के अंदर ढेर सारा पानी इकट्ठा हो गया है. प्रदेश डूबा-डूबा सा दिखाई देने लगा है.

गुजरात में बारिश का तांडव, घरों के अंदर पानी का कब्जा

नई दिल्ली: गुजरात में इन दिनों 'जलासुर' नाम की आपदा ने अपने पांव पसार रखा है. सूबे के कई शहर नदियां बह रही हैं, गलियों में सैलाब फूट पड़ा है. इतना ही नहीं घरों के अंदर पानी ने अपना कब्जा जमा लिया है. दुकानों के अंदर ढेर सारा पानी इकट्ठा हो गया है. और पूरा गुजरात डूबा-डूबा सा दिखाई देने लगा है.

प्रदेश के ऐसे हालात के चलते वहां रह रहे लोगों का जीना मुहाल हो गया है. लबालब पानी से भरा गुजरात इस वक्त चारों तरफ पानी से घिर चुका है. कहीं बारिश से लोग परेशान है, तो कहीं लोगों को गर्मी से राहत मिली है.

बनासकांठा में 'जल-जंजाल' का कहर

बनासकांठा जिले के पालनपुर की हालत अब 'पानीपुर' जैसी होती जा रही है. रविवार को बनासकांठा में हुई मूसलाधार बारिश के बाद जगह-जगह जलजमाव हो गया और जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. लगातार बारिश के चलते सड़कों पर इस कदर पानी जमा हो गया कि गाड़ियों की आवाजाही में भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. कई इलाकों में सड़क पर ही गाड़ियां बंद हो गईं. सबसे ज्यादा मुश्किलें निचले इलाकों में हुई जहां के घरों के अंदर भी पानी भर गया. पानी की सही से निकासी नहीं होने से लोगों को दिक्कतों से दो-चार होना पड़ा.

वडोदरा में फिर बारिश ने दी दस्तक

गुजरात के वडोदरा में एक बार फिर से बारिश ने दस्तक दे दी है. पिछले कुछ दिनों से यहां मौसम साफ हो गया था लेकिन रविवार को एक बार फिर मूसलाधार बारिश शुरू हो गई. बारिश की वजह से डांडिया-गरबा के आयोजक परेशान हो रहे हैं. दरअसल, इनकी चिंता इसलिए बढ़ गई है क्योंकि मौसम विभाग ने नवरात्रि के शुरुआती तीन दिनों तक बारिश होने का अनुमान जताया है. गुजरात में नवरात्रि पर गरबा का भव्य आयोजन होता है ऐसे में बारिश से इसमें खलल पड़ने का डर सताने लगा है.

राजकोट में मौसम ने ली करवट

गुजरात के राजकोट में भी मौसम ने करवट ले ली और रविवार को झमाझम बारिश होने लगी.राजकोट के धोराजी इलाके में मूसलाधार बारिश से गर्म मौसम में नर्मी आ गई और पारा भी नीचे लुढक गया. बारिश होने से मौसम ठंडा हुआ है और लोगों ने प्रचंड गर्मी से राहत की सांस ली है.

मेहसाणा में गर्मी से मिली राहत

गुजरात के मेहसाणा के भी कई इलाकों में बारिश हुई है. पिछले कुछ दिनों से मेहसाणा गर्मी से झुलस रहा था लेकिन यहां हुई मूसलाधार बारिश के बाद तापमान में गिरावट दर्ज हुई है और लोगों ने राहत की सांस ली है. मेहसाणा के खेरालु में बारिश से किसानों में खुशी की लहर दौड़ गई है.

अमरेली में तूफान का अलर्ट

मौसम विभाग ने गुजरात में अभी और बारिश होने का अनुमान जताया है. तूफान के अलर्ट को देखते हुए मछुआरों को समंदर से वापस लौटने को कहा गया है. अलर्ट के बाद मछुआरे बोट समेत किनारे आ गए. अमरेली के जाफराबाद पोर्ट में करीब 700 बोट एक साथ जमा हो गईं. मछुआरों को मौसम सही होने तक समंदर में जाने से बचने को कहा गया है.

आंकड़ों के हिसाब से देखें तो गुजरात में कई जगहों पर दो से ढाई इंच तक बारिश हुई है.

  • राजकोट के गोंडल में ढाई इंच बारिश दर्ज की गई
  • मेहसाणा के उंझा में दो इंच तक बारिश हुई
  • दाहोद के झालोद और संजली में भी दो इंच बारिश हुई
  • कच्छ के मुंद्रा में एक इंच से ज्यादा बारिश आंकी गई 

इसी तरह सुरेंद्रनगर में भी जबर्दस्त बारिश हुई है. बनासकांठा में भी भारी बारिश देखने को मिली. जामनगर को भी इस बारिश ने तरबतर कर दिया. सितंबर के महीने में अमूमन बारिश की विदाई हो जाती है लेकिन लगता है कि गुजरात को अभी मूसलाधार बारिश से मुक्ति मिलने वाली नहीं है.