close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की धमकी, आगरा में 'हाई अलर्ट'

आगरा ही नहीं बल्कि देश के दूसरे बड़े शहरों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. खुफिया एजेंसियों को शक है कि जम्मू-कश्मीर पर सरकार के रुख से तिलमिलाए आतंकवादी किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम दे सकते हैं.

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की धमकी, आगरा में 'हाई अलर्ट'

नई दिल्ली: आगरा में हर साल देश-विदेश से लाखों पर्यटक ताज महल का दीदार करने आते है. आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद की धमकी के बाद आगरा में सुरक्षा बंदोबस्त चाक चौबंद कर दिए गए है. और चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है.

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की धमकी के बाद पूरे देश में ही अलर्ट है. कश्मीर से लेकर गुजरात और पंजाब से लेकर उत्तर प्रदेश तक पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां चौबीस घंटे मुस्तैद है. कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने से बौखलाए आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने यूपी के लखनऊ और आगरा समेत देश के 30 बड़े शहरों में आतकी हमले की धमकी दी है. जैश की इस धमकी के बाद पर्यटन के केंद्र आगरा में सुरक्षा बंदोबस्त कड़े कर दिए गए है.

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की इस धमकी के बाद रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. आरपीएफ और जीआरपी अलर्ट मोड पर है. आगरा के ईदगाह रेलवे स्टेशन पर ट्रेन, प्लेटफार्म और रेलवे ट्रैक पर जीआरपी ने सघन चेकिंग अभियान चलाया. यात्रियों के साथ-साथ प्लेटफार्म पर पूरी टीम के साथ चेकिंग की गई. साथ ही ट्रेन की बोगियों की भी सघन तलाशी की गई. स्टेशन पर मौजूद यात्रियों की तलाशी से लेकर सामान तक चैक किया गया. आरपीएफ और जीआरपी कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है.

जैश-ए-मोहम्मद का धमकी भरा पत्र

आगरा ही नहीं बल्कि देश के दूसरे बड़े शहरों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. खुफिया एजेंसियों को शक है कि जम्मू-कश्मीर पर सरकार के रुख से तिलमिलाए आतंकवादी किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम दे सकते हैं. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने जम्मू, पठानकोट, अमृतसर, जयपुर गांधीनगर, कानपुर, लखनऊ और आगरा में हमले की धमकी दी है. जैश-ए-मोहम्मद का धमकी भरा पत्र ब्यूरो आफ सिविल एविएशन लखनऊ को मिला. इस धमकी भरे पत्र में चार हवाई अड्डों पर भी आतंकी हमले की धमकी दी गई है.

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के नाम से ये धमकी भरा पत्र किसने भेजा है ये तो जांच के बाद भी पता चलेगा. लेकिन फिलहाल सुरक्षा एजेंसियां कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है. इसीलिए बड़े शहरों में रेलवे स्टेशन से लेकर बाजारों तक सुरक्षा बढ़ा दी गई है. जिससे आतंकियों के नापाक मसूबों को धराशायी किया जा सके.