100 करोड़ टीके से देश में जश्न, पर विपक्षी नेताओं ने वैक्सीन पर हर दिन उठाए सवाल

मोदी सरकार ने 100 करोड़ कोरोना टीके का लक्ष्य पूरा कर देश को जश्न मनाने का मौका दिया है लेकिन विपक्ष की भूमिका सवालों के घेरे में है. जब से देश में टीकाकरण शुरू हुआ है, तब से अब तक विपक्ष सिर्फ इस अभियान के खिलाफ जहर उगल रहा है.

Written by - Shivam Pratap | Last Updated : Oct 21, 2021, 04:23 PM IST
  • अखिलेश ने कहा था ' हम बीजेपी का वैक्सीन नहीं लगवा सकते'
    राहुल ने ट्वीट से सरकार को टारगेट करने में कोई कसर नहीं छोड़ी
100 करोड़ टीके से देश में जश्न, पर विपक्षी नेताओं ने वैक्सीन पर हर दिन उठाए सवाल

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने 100 करोड़ कोरोना टीके का लक्ष्य पूरा कर देश को जश्न मनाने का मौका दिया है लेकिन विपक्ष की भूमिका सवालों के घेरे में है. जब से देश में टीकाकरण शुरू हुआ है, तब से अब तक विपक्ष सिर्फ इस अभियान के खिलाफ जहर उगल रहा है. वह कभी वैक्सीन पर सवाल उठाता है तो कभी सरकार से पूछता है कि मेरे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी. आइये जानते कि कैसे देश ने 100 करोड़ टीके का लक्ष्य पूरा किया और उस बीच विपक्ष के नेता किस तरह के अटपटे बयान दे रहे थे.

राहुल गांधी ट्वीट से सरकार को टारगेट करते रह गए

कांग्रेस नेता राहुल गांधी शुरुआत से ही वैक्सिन को लेकर सरकार पर हमलावार रहे हैं. सबसे पहले 23 नवंबर को राहुल गांधी ने वैक्सीन पर शंका करते हुए पीएम मोदी से 4 सवाल पूछे थे.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी यही नहीं रुके और 23 दिसंबर को राहुल गांधी ने एक बार फिर से सरकार पर हमला करते हुए कहा कि दुनिया की 23 लाख जनता को कोविड वैक्‍सीन का डोज मिल चुका है. भारत का नंबर कब आएगा, मोदी जी? 

16 मई को राहुल गांधी ने PM को चुनौती देते हुए कहा कि - मोदी जी, बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दी? 

अखिलेश यादव ने तो इसे भाजपा की वैक्सीन बता दिया

2 जनवरी 2021 को अखिलेश ने कहा कि 'मैं तो नहीं लगवाऊंगा अभी वैक्सीन, मैंने अपनी बात कह दी. अखिलेश ने कहा था कि वैक्सीन बीजेपी लगाएगी तो उसका वो भरोसा नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि अपनी सरकार आएगी तो सबको फ्री वैक्सीन लगेगी. हम बीजेपी का वैक्सीन नहीं लगवा सकते.'

ममता बनर्जी ने वैक्सीन की क्षमता पर लगाया प्रश्न चिह्न

11 जनवरी 2021 को ममता बनर्जी ने सवाल किया कि क्या केंद्र द्वारा दोनों टीकों (कोविशील्ड और कोवैक्सिन) को लेकर वैज्ञानिकों से पर्याप्त राय ली गई है. क्या पर्याप्त संख्या में टीकाकरण से पहले दोनों टीकों का ट्रॉयल किया गया. वैक्सीनेशन से पहले पुख्ता अध्ययन की जरूरत है. 

अरविंद केजरीवाल ने पूछा वैक्सीन विदेश क्यों भेजी
16 मई को आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि वैक्सीन विदेश क्यों भेजी जा रही है. जबकी हमारे देशवासियों को वैक्सिन नहीं मिल रही है.

ओवैसी ने मोदी सरकार को झूठा कहा

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार से सीधे पूछा कि देश में वैक्‍सीन का प्रोडक्‍शन है 8 करोड़, आपको जुलाई में 30 करोड़ देना है, आप कहां से लाएंगे? क्‍या मोदी जी जादूगर. 'ये झूठ इसलिए बोल रहे हैं क्‍योंकि मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया है कि हम जनवरी तक 75 करोड़ वैक्‍सीन की व्‍यवस्‍था करेंगे. 

इन नेताओं ने भी किया विरोध
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश, राजद सांसद मनोज झा, लोकसभा में कांग्रेस के उप नेता गौरव गोगोई और राजद के तेजप्रताप यादव ने भी वैक्सीन और इसके अभियान को निशाना बनाया था.

क्रमबद्ध टीकाकरण का अभियान

- भारत में 16 जनवरी को वैक्सीनेशन शुरू हुआ था. उस वक्त स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वॉरियर्स को वैक्सीन दी गई. 
-  इसके बाद 1 मार्च से वैक्सीन का दूसरा चरण शुरू हुआ. इसमें 60 साल से ज्यादा उम्र वाले और किसी न किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन दी गई. 
-  1 अप्रैल से देश में 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन दी जाने लगी. 
-  भारत में 1 मई को 18 साल से ऊपर के सभी लोगों वैक्सीन देने का ऐलान किया गया. हालांकि, शुरुआती तौर पर इसे देश के सबसे संक्रमित शहरों से शुरू किया गया था.
- मौजूदा समय में देश के 63,467 सेंटर्स पर वैक्सीन लग रही हैं. इनमें 61,270 सरकारी और 2,197 प्राइवेट सेंटर्स हैं.

कितनों को लगी एक डोज और कितनों को दो डोज
कोरोना टीकाकरण के इतिहास बनने के साथ-साथ नया आंकड़ा भी सामने आया है. इसके मुताबिक, भारत की 18+ आबादी का 74.9 फीसदी कम से कम एक डोज ले चुका है और 18+ आबादी का 30.9% पूरी तरह वैक्सीनेटेड हो चुका है. 

पांच महीनों में टीकाकरण ने पकड़ी रफ्तार

पिछले पांच महीनों में कोरोना टीकाकरण अभियान ने काफी बेहतर प्रदर्शन किया. सितंबर सबसे अच्छा महीना रहा, जिसमें लगभग 80 लाख डोज हर दिन लगाई गई. 

टीकाकरण के मामले में टॉप 5 राज्य

उत्तर प्रदेश -  12,21,40,914
महाराष्ट्र - 9,32,00,708
पश्चिम बंगाल - 6,85,12,932
गुजरात - 6,76,67,900
मध्य प्रदेश - 6,72,24,286

और पढ़ें- Drug Case: अनन्या पांडे के घर NCB की रेड, जारी हुआ समन

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़