UP में 31 जनवरी तक लागू रहेगी 144, प्रदेश के 27 जिलों में इंटरनेट बंद

CAA और NRC पर जारी हिंसक प्रदर्शन पर सरकार गंभीर है. उत्तर प्रदेश में 31 जनवरी तक धारा 144 लगी रहेगी.  लखनऊ समेत यूपी के 15 जिलों में इंटरनेट पर रोक की मियाब सोमवार दोपहर 12 बजे तक के लिए बढ़ा दी गई है.

 UP में 31 जनवरी तक लागू रहेगी 144, प्रदेश के 27 जिलों में इंटरनेट बंद

लखनऊ: शुक्रवार को यूपी के 20 जिलों में उग्र विरोध प्रदर्शन हुए। इस दौरान 7 शहरों में 14 लोगों की मौत हो गई थी. हिंसाग्रस्त व संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है. पूरे प्रदेश में 31 जनवरी 2020 तक धारा 144 लागू कर दी गई है. पुलिस हिंसाग्रस्त इलाकों में गश्त कर लोगों से शांति की अपील कर रही है.

पॉलीटेक्निक, टीईटी की परीक्षा स्थगित, सभी स्कूलों में छुट्टी

यूपी में उग्र हिंसा के चलते शनिवार को प्रस्तावित पॉलीटेक्निक की विशेष बैक परीक्षा भी स्थगित कर दी गयी है. प्रविधिक शिक्षा परिषद के सचिव संजीव सिंह ने बताया कि जल्द ही इसकी तिथि जारी कर सूचित कर दिया जाएगा. इससे पहले शुक्रवार की भी परीक्षा स्थगित कर दी गई थी. वहीं, स्कूल कॉलेजों में भी छुट्टी है। यूपी टीईटी परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई है.

15 जिलों में इंटरनेट पर रोक लगी रहेगी

आपको बता दें कि  लखनऊ समेत 15 जिलों में सोमवार को 12 बजे तक इंटरनेट और एसएमएस सेवाएं बंद रहेंगी। मोबाइल ऑपरेटर्स को गृहमंत्रालय द्वारा आदेश भेजे गए हैं. इन जिलों में लखनऊ, सहारनपुर, मेरठ, शामली, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, बरेली, मऊ, संभल, आजमगढ़, आगरा, कानपुर, उन्नाव, मुरादाबाद, प्रयागराज शामिल हैं. अन्य जिलों में भी इंटरनेट सेवाओं को बंद रखने का फैसला वहां के डीएम पर छोड़ा गया है.

रासुका लगाने की तैयारी में योगी सरकार

यूपी सरकार ने हिंसा के दौरान संपत्ति को हुए नुकसान के आकलन के लिए चार सदस्यीय कमिटी बनाई है. लखनऊ में हुई हिंसा में शामिल 250 उपद्रवियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाने की तैयारी है. 13 हजार से ज्यादा संदिग्ध सोशल मीडिया अकाउंट की पहचान की गई है. मुजफ्फरनगर में प्रशासन ने कथित उपद्रवियों से जुड़ी 50 दुकानों को सील कर दिया है.

अब तक 450 से अधिक गिरफ्तारी

पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि प्रयागराज में 150, गाजियाबाद में 65, बहराइच में 38, बाराबंकी में तीन, हापुड़ में 9 और कुल 450 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यूपी डीजीपी ने दावा किया है कि पुलिस की तरफ से कोई गोली नहीं चलाई गई है. उन्होंने कहा, 'अब तक जिन लोगों की मौत हुई है, वे क्रॉस फायरिंग में मारे गए हैं. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में स्थिति साफ हो जाएगी. 

ये भी पढ़ें- दंगाइयों पर योगी सरकार सख्त, रासुका लगाने की तैयारी