• 191 यात्रियों के साथ दुबई से करिपुर के लिए एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, फायर टेंडर और एंबुलेंस मौके पर
  • केरल: कोझीकोड के करिपुर हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान रनवे से फिसल गया
  • कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 6,07,384 और अबतक कुल केस- 20,27,075: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 13,78,106 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 41,585 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 67.62% से बेहतर होकर 67.98% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 49,769 मरीज ठीक हुए

पंजाब में जहरीली शराब पीने से 26 की मौत, अमरिंदर सरकार ने शुरू की जांच

पंजाब में जहरीली शराब पीने की वजह से 26 लोगो की जान चली गयी.  इतनी बड़ी मात्रा में मौत केवल पंजाब के तीन जिलों में हुई हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उच्च स्तरीय जांच शुरू करने का आदेश दिया है.  

पंजाब में जहरीली शराब पीने से 26 की मौत, अमरिंदर सरकार ने शुरू की जांच

चंडीगढ़: पूरे देश में कोरोना महामारी से लोग जूझ रहे हैं. इस बीच पंजाब से दर्दनाक खबर सामने आई है. अमृतसर, बटाला और तरनतारन जिले में जहरीली शराब पीने की वजह से 26 लोगों की मौत हो गयी. इतनी बड़ी मात्रा में जनहानि होने से पंजाब के मुख्यमंत्री पुलिस पर नाराज हैं और उन्होंने तत्काल कार्रवाई की है. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने SIT का गठन कर दिया है लेकिन फिर भी उनकी सरकार को  इस घटना ने कटघरे में खड़ा कर दिया है.

तीन जिलों में हुई इतने लोगों की मृत्यु

गौरतलब है कि पंजाब के 3 शहरों में 26 लोगों की मौत हो गई है जिसमें अमृतसर और तरनतारन में 10-10 जबकि बटाला में 6 लोग शामिल हैं. इसके साथ ही थाना तरसिक्क के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया है.

क्लिक करें-पाकिस्तान की अदालत में अमेरिकी नागरिक की हत्या, ट्रंप प्रशासन ने लगाई कड़ी फटकार

विशेष जांच दल का सरकार ने किया गठन

26 लोगों की मौत के मामले की विस्तृत और निष्पक्ष जांच के लिए  एसआईटी बनाई गई है जो सारे मामले की जांच करेगी. अवैध शराब और नशाखोरी को मुद्दा बनाकर चुनाव में जीत हासिल करने वाली कांग्रेस को अब विपक्ष के चुभते सवालों का सामना करना पड़ रहा है. कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार के सभी दावे झूठ साबित हुए हैं. इस दर्दनाक हादसे ने कई लोगों को बेनकाब कर दिया है.

क्लिक करें- सुप्रीम कोर्ट का सरकार से सवाल, 'जब देश खुल रहा है तो धार्मिक स्थल बन्द क्यों?'

29 जून की रात से शुरू हुआ मौतों का सिलसिला

पंजाब के पुलिस महानिदेशक  दिनकर गुप्ता ने  बताया कि पहली पांच मौतें 29 जून की रात को अमृतसर ग्रामीण के थाना तरसिक्क में मुच्छल और तंग्रा से हुई थीं. 30 जुलाई की शाम को मुच्छल में संदिग्ध परिस्थितियों में दो और लोगों की मौत हो गई थी, जबकि एक व्यक्ति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था.