भतीजा बना डिप्टी CM चाचा पर पड़ गया छापा

चौटाला परिवार पर आय से अधिक संपत्ति का मामला 13 साल पुराना है. एक कांग्रेस नेता की ओर से दी गई शिकायत पर ईडी इस मामले की जांच कर रही है. मई में ईडी ने पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के बेटे अजय व अभय की संपत्ति का विवरण मांगा था. जजपा नेता व भतीजे दुष्यंत के डिप्टी सीएम पद पर बैठते ही यह छापेमारी किस बात की ओर इशारा कर रही है? कहीं यह 18 महीने पहले का बदला तो नहीं है.

भतीजा बना डिप्टी CM चाचा पर पड़ गया छापा

नई दिल्लीः राजनीति में यह समय भतीजों से दो फर्लांग दूरी बनाकर चलने का है. क्योंकि अव्वल तो कुर्सी किसी रिश्ते को नहीं जानती. दूसरा यह है कि जिन लड़कों को आप भैया का बेटवा कहकर कंधे पर चढ़ाए घूम रहे थे वह खुद आपके कंधों की ऊंचाई से ऊपर निकल गए हैं. उंगली पकड़ कर नहीं चलते हैं, बल्कि कुर्ते में हाथ डाल देते हैं. तमाम राजनीतिक चाचा-भतीजों का हाल आप जानते हैं. अभी आपको हरियाणा ले चलते हैं. यहां एक चाचा चौटाला हैं, जो इस वक्त सहानुभूति का मलहम मांग रहे हैं. उनके सामने भतीजा चौटाला है तो डिप्टी सीएम की कुर्सी पर बैठा है. इन दोनों के नाम अजय -दुष्यंत है.

क्या हो गया अजय चौटाला को
इतनी भूमिका बांधने की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि चाचा अजय चौटाला के घर पर ईडी ने छापा डाल दिया है. वजह है आय से अधिक संपत्ति का मामला और अफसर अभय चौटाला के सिरसा स्थित तेजाखेड़ा फार्म हाउस पर कागज-पत्तर खंगाल रहे हैं. बुधवार की सुबह 10 बजे से पहुंचे हुए हैं. सीआरपीएफ की टीम भी उनके साथ पहुंची. हालांकि आय से अधिक संपत्ति का यह मामला पिछले 13 सालों से चल रहा है. 

इसी साल मई में चौटाला परिवार की संपत्ति की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के बेटे अजय व अभय की संपत्ति का विवरण मांगा था. राजस्व विभाग से डबवाली और सिरसा ब्लॉक में उनकी प्रॉपर्टी का ब्योरा तत्काल देने को कहा था. 

पिछले साल ही अलग हुए हैं चाचा-भतीजे
अभय चौटाला, पूर्व सीएम रहे ओम प्रकाश चौटाला के नेतृत्व वाली आईएनएलडी में हैं. पिछले साल 2018 में दुष्यंत को पार्टी में वर्चस्व की लड़ाई को लेकर बाहर निकाल दिया गया था. इसके बाद दुष्यंत ने जजपा नाम से नई पार्टी बनाई. युवाओं का समर्थन हासिल किया. इसके बाद जजपा ने विधानसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन किया और किंग मेकर बनकर उभरी.

इसके बाद जजपा-भाजपा ने हाथ मिलाया और हरियाणा में साझा सरकार बन गई. सीएम बने मनोहर लाल और दुष्यंत बन गए डिप्टी सीएम. 

कांग्रेस की ओर से शिकायत दी गई थी
कांग्रेस नेता शमशेर सिंह सुरजेवाला की शिकायत पर हरियाणा के पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला और उनके दोनों बेटे अजय और अभय चौटाला के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज हुआ था. अजय एक मामले में पहले से ही जेल में हैं. अभय चौटाला बाहर हैं. पिछले 13 साल से चल रहे मामले में अब अचानक छापा पड़ना कई तरह के संकेतों की इशारा कर रहा है.

पहले तो इसे एक तरीके से दुष्यंत का बदला माना जा रहा है. तर्क है कि दुष्यंत 18 महीने पहले आईएनएलडी से निकाले गए थे, यह कार्रवाई इसी बदले की ओर इशारा कर रहा है. 

अपने ही परिवार से जूझकर 'जननायक' बने हैं दुष्यंत चौटाला