अयोध्या पर फैसले के बाद सीएम योगी ने मुस्लिम धर्मगुरुओं से की मुलाकात, जानें वजह

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम फैसले के बाद पूरे देश में शांति का माहौल है, इस बीच शिया और सुन्नी धर्मगुरुओं ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और उन्हें बधाई दी.

अयोध्या पर फैसले के बाद सीएम योगी ने मुस्लिम धर्मगुरुओं से की मुलाकात, जानें वजह

नई दिल्ली: अयोध्या पर आने वाले फैसले से पहले कुछ लोगों ने ऐसा माहौल बनाया था कि अयोध्या अशांत हो जाएगी लेकिन अयोध्या में जब से राम मंदिर के पक्ष में फैसला आया है.. अयोध्या पूरी तरह से शांत है. अयोध्या में कही भी आपको किसी प्रकार की घटना देखने को नहीं मिली. हिन्दू मुस्लिम एकता और भाईचारे की तस्वीर अयोध्या ने लगातार पेश की. 

सीएम योगी से गोपनीय मुलाकात

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिया और सुन्नी धर्मगुरुओं के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की. ये मुलाकात करीब एक घंटे तक चली, जिसमें प्रमुख धर्मगुरु मौलाना हमीदुल हसन, मौलाना सलमान हुसैन नदवी, मौलाना फरीदुल हसन, मौलाना यूसुफ हुसैनी के साथ साथ 15 धर्मगुरू मौजूद थे. इस मुलाकात में क्या बातें हुआ हैं इसकी जानकारी अबतक सामने नहीं आई है. कहा जा रहा है कि ये मुलाकात गोपनीय तरीके से हुई. इस दौरान यूपी सरकार रे मंत्री मोहसिन रजा भी मौजूद रहे.

मुख्यमंत्री ने दी बधाई

जानकारी के मुताबिक इस मुलाकात में सभी धर्मगुरुओं ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करके अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और इतने महत्वपूर्ण फैसले को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदेश में लागू होने पर प्रदेश सरकार की क़ानून व्यवस्था पर बधाई दी. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सभी धर्मगुरुओं का शांति की अपील करने और आपसी सौहार्द बनाने में सहयोग देने के लिए बधाई दी.

मुद्दे पर भड़काने वालों के मुंह पर तमाचा

इस मुलाकात के इतर अगर बात करें तो बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी और रामलला के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास समेत बबलू खान और गिरीश दास के अलावा कई साधुओं ने मुलाकात की और इन लोगों ने अयोध्या से भाईचारे का संदेश दिया. इन लोगों की सौहार्दपूर्ण मुलाकात से उन लोगों के मुंह पर करारा तमाचा पड़ता दिखाई दिया जो लोग अयोध्या के मुद्दे पर राजनीति करते हैं और लोगों की भावनाएं भड़काने की नापाक कोशिश करते थे. 

इसे भी पढ़ें: 5 जजों की बेंच, ऐतिहासिक फैसले की 10 बड़ी बातें

अयोध्या जैसे संवेदनशील मुद्दे पर फैसला आने के बाद से देश में गंगा जमुनी संस्कृति का माहौल बरकरार है. आपको बता दें, बीते 9 नवंबर को देश की सर्वोच्च अदालत ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए 491 साल पुराने विवाद को हल कर दिया है. अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन पर राम मंदिर बनाने की अनुमति दी है. जिसके लिए एक ट्रस्ट का गठन करने का भी आदेश दिया गया है. इसके साथ ही अदालत ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या में ही 5 एकड़ जमीन मस्जिद बनाने के लिए देने का भी फैसला सुनाया है. जिसके बाद देश में बिल्कुल शांत माहौल है.

इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से शिया और सुन्नी धर्मगुरुओं ने मुलाकात की है. इस मुलाकात की तस्वीर सामने आई. हालांकि मुलाकात में क्या बातें हुईं, इसका आधिकारिक तौर पर खुलासा नहीं किया गया है.