जिसमें रखा गया था अफजल, तिहाड़ की उसी जेल -3 में शिफ्ट किए गए निर्भया के दोषी

निर्भया के दोषियों को गुरुवार को तिहाड़ की जेल-3 में शिफ्ट कर दिया गया. इसके लिए तिहाड़ प्रशासन ने चार नई सेल बनवाई हैं. इसी जेल-3 में फांसी घर भी है. फांसी की तारीख पास आते-आते चारों के व्यवहार पर भी नजर रखी जा रही है. 

जिसमें रखा गया था अफजल, तिहाड़ की उसी जेल -3 में शिफ्ट किए गए निर्भया के दोषी

नई दिल्लीः निर्भया मामले में फांसी की तारीख नजदीक आने के साथ ही तिहाड़ में तैयारियों का दौर जारी है. गुरुवार को सभी दोषियों को जेल-3 में शिफ्ट कर दिया गया है. यहां अलग-अलग सेल बनाए गए हैं. इसी जेल में फांसी घर भी है. पहले अक्षय और मुकेष जेल नंबर 2 में थे, जबकि विनय को जेल-4 में रखा गया था, वहीं इनसे अलग पवन को मंडोली जेल से तिहाड़ की जेल-2 में शिफ्ट किया गया था. अब चारों को एक ही जेल में रखा गया है. 

फांसी की तारीख पास आते-आते चारों के व्यवहार पर भी नजर रखी जा रही है. जेल-3 में शिफ्ट किए जाने के बाद चारों दोषियों का मेडिकल परीक्षण भी कराया जाएगा. इसके बाद इन चारों को 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखा जाएगा. इन सभी का शारीरिक व मानसिक मेडिकल परीक्षण लगातार किया जाता रहेगा. इस बाबत जेल के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि चारों दोषियों को जेल संख्या तीन में ट्रांसफर कर दिया गया है. इसी जेल में इन्हें फांसी दी जानी है. तिहाड़ सूत्रों के जरिए इससे पहले ही खबर आई थी कि जेल प्रशासन इसी हफ्ते दोषियों को शिफ्ट करेगा. 

बनवाए गए हैं चार नए सेल
दोषियो को रखे जाने के लिए जेल में 4 नए सेल बनवाए गए हैं. सेल फांसी के तख्ते के एकदम करीब उसी हाई सिक्योरिटी वॉर्ड में हैं, जहां कभी संसद हमले के दोषी आतंकवादी अफजल को रखा गया था. दरअसल जेल प्रशासन इस पर भी निगरानी रख रहा है कि चारों दोषी खुद को कोई नुकसान न पहुंचा लें, या भागने की कोशिश न करें. क्योंकि सजा की घोषणा के बाद से उन चारों में परिवर्तन आया है. उनका व्यवहार बदल रहा है. वहीं एक दोषी पहले ही आत्महत्या कर चुका है.

निर्भया के दोषियों को फांसी तय, क्यूरेटिव याचिका खारिज

दया याचिका खारिज करने की गृह मंत्रालय से सिफारिश
दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने गुरुवार को ही निर्भया मामले के अभियुक्तों में से एक की दया याचिका खारिज करने की गृह मंत्रालय से सिफारिश की है. इस मामले में चारों दोषियों को मौत की सजा सुनाई गई है. उन चारों अभियुक्तों में से एक मुकेश सिंह ने कुछ दिन पहले दया याचिका दायर की थी. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, गृह मंत्रालय को उपराज्यपाल से दया याचिका मिल गई है, जिसमें उन्होंने इसे नामंजूर करने की सिफारिश की है. याचिका पर गौर किया जा रहा है और जल्दी ही उचित फैसला किया जाएगा.

निर्भया के दोषियों के लिए तिहाड़ में बन रहे हैं नए सेल