• पूरे देश में कोरोना वायरस के कुल सक्रिय मामले अभी तक 4312 हैं, अभी तक 124 लोगों की मृत्यु हुई, 353 लोग इलाज के बाद ठीक हुए
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए अस्पताल और अन्य सुविधाओं को तीन भागों में बांटा.
  • भारतीय रेलवे अपने डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों की सुरक्षा के लिए हर रोज एक हजार पीपीआई किट का निर्माण करेगी
  • कोरोना से निपटने के लिए राहत कार्यों में योगदान देने के लिए पूर्व सैनिकों ने स्वैच्छिक सेवाएं प्रदान की
  • लॉकडाउन के बीच जहाजों का आवागमन होगा, पोत परिवहन मंत्रालय ने सुनिश्चित किया
  • सरकार के दीक्षा ऐप पर कोरोना से जूझने वालों के लिए इंटीग्रेटेड ऑनलाइन गवर्नमेन्ट ट्रेनिंग यानी IGOT कोर्स लाया गया है
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की चपेट में 1,428,428, अब तक कुल 82,020 की मौत हो चुकी है. 3,00,198 मरीज ठीक भी हुए.
  • राज्यों में कुल कोरोना संक्रमण- महाराष्ट्र में 1161, तमिलनाडु में 690, दिल्ली में 606, तंलंगाना में 404, केरल में 336
  • उत्तर प्रदेश में 332 राजस्थान में 343, आंध्र में 324, मध्य प्रदेश में 280, कर्नाटक में 204, गुजरात में 168

आरिफ मोहम्मद का बड़ा बयान, 'अगर CAA में कमी है तो महात्मा गांधी और नेहरू दोषी'

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान शुरू से नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन कर रहे हैं. इस पर कई बार उनको विरोधियों की आलोचना भी झेलनी पड़ी लेकिन वे शुरू से इसके साथ खड़े हैं. ज़ी मीडिया के 'India ka Arth' कार्यक्रम में उन्होंने विस्तार से अपने विचार रखे.

आरिफ मोहम्मद का बड़ा बयान, 'अगर CAA में कमी है तो महात्मा गांधी और नेहरू दोषी'

दिल्ली: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि जो लोग नागरिकता कानून के विरोध में इसमें कमिया देख रहे हैं उन्हें ध्यान रखना चाहिये कि यदि CAA में कमी हो तो इसके लिये गांधी और नेहरू जिम्मेदार हैं. ज़ी मीडिया के 'India ka Arth' कार्यक्रम में बात करते हुए आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि भारत ने सदियों तक विदेशियों के आघात सहे हैं लेकिन भारत को कोई धर्मनिरपेक्षता का उपदेश नहीं दे सकता है.

गांधी जी नहीं चाहते थे पाकिस्तान बने: आरिफ मोहम्मद

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि महात्मा गांधी हमेशा कहते थे कि पाकिस्तान मेरी लाश पर बनेगा. अंत में राष्ट्रीय नेताओं ने पाकिस्तान बनने की मांग स्वीकार कर ली और वहां के लोग एक झटके में भारत से कट गये. आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि गांधी जी पाकिस्तान में रह रहे हिंदुओं को नागरिकता देने के पक्षधर थे. गांधी जी ने उनकों नागरिकता जदेना भारत सरकार का परम कर्तव्य बताया था.

महात्मा गांधी ने किया था वादा

आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि केंद्र सरकार ने CAA के तहत महात्मा गांधी और जवाहर लाल नेहरू के उस वादे को पूरा किया है, जो उन्होंने उन लोगों से किए थे जो पाकिस्तान में दुखद जीवन जी रहे थे. उन्होंने कहा कि इस कानून की बुनियाद साल 1985 और 2003 में रखी गई थी। मोदी सरकार ने केवल इसे कानूनी जामा पहनाया है. उन्होंने कहा कि पारकिस्तान में हिंदुओं के साथ अमानवीय और रूह कंपा देने वाला अत्याचार हुआ है. 

बता दें कि नागरिकता का यह कानून पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए हिंदू, बौद्ध, इसाई समेत 6 गैर-मुस्लिम समुदाय के शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान करता है.

अहिंसा में भी बल प्रयोग मना नहीं- आरिफ

आरिफ मोहम्मद खान ने छात्रों के सवालों के जवाब में कहा कि लड़ाई चाहे जिससे भी लड़ो मगर बैर भाव नहीं रखो. अपनी बात पर कायम रहो. जब आतंकवाद है तो उसका मुकाबला करना ही होगा. अहिंसा में भी बल प्रयोग मना नहीं है. केवल नफरत करना मना है.

ये भी पढ़ें- शाहीन बाग: आरिफ मोहम्मद खान बोले, 'सड़क जाम करके विचार थोपना भी आतंकवाद'

ये भी पढ़ें- CAA: आरिफ मोहम्मद खान ने कांग्रेस और पाकिस्तान को लिया आड़े हाथ