close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कुछ ही देर में देश सुनेगा ऐतिहासिक फैसला, हाई अलर्ट पर उत्तर प्रदेश

 अयोध्या मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए देश भर में सुरक्षा की व्यवस्था की गई है. अयोध्या मामले में फैसला सुनाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार शाम ही नोटिफिकेशन जारी किया था. सुबह 10.30 बजे चीफ जस्टिस गोगोई के नेतृत्व में 5 सदस्यीय बेंच अयोध्या केस पर फैसला सुनाएगी.

कुछ ही देर में देश सुनेगा ऐतिहासिक फैसला, हाई अलर्ट पर उत्तर प्रदेश

लखनऊः देश के सबसे पुराने विवादित मामले में सुप्रीम कोर्ट अब से करीब कुछ ही देर बाद फैसला सुनाने वाली है. मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए देश भर में सुरक्षा की व्यवस्था की गई है. अयोध्या मामले में फैसला सुनाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार शाम ही नोटिफिकेशन जारी किया था. इससे पहले उत्तर प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई है. मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में भी निषेधाज्ञा लगा दी गई है. देश के अन्य संवेदनशील इलाकों में इस ऐतिहासिक निर्णय से पहले सुरक्षा-व्यस्था बनाए रखने लिए जरूरी इंतजाम किए जा रहे हैं.

फैसला कुछ भी हो, आठ-नौ नवंबर की तारीख इतिहास में दर्ज हो जाएंगी

मुंबई समेत देश भर के कई शहर हाई अलर्ट पर हैं. यहां प्रशासन ने सुरक्षा-व्यवस्था बनाने रखने के लिए देर रात से ही निगरानी शुरू कर दी. अयोध्या में भी खासतौर से सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं. फैसले से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने लोगों से शांति की अपील की है. कई धर्मगुरुओं ने भी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. अधिकारियों ने बताया कि सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखी जा रही है. उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर किसी प्रकार की अफवाह या भड़काऊ कंटेंट को रोकने के लिए प्रशासन की कड़ी नजर है. शुक्रवार को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने यूपी से मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी, और डीजीपी ओपी सिंह से सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की थी. सुबह साढ़े 10 बजे चीफ जस्टिस गोगोई के नेतृत्व में 5 सदस्यीय बेंच अयोध्या केस पर फैसला सुनाएगी.

अलीगढ़ में इंटरनेट सेवा रोकी
पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में अगले 24 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है. यहां के डीएम चंद्र भूषण सिंह ने बताया ने जिले में सभी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं शुक्रवार मध्य रात्रि से शनिवार आधी रात तक बंद रहेंगी. डीएम ने जानकारी दी, 'जिले में हर जगह पुलिस बल को तैनात किया जाएगा. आरपीएफ (रैपिड ऐक्शन फोर्स) की एक कंपनी भी यहां लगाई गई है, उनका कहना है कि हमने सरकार से एक और अतिरिक्त कंपनी की मांग की है. हम सभी अलर्ट हैं. मुंबई समेत देश के कई शहरों मेंपुलिस कर्मी रात से नाकों पर तैनात थे और वह वाहनों की जांच करते दिखाई दिए. मुंबई पुलिस के जनसंचार अधिकारी अशोक प्रणय ने बताया, 'हम इस स्थिति पर गंभीरता बनाए हुए हैं. स्थिति पर नियंत्रण रखने के लिए मुंबई पुलिस के 40 हजारों जवानों का इस्तेमाल करेंगे. हमारे पास सुरक्षा-व्यवस्था बल और एसआरपीएफ, आरएएफ के रूप में विशेष बल भी है, जिसे हम अपनी प्लानिंग के आधार पर संवेदनशील इलाकों में तैनात करेंगे. उन्होंने बताया कि शहर पर निगरानी रखने के लिए यहां पहले ही 5000 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं. इनके जरिए भी हम शहर के कोने-कोने पर नजरे बनाए रखेंगे. पुलिस ड्रोन की मदद से भी निगरानी रखेगी. 

उत्तर-प्रदेश में स्कूल-कॉलेज बंद, धारा 144 लागू
यूपी सरकार ने अयोध्या फैसले के मद्देनजर पूरे राज्य में स्कूल-कॉलेज 11 नवंबर तक बंद रखने के आदेश दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार रात करीब 9 बजे अपनी वेबसाइट पर यह अधिसूचना जारी की कि चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय बेंच शनिवार को 'राम मंदिर-बाबरी मस्जिद' जमीन विवाद पर सुबह 10ः30 बजे अपना फैसला सुनाएगी. शनिवार को सुप्रीम कोर्ट में छुट्टी का दिन होता है लेकिन यह ऐतिहासिक फैसला बेंच शनिवार को ही सुनाएगी. 

अयोध्या में भी कई स्तर पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और इस समय अयोध्या का पूरा इलाका एक किले में तब्दील है, जहां भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं. अयोध्य में पीएसी और अर्धसैनिक बलों की 60 कंपनियां (प्रत्येक कंपनी में 90-125 जवान) तैनात की गई हैं. परिस्थितियों पर काबू रखने के लिए ड्रोन और सीसीटीवी द्वारा भी इलाके की निगरानी की जा रही है.

दबी जुबान में कुछ घटनाएं कह रही हैं, मंदिर वहीं बनेगा ?