• भारत में कोरोना के कुल सक्रिय मामले अभी तक 3981 हैं, इसमें से 326 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, 114 लोगों की मौत
  • कोरोना संकट से जूझने के लिए सांसदों की तनख्वाह में से एक साल के लिए 30 फीसदी की कटौती की जाएगी, सरकार ने अध्यादेश को मंजूरी दी
  • जरुरतमंदों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने के लिए फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने लॉकडाउन के दौरान रिकॉर्ड 16.94 लाख टन अनाज की ढुलाई की
  • कोरोना मरीजों के लिए 2500 रेल कोचों में 40 हजार आइसोलेशन वार्ड बनाए गए
  • देश के इन राज्यों में कोरोना के ज्यादा मरीज- महाराष्ट्र में 748, तमिलनाडु में 571, दिल्ली में 523, केरल में 314
  • उत्तर प्रदेश में 305, राजस्थान में 274, आंध्र प्रदेश में 226, मध्य प्रदेश में 165 कोरोना के मरीज हैं
  • दुनिया में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 1346003 है. इसमें से 74654 लोगों की मौत हो चुकी है और 278445 लोग ठीक हो चुके हैं

पहले परिवार समेत जेल गये आजम खान, अब बेटे की विधायकी भी रद्द

कहते हैं कि सभी दिन एक समान नहीं होते हैं. एक समय जो आजम खान अखिलेश यादव की सरकार में खासा दबदबा रखते थे. अब वही आजम खान बड़े बेआबरू होकर जेल में डाल दिए गए हैं और और बेटे की विधायकी भी आधिकारिक रूप से चली गई.  

पहले परिवार समेत जेल गये आजम खान, अब बेटे की विधायकी भी रद्द

लखनऊ: रामपुर से समाजवादी पार्टी सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम की विधानसभा सदस्यता खत्म हो गई. गुरुवार को इस संबंध में विधानसभा से अधिसूचना जारी कर दी गई. अब्दुल्ला आजम स्वार टांडा सीट से 2017 में चुनाव जीते थे. अब यह सीट रिक्त हो गई है. बीते साल 16 दिसंबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अब्दुल्ला आजम की विधानसभा सदस्यता को अवैध घोषित कर दिया था.

फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के मामले में गई विधायकी
आपको बता दें कि 16 दिसंबर, 2019 को इलाहबाद हाई कोर्ट ने अब्दुल्ला आजम खां की सदस्यता को अवैध घोषित कर दिया था. कोर्ट ने बसपा नेता नवाब काजिम अली खां की याचिका पर यह फैसला सुनाया था. इसके बाद अब्दुल्ला आजम की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने भी ठुकरा दी थी. बता दें कि जब अब्दुल्ला आजम ने 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ा था तब वे 25 साल से कम आयु के थे लेकिन उन्होंने फर्जी प्रमाणपत्र लगाकर चुनाव लड़ा था.

बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने जनवरी 2019 में अब्दुल्ला पर धोखाधड़ी से दो-दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने, इसके लिए आजम खान और उनकी पत्नी के शपथपत्र देकर गलत जानकारी देने का आरोप लगाते हुए एफआईआर लिखाई थी. पुलिस ने अप्रैल 2019 में चार्जशीट दाखिल कर दी थी. इस मामले में हाई कोर्ट ने अब्दुल्ला आजम को दोषी पाया और उनकी विधायकी खारिज कर दी.

सीतापुर जेल में बंद हैं आजम खान
आजम खान, उनकी पत्नी और रामपुर से विधायक तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को सीतापुर जेल शिफ्ट में कर दिया गया है. माना जा रहा है कि सुरक्षा कारणों की वजह से आजम परिवार को शिफ्ट किया गया है. बुधवार को ही रामपुर के एडीजी कोर्ट ने आजम खान को उनकी पत्नी और बेटे को जेल भेज दिया था. सांसद आजम खान, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को दो मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया था. आजम के खिलाफ कोर्ट ने कुर्की वारंट जारी कर दिए थे.