जेल में नहीं कट रहीं आजम की रातें, बोले 'मेरे साथ हो रहा आतंकियों जैसा बर्ताव'

सपा सांसद आजम खां इस समय अपने राजनीतिक जीवन के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं. धोखाधड़ी समेत कई मामलों में अदालत ने उन्हें जेल भेजा है.

जेल में नहीं कट रहीं आजम की रातें, बोले 'मेरे साथ हो रहा आतंकियों जैसा बर्ताव'

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान की रामपुर कोर्ट में पेशी हुई. सीतापुर जेल में बंद आजम खान ने कहा कि मेरे साथ आतंकवादियों वाला व्यवहार हो रहा है. इस सरकार में मेरे साथ बहुत ही अमानवीय व्यवहार हो रहा है. बता दें कि आजम खान को भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सीतापुर से रामपुर कोर्ट के लिए ले जाया गया था. फर्जी प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में पूर्व मंत्री व सपा सांसद आजम खां, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को अदालत ने जेल भेज दिया था. 

सीतापुर जेल भेजने पर आजम को आपत्ति

आपको बता दें कि आजम खान के वकील खलील उल्लाह खान ने कोर्ट की बगैर अनुमति के जेल बदलने को अवमानना बताया था. उन्होंने आशंका जताई थी कि जेल में यह फेरबदल राजनीतिक साजिश के तहत की गई है . गौरतलब है कि आजम खान के खिलाफ कुल 83 मुकदमे दर्ज हैं, जिनमें से कुछ में आजम की पत्नी और बेटे भी आरोपी हैं. उन्हें एमपी एमलए कोर्ट से 8 मामलों में जमानत को मंजूरी दे दी थी.

फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के मामले में गई बेटे की विधायकी

आपको बता दें कि 16 दिसंबर, 2019 को इलाहबाद हाई कोर्ट ने अब्दुल्ला आजम खां की सदस्यता को अवैध घोषित कर दिया था. कोर्ट ने बसपा नेता नवाब काजिम अली खां की याचिका पर यह फैसला सुनाया था. इसके बाद अब्दुल्ला आजम की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने भी ठुकरा दी थी. बता दें कि जब अब्दुल्ला आजम ने 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ा था तब वे 25 साल से कम आयु के थे लेकिन उन्होंने फर्जी प्रमाणपत्र लगाकर चुनाव लड़ा था.

बीजेपी नेता ने दर्ज कराया था केस

आपको बता दें कि जिस मुकदमे में आजम खान जेल गये हैं वो मुकदमा बीजेपी के स्थानीय नेता आकाश सक्सेना ने पिछले साल दर्ज कराया था. इसमें उन्होंने आज़म खान के बेटे अबदुल्ला आज़म पर दो-दो जन्म प्रमाण पत्र बनाए रखने के आरोप लगाए थे. आकाश के मुताबिक, एक जन्म प्रमाण पत्र रामपुर से तो दूसरा लखनऊ से जारी किया गया है. 

आकाश सक्सेना ने इस मुकदमे में अब्दुल्ला के साथ-साथ उनके पिता आज़म खान और माता तंजीन फातिमा को भी मुकदमे में नामजद किया था. आपको बता दें कि आजम की बहू सिदरा खान ने जेल प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि सास और ससुर की तबीयत खराब होने के बावजूद उन्हें दवा नहीं दी रही है. इतना ही नहीं सांसद आजम खान और तंजीन फातिमा को जरूरी सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं कराईं जा रही हैं. 

ये भी पढ़ें- सपरिवार जेल पहुंचे सपा सांसद आजम खान, फर्जीवाड़ा करने का आरोप