पीएम मोदी ने लगवाई जो कोरोना वैक्सीन, जानिए कितनी है असरदार

भारत बायोटेक ने अपने कोवैक्सीन टीके के तीसरे चरण के परीक्षण के बुधवार को परिणाम जारी किए. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Mar 3, 2021, 07:14 PM IST
  • भारत बायोटेक ने बताया कोवैक्सीन है 81 प्रतिशत असरदार.
  • कोरोना के यूके वेरिएंट के खिलाफ भी है बेहद कारगर.
पीएम मोदी ने लगवाई जो कोरोना वैक्सीन, जानिए कितनी है असरदार

नई दिल्ली: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 मार्च को कोरोना का टीका दिल्ली स्थिति एम्स में लगवाकर टीकाकरण के दूसरे चरण की शुरुआत की. पीएम मोदी ने खुद के लिए भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का चुनाव किया और पूरे देश में भारतीय टीकों की विश्वसनीयता को लेकर उठ रहे तमाम सवालों को भी शांत कर दिया. 

ऐसे में कोविड- 19 का टीका बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने बुधवार बताया है कि उनका कोरोना वायरस रोधी टीका तीसरे चरण के चिकित्सीय परीक्षण में अंतरिम रूप से 81 प्रतिशत प्रभावकारी दिखा है. भारत बायोटेक ने इस संबंध में जारी बयान में कहा कि उसके तीसरी चरण के परीक्षण में 25,800 व्यक्ति शामिल हुए. भारत में इस तरह का यह अब तक का सबसे बड़ा परीक्षण है. इसे भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के सहयोग से सम्पन्न किया गया.

भारत बायोटेक के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला ने कहा, 'कोरोना वायरस के खिलाफ हमारी लड़ाई और वैक्सिन (टीका) की खोज में विज्ञान के लिए आज एक ऐतिहासिक दिन है. तीसरे चरण के चिकित्सीय परीक्षण के आज के परिणाम के साथ हमने अपने कोविड- 19 टीके के पहले, दूसरे और तीसरी परीक्षण के आंकड़ों को जारी कर दिया है. इन परीक्षणों में करीब 27,000 व्यक्ति शामिल हुये.'

उन्होंने कहा कि चिकित्सकीय परीक्षण में कोवैक्सिन ने न केवल कोविड- 19 के खिलाफ उच्च क्षमता का रुझान दिखाई है बल्कि यह कोरोना के तेजी से उभरते नये स्वरूपों के खिलाफ भी बेहतर प्रतिरोधन क्षमता विकसित करने सफल रही है.

कोविड- 19 से बचाव के लिये कोवैक्सिन टीके को भारत बायोटेक ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के साथ मिलकर देश में ही विकसित किया है. देश में इन दिनों कौवक्सिन के साथ साथ आक्सफोर्ड- एस्ट्राजेनेका के कोवीशील्ड टीके को लोगों को लगाया जा रहा है.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़