गौरव चंदेल हत्याकांड में बड़ा खुलासा: गाड़ी छोड़कर भाग गए हत्यारे

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के गौरव चंदेल हत्याकांड में बड़ा खुलासा हुआ है. गौरव की कार हत्या के बाद लूट ली गई थी. गाजियाबाद के मसूरी से बरामद हुई है. सवाल ये है कि हत्याकांड के 9 दिन बाद कार बरामद हुई. हत्यारे कब पकड़े जाएंगे?

गौरव चंदेल हत्याकांड में बड़ा खुलासा: गाड़ी छोड़कर भाग गए हत्यारे

नई दिल्ली: यूपी पुलिस ग्रेटर नोएडा वेस्ट के गौरव चंदेल मर्डर केस को सुलझाने के करीब है. हत्या के 9 दिन बाद आज गाज़ियाबाद के मसूरी में पुलिस ने गौरव चंदेल की चुराई कार बरामद कर ली. आसपास लगी सीसीटीवी में कार को लाने वाले की तलाश की जा रही है.

किसने की गौरव चंदेल की हत्या?

ग्रेटर नोएडा के गौरव चंदेल की हत्या किसने की? इस सवाल का जवाब यूपी पुलिस को जल्द मिल सकता है. हत्या के 9 दिन बाद पुलिस को हत्यारों का पहला सुराग मिला है. पुलिस ने पड़ोसी जिले गाजियाबाद के मसूरी में गौरव चंदेल की वो कार बरामद कर ली है. जो हत्या के बाद से गायब थी.

जिस जगह पर गौरव चंदेल की कार मिली है और जहां हत्या हुई. दोनों के बीच सिर्फ 22 किलोमीटर की दूरी है. ऐसे में बड़ा सवाल ये उठता है कि क्या हत्या करने के बाद 9 दिन तक हत्यारे यहीं आकर छिप गए या फिर कार लेकर कहीं और भी गए थे.

गाड़ी छोड़कर भाग गए हत्यारे

गाजियाबाद के मसूरी में हत्यारे गौरव की कार को रिटायर्ड पुलिसकर्मी के घर के बाहर छोड़ गये. हालांकि रिटायर्ड पुलिसकर्मी कार छोड़कर भागने वालों को नहीं देख पाए. कार की दोनों नंबर प्लेट्स हटा दी गई हैं. ताकि कोई इसे पहचान न पाए. हत्यारों ने कार की पहचान छिपाने की पूरी कोशिश भी की थी. नंबर प्लेट को तोड़ डाला था. लेकिन कार के विंड शील्ड पर लगे स्टिकर से कार की पहचान की गई.

सीसीटीवी फुटेज से मिलेगा सुराग?

पुलिस अब उन सीसीटीवी फुटेज के भरोसे है. जो इलाके के आसपास में लगा हुई है. पुलिस को उम्मीद इस बात की है कि जिन रास्तों से गुजरकर कार यहां पहुची है. वहां लगे सीसीटीवी कार लाने वाले का सुराग दे सकते हैं.

गौरव चंदेल की हत्या की गुत्थी नोएडा पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है. 100 से ज्यादा लोगों से पुलिस पूछताछ कर हर एंगल की जांच कर रही है. लापरवाही के आरोपों की वजह से पहले ही कुछ अफसर नप चुके हैं. हत्या के बाद जहां नोएडा में कमिश्नरी सिस्टम लागू हुआ है. वहीं इस हाइप्रोफाइल मर्डर की वजह से योगी सरकार, प्रियंका वाड्रा और मायावती जैसे विपक्षी नेताओं के निशाने पर भी है. ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासी भी कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर पुलिस से खासे नाराज हैं. बरामद कार से अगर कातिल का सुराग और मकसद का पता चल जाता है. तो पुलिस के लिए बेहद अहम होगा.

इसे भी पढ़ें: नोएडा हत्याकांड: लोगों में बढ़ा आक्रोश, गौरव चंदेल को कब मिलेगा इंसाफ?