• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 6,28,747 और अबतक कुल केस- 21,53,010: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 14,80,884 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 43,379 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 68.32% से बेहतर होकर 68.78% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 53,878 मरीज ठीक हुए
  • सरकार ने 500 करोड़ का आवंटन आत्म निर्भर अभियान के तहत मधुमक्खी पालन बढ़ाने के लिए किया
  • शहद का उत्पादन 242% बढ़ा और निर्यात 265% बढ़ा
  • 115 जिलों में एमएसएमई पदचिह्न बढ़ाने के लिए पहल
  • ₹50 करोड़ तक का सेक्टर निवेश और MSME की नई परिभाषा में 250 करोड़ तक का कारोबार
  • ₹50 करोड़ तक का सेक्टर निवेश और MSME की नई परिभाषा में 250 करोड़ तक का कारोबार
  • यह डिजिटल और आउटडोर इंस्टॉलेशन से सुसज्जित है, जो स्वछता पर जानकारी और शिक्षा प्रदान करता है
  • अगले पांच वर्षों में पीएलआई योजना के तहत ₹11.5 लाख करोड़ रुपये के मोबाइल फोन और इसके पुर्जे तैयार किए जाएंगे

इस्पात फैक्ट्री में गर्म लौह द्रव भरा टैंक गिरा, ब्लास्ट से घायल हो गए 13 मजूदर

रायपुर में खमतराई थाना क्षेत्र के रावभाटा इलाके में भारतीय इस्पात कंपनी है. इसमें लोहे के एंगल, सरिया सहित अन्य सामान बनता है. इसी फैक्ट्री में हादसा हुआ

इस्पात फैक्ट्री में गर्म लौह द्रव भरा टैंक गिरा,  ब्लास्ट से घायल हो गए 13 मजूदर

रायपुरः देशभर में इंस्ट्रियल हादसे लगातार घटित हो रहे हैं. गैस लीक हो जाना, आग लग जाना, विस्फोट जैसे घटनाओं में कई कर्मी जान गंवा चुके हैं. अब ऐसा ही एक हादसा बुधवार को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में सामने आया है. यहां एक इस्पात फैक्ट्री में गर्म लोहे का टैंक गिर गया और कई मजदूर बुरी तरह झुलस कर घायल हो गए. 

क्रेन का पट्टा टूटने से गिरा लौह द्रव भरा कंटेनर
जानकारी के मुताबिक यह हादसा रायपुर में मंगलवार को हुआ. खमतराई थाना क्षेत्र के रावभाटा इलाके में भारतीय इस्पात कंपनी है. इसमें लोहे के एंगल, सरिया सहित अन्य सामान बनता है. बताया गया कि काम चल रहा था, इसी दौरान क्रेन का पट्‌टा टूट गया.

उसमें फंसा गर्म लोहे का कंटेनर नीचे आ गिरा और जोर का ब्लास्ट हुआ. इसकी चपेट में आकर वहां काम कर रहे 10 मजदूर घायल हो गए. इसमें 3 की हालत गंभीर बताई जा रही है.  

लापरवाही के कारण हुआ हादसा
पुलिस ने इस मामले में फैक्ट्री मालिक, प्रबंधक और क्रेन चालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.  सभी घायलों को तुरंत ही पास के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया. अचानक केबल उखड़ने से करंट भी फैल गया.

विस्फोट के कारण, गर्म पिघला हुआ स्टील जमीन पर फैल गया. बताया जा रहा है कि हादसा कंपनी प्रबंधन की लापरवाही के कारण हुआ है. प्राथमिक जांच में पता चला है कि मशीनों का रख-रखाव सही नहीं था.

आगरा में बेकाबू ट्रक ने फुटपाथ पर सो रहे लोगों को कुचला, पांच की मौत

गुजरात में प्रकृति का प्रकोप, बारिश के कहर से कई जिले हुए जलमग्न