close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

देश पर छाया आतंकी हमले का 'काला बादल'! क्या नाव के सहारे PAK से आए हैं आतंकवादी?

गुजरात में पाकिस्तानी आतंकियों के दाखिल होने की आशंका जताई जा रही है. कच्छ के 'हरामी नाला' क्रीक क्षेत्र से 5 पाकिस्तानी नाव बरामद की गई है. ऐसे में सुरक्षाबल मुश्तैद हो गई है कि कहीं फिर से आतंकी समुद्री रास्ते से बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए तो नहीं आ गए 

देश पर छाया आतंकी हमले का 'काला बादल'! क्या नाव के सहारे PAK से आए हैं आतंकवादी?

नई दिल्ली: देश पर एक बार फिर आतंकी हमले का काला बादल मंडरा रहा है. गुजरात के कच्छ सीमा पर एक ऐसा वाकया सामने आया है कि हर किसी के पैरों तले जमीन खिसक जाएगी. दरअसल सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने एक बयान में कहा है कि कच्छ जिले के पास क्रीक इलाके से शुक्रवार की रात करीब 10 बजकर 45 मिनट पर एक इंजन वाली 5 नाव जब्त की गई हैं. हैरान कर देने वाली बात ये है कि ये नाव पाकिस्तानी बताई जा रही हैं.

नाव मिलने के बाद से ही सुरक्षाबलों ने सर्च अभियान शुरू कर दिया, मुश्तैदी के साथ चप्पे-चप्पे पर निगरानी रखी जा रहा है. उसके बाद एक बयान में कहा गया है कि "इस क्षेत्र में विशेष अभियान चलाया जा रहा है. अब तक इलाके से कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है."

भारत-पाकिस्तान सीमा के पास हरामी नाला क्रीक क्षेत्र से मछली पकड़ने में इस्तेमाल होने वाली पांच पाकिस्तानी नाव जब्त की गई हैं. हाल ही में देश की खुफिया एजेंसियों ने इस बात की आशंका व्यक्त की थी कि देश में घुसपैठ के लिए आतंकी समुद्री सीमा के रास्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं.

ये पहली दफा नहीं है जब आतंकी घुसपैठ के लिए समुद्री रास्ते का इस्तेमाल करने की फिराक में हैं. मुंबई में दिल दहला देने वाली आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए भी उन्होंने समुद्री रास्ते का सहारा लिया था. 26 नवंबर 2008 को मुंबई में समुद्र के रास्ते आतंकवादी दाखिल हुए थे. आपको याद दिला दें कि इस हमले में 164 लोगों की जान गई थी और 304 लोग घायल हुए थे.

इससे पहले भी मिली थी पाकिस्तानी नाव

इसी साल अगस्त के महीने में सीमा सुरक्षा बल ने भारत पाक सीमा के पास से मछली पकड़ने वाली दो खाली नाव बरामद की थी. जिसके बाद से ही सुरक्षाबल अलर्ट हो गए थे. सेना ने उस वक्त भी सर्च ऑपरेशन चलाया था. ये किसी इत्तेफाक से कम नहीं है कि उस वक्त भी दोनों नाव कच्छ सीमा के पास हरामी नाला से ही बरामद की गई थीं.

जब सेना ने जताई आतंकी हमले की आशंका

सितंबर के महीने में भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट जनरल एस. के. सैनी ने भारत के दक्षिणी हिस्से में आतंकी हमले होने की आशंका जताई थी. उन्होंने बताया था कि सर क्रीक इलाके से कुछ संदिग्ध नावें बरामद की गई थी. जिसका सहारा लेकर आतंकियों के घुसपैठ की आशंका जताई थी.

नाव मिलने से जहां आतंकियों के घुसपैठ के साथ-साथ बड़े हमले की साजिश होने की भी बू आ रही है. ऐसे में नापाक इरादों से निपटने के लिए सेना और भारतीय सुरक्षाबल पूरी तरह से तैयार बैठे हैं. लेकिन यहां, हर किसी को सावधानी बरतने की जरूरत है.