• भारत में कोरोना के अब तक 918 मामले सामने आए, अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है, 79 लोगों का सफल इलाज हुआ
  • कोरोना के सबसे ज्यादा मामले केरल और महाराष्ट्र में सामने आ रहे हैं, केरल में 167 और महाराष्ट्र में 186 लोग कोरोना प्रभावित
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 6,61,367 मामले सामने आ चुके हैं
  • कोरोना वायरस के कारण विश्व में अब तक 30,671 लोगों की मौत हो चुकी है, जबिक 1,41,464 लोग बचाए जा चुके हैं
  • कर्नाटक में कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 76 पहुंच गई है. पिछले 22 घंटे में 12 नए मामले सामने आए हैं
  • उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल 61 मामले, शनिवार को 11 मामले सामने आए जिसमें सबसे ज्यादा 9 मामले नोएडा में दिखे
  • महाराष्ट्र में कोराना वायरस के 9 नए मामले, मुंबई में 8 और नागपुर में 1 नया मरीज, कुल मामले 167 हुए
  • कोरोना वायरस से अबतक महाराष्ट्र में 5, गुजरात में 3, कर्नाटक में 2, मध्य प्रदेश में 2 लोगों की मौत हो चुकी है
  • तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, कश्मीर और हिमाचल में एक-एक मौतें हो चुकी हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीखिए सोशल डिस्टेंसिंग

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के कारण देश में 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. इस दौरान लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की सलाह दी जा रही है. इस नियम का पालन खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीखिए सोशल डिस्टेंसिंग

नई दिल्ली: कोरोना काल में पीएम मोदी ने सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की है. लेकिन, आपने कैबिनेट बैठक की ऐसी तस्वीर पहले नहीं देखी होगी. जाहिर है समय काल परिस्थिति अलग है तो बैठने उठने के तौर तरीके भी बदल जाते हैं. बुधवार को प्रधानमंत्री आवास पर हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में सभी मंत्री करीब एक-एक मीटर की दूरी पर बैठे.

कैबिनेट की बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में भी सोशल डिस्टेंसिंग का जिक्र किया था. पीएम मोदी ने कहा था कि लॉकडाउन के वक्त ये जरूरी है कि आप किसी से ना मिलें, अपने घर में ही बने रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. प्रधानमंत्री की इसी अपील का असर  को देश के अलग-अलग हिस्सों में भी दिखा और कैबिनेट की बैठक में भी.

याद कीजिए पहले जब कैबिनेट की बैठक की तस्वीरें आती थीं तो मोदी और उनकी कैबिनेट दूसरी तरह से बैठी हुई दिखाई देती थी लेकिन ये कोरोना काल है. दूरी बनाकर रखना जरूरी है, इसलिए ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने देश को फिर याद दिलाया की कोरोना किसी के साथ भेदभाव नहीं करता. यानी हर किसी को सावधान रहने की जरूरत है. पीएम मोदी ने कहा की यकीनन मुश्किल बड़ी है. लेकिन चुनौती को अवसर में बदलना ही मानव जीवन की विशेषता है.

इसे भी पढ़ें: कोरोना: मध्यप्रदेश में महिला की मौत, संक्रमितों की संख्या हुई 600 के पार

प्रधानमंत्री मोदी देश के साथ लगातार संवाद कर रहे हैं. हम और आप भी ऐसे ही एक दूसरे का साथ देते हुए आगे बढ़ेंगे तो यकीनन कोरोना पर विजय हासिल कर लेंगे.

इसे भी पढ़ें: ऐसी भी क्या मजबूरी है, जो भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन जरूरी है? जवाब जानिए

इसे भी पढ़ें: झूठा चीन छिपा रहा है आंकड़े, वहां 1.5 करोड़ लोगों के मरने की आशंका है!!