CBSE और UP सहित इन राज्यों में टली बोर्ड परीक्षाएं, यहां देखिए पूरी लिस्ट

देश में कई राज्यों ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला लिया है. ICSE बोर्ड भी जल्द ही परीक्षाओं के आयोजन को लेकर बड़ा फैसला ले सकता है. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Apr 15, 2021, 05:55 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में स्थगित हुई बोर्ड परीक्षा
  • पंजाब और हरियाणा में बोर्ड परीक्षा स्थगित
CBSE और UP सहित इन राज्यों में टली बोर्ड परीक्षाएं, यहां देखिए पूरी लिस्ट

नई दिल्ली: देश में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के बीच सीबीएसई सहित कई राज्यों ने बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने की घोषणा की है. 

शिक्षा मंत्रालय ने बुधवार को सीबीएसई बोर्ड की 10वीं की परीक्षा रद्द करने और 12वीं की परीक्षा कुछ समय के लिए टालने का ऐलान किया है. 

देशभर में छात्रों और अभिवावकों ने देश में बढ़ते हुए कोरोना के मामलों को देखते हुए सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं रद्द करने की मांग की थी. इस पर संज्ञान लेते हुए शिक्षा मंत्रालय ने 10वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने का ऐलान किया है. 

सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं रद्द होने के बाद ICSE बोर्ड भी जल्द ही 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाओं के आयोजन को लेकर फैसला ले सकता है.

CISCE के मुख्य कार्यकारी और सचिव, गेरी अराथून ने कहा है कि बोर्ड जल्द ही 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाओं को लेकर फैसला लेगा. 

इसके साथ ही देश के कई अन्य राज्य बोर्डों ने भी परीक्षाएं रद्द करने की घोषणा की है. इन राज्यों में रद्द हुई हैं बोर्ड परीक्षाएं: 

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 20 मई तक स्थगित करने का फैसला किया है. राज्य में 12वीं कक्षा तक के सभी स्कूल 15 मई तक बंद कर दिए गए हैं और इस दौरान किसी भी परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा.

राज्य में बीते 24 घंटों में 22,439 नए मामले सामने आए हैं. राज्य में कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए कई शहरों में नाईट कर्फ्यू भी लगाया गया है.  

महाराष्ट्र में भी राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला लिया गया था. महाराष्ट्र की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड ने राज्य में 12 अप्रैल सेशुरू होने वाली बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने का ऐलान किया था.

महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 58,952 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस दौरान 278 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है. इससे पहले राज्य की शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा है कि महाराष्ट्र सरकार सीबीएसई बोर्ड परीक्षा रद्द होने की तर्ज पर राज्य में भी परीक्षा रद्द करने पर विचार कर सकती है.

यह भी पढ़िए: Corona in India: भारत में विदेशी वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल पर 3 दिन में होगा फैसला

हिमाचल प्रदेश सरकार ने भी राज्य में कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला किया है. राज्य में बोर्ड परीक्षाएं 17 मई तक के लिए स्थगित कर दी गई हैं. राज्य में 13 अप्रैल से बोर्ड परीक्षाए शुरू होने वाली थी. 

इससे पहले राजस्थान सरकार ने राज्य में बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला किया था. राज्य में 6 मई से बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली थीं, लेकिन कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला किया है. 

मध्य प्रदेश सरकार ने भी राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए बुधवार को बोर्ड परीक्षाओं को एक महीने के लिए स्थगित करने का फैसला किया है. राज्य में 1 मई से बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली थीं. मध्य प्रदेश में कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए सरकार को कई शहरों में लॉकडाउन लगाना पड़ा है. 

उत्तर प्रदेश सरकार के गुरूवार को बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने के बाद गुजरात सरकार ने भी राज्य में बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने का ऐलान किया है. राज्य में 10 मई से बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली थीं. 
इसके साथ ही कक्षा 1 से 9वीं और 11वीं कक्षा के छात्रों को प्रमोट करने का फैसला किया गया है. 

पंजाब सरकार ने भी राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए गुरुवार को 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला किया है. राज्य में 5वीं, 8वीं और 10वीं कक्षा की परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है. इन कक्षा के छात्रों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाएगा. 

इसके साथ ही हरियाणा सरकार ने भी राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए 10वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने का फैसला किया है. जबकि 12वीं कक्षा की परीक्षाओं को कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया गया है. राज्य में 12 अप्रैल से बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली थीं. 

‘इंटरनेशनल बैकलॉरिएट’ ने भी भारत में रद्द की परीक्षाएं

कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर इंटरनेशनल बैकलॉरिएट (आईबी) ने देश में अपनी सभी परीक्षाएं गुरूवार को रद्द करने का फैसला किया.

देश में 185 ऐसे स्कूल हैं, जो आईबी के पाठ्यक्रम का अनुसरण करते हैं. विदेश में स्कूलों में दाखिला लेने के इच्छुक छात्र या जिनके अभिभावकों का दूसरे देशों में स्थानांतरण होता रहता है, वे परीक्षा के लिए इस बोर्ड को चुनते हैं.

बोर्ड के मुताबिक, डिप्लोमा कार्यक्रम, करियर से जुड़े कार्यक्रम और अन्य कार्यक्रमों के लिए गैर परीक्षा माध्यम को अपनाया जाएगा.

‘इंटरनेशनल बैकलॉरिएट’ ने एक आधिकारिक बयान में कहा, 'आईबी ने कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए स्कूलों, एसोसिएशन ओर शिक्षा बोर्ड से संवाद के बाद परीक्षाएं आयोजित नहीं करने के अपने फैसले से स्कूलों को अवगत करा दिया है.'

बयान में कहा गया, 'हमारा इरादा है कि मई 2021 सत्र के लिए भारत में छात्रों के परिणाम पाठ्यक्रम अंकों और अनुमानित ग्रेड का उपयोग करके देना चाहिए. अंक दिए जाने के बारे में फरवरी में बताया गया था. मई 2021 सत्र के बारे में और ज्यादा विवरण के लिए छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों को अपने स्कूल के आईबी समन्वयक से बात करना चाहिए.'

केंद्र सरकार ने बुधवार को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी जबकि 12वीं की बोर्ड परीक्षा स्थगित करने का फैसला किया है.

यह भी पढ़िए: Delhi: एक साल के लंबे इंतजार के बाद खुलेगा मरकज, हाईकोर्ट का आदेश

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़