दिल्ली में पानी पर सियासत! सीएम अरविंद केजरीवाल का कबूलनामा

दिल्ली में पानी पर सियासी घमासान बढ़ता जा रहा है. विधानसभा चुनाव नजदीक है, जिसे लेकर राजनीतिक पारा हाई है, ऐसे में देश की राजधानी में पानी और प्रदूषण का मुद्दा सर्वोच्च दर्जे पर विराजमान रहता है. पानी को लेकर छिड़े संग्राम पर खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मोर्चा संभाल लिया है.

दिल्ली में पानी पर सियासत! सीएम अरविंद केजरीवाल का कबूलनामा

नई दिल्ली: दिल्ली की सियासत पानी और प्रदूषण के इर्द-गिर्द सिमट गई है. एक ओर जहां भारतीय जनता पार्टी और दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी के बीच पानी और प्रदूषण पर घमासान मचा है तो वहीं दूसरी ओर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अब दिल्ली वालों के लिए पानी के सस्ते कनेक्शन का ऐलान कर दिया है.

सीएम केजरीवाल का कबूलनामा

इसके साथ ही केजरीवाल ने इस बात को भी कबूल किया है कि देश की राजधानी में अभी भी गंदे पानी की समस्या है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस दौरान ये कहा कि 'आज सवा सौ से कम इलाके बच गए है दिल्ली में जहां पर अभी गंदे पानी की शिकायत है. हम कोशिश कर रहे है, हम 2300 से घटाकर सवा सौ पर ले आए है.'

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की रिपोर्ट में दिल्ली के पानी को देश में सबसे खराब बताया गया है. भारतीय मानक ब्यूरो यानी बीआईएस की रिपोर्ट में दिल्ली का पानी भी 19 मापदंडों पर फेल साबित हुआ. पेयजल परीक्षण की रैंकिंग मं दिल्ली आखिरी 21वें नंबर पर आई.

हालांकि, इस रिपोर्ट पर आज मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिर्फ इतना ही कहा कि वो पानी पर पॉलिटिक्स नहीं करना चाहते. उन्होंने कहा कि 'मैं पानी के ऊपर राजनीति नहीं करना चाहता. इनमें से किसी को भी दिल्ली के पानी से कोई सरोकार नहीं है, केवल पानी को लेकर गंदी राजनीति की जा रही है.'

पानी पर छि़ड़ गया घमासान

विपक्ष पानी को लेकर केजरीवाल सरकार को घेरने की कोशिश कर रहा है तो इसका तोड़ भी सीएम केजरीवाल ने पानी के जरिये ही निकाला है. आज सीएम अरविंद केजरीवाल ने पानी और सीवर कनेक्शन पर बड़ी राहत का ऐलान किया.

अब दिल्ली में सीवर और पानी कनेक्शन के लिए सिर्फ 2310 रुपये देने होंगे. पहले इसके लिए एक लाख 14 हजार तक खर्च करना पड़ता था. नए कनेक्शन पर डवलेपमेंट चार्ज और इन्फ्रास्ट्रचर चार्ज माफ कर दिया गया है.

अरविंद केजरीवाल ने इस फैसले पर कहा कि आज बोर्ड ने निर्णय लिया है कि लोगों से डवलेपमेंट चार्ज और इन्फ्रास्ट्रचर चार्ज नहीं लिए जाएंगे. इन्फ्रास्ट्रचर के ऊपर सरकार निवेश करती रही है और करती रहेगी.

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में पानी को लेकर राजनीतिक विवाद, ट्विटर पर भिड़े सीएम केजरीवाल-पासवान

साफ है दिल्ली की राजनीति में पानी बड़ा मुद्दा बना चुका है. लेकिन अब देखना ये है कि गंदे पानी पर विपक्ष के हमलों के बीच पानी और सीवर के सस्ते कनेक्शन का ऐलान केजरीवाल सरकार के लिए कितना फायदेमंद साबित होगा.