close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बाढ़ से परेशान मध्यप्रदेश, सीएम ने केंद्र से मांगे 6 हजार करोड़ रुपये

मध्यप्रदेश में बाढ़ से प्रभावित किसानों और पीड़ितों को राहत का मरहम लगाने के लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से आपदा राहत कोष की मांग की है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्रीय गृहमंत्री को बताया कि बाढ़ के कारण करीब 55 लाख किसान प्रभावित हुए हैं. 

बाढ़ से परेशान मध्यप्रदेश, सीएम ने केंद्र से मांगे 6 हजार करोड़ रुपये

भोपालः मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने केंद्र सरकार से सोमवार को आपदा राहत कोष में छह हजार करोड़ रुपये की मांग की है. उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की और राज्य के मौजूदा हालातों की जानकारी दी. 
उन्होंने अनुरोध किया कि आपदा से निपटने के लिए तत्काल प्रभाव से राशि जारी की जाए. सीएम कमलनाथ इस समय दिल्ली के दौरे पर हैं. इससे पहले वह  4 अक्टूबर को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात कर चुके हैं. 
इस दौरान भी उन्‍होंने बाढ़ से प्रभावित किसानों की सहायता के लिए राशि की मांग की थी.

20 जिले हैं बाढ़ से प्रभावित
सीएम कमलनाथ ने सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से प्रदेश को राष्ट्रीय आपदा कोष से तत्काल 6 हजार 621 करोड़ रुपए देने की मांग की है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि प्रदेश में बाढ़ के कारण 55 लाख से ज्यादा किसान प्रभावित हुए हैं और ऐसे में पीड़ितों के हालात को सामान्य करने के लिए केंद्र से मदद की जरुरत है. सीएम ने गृह मंत्री को बाढ़ से हुए नुकसान की जानकारी दी है. राज्य के अनुरोध पर केंद्रीय अध्ययन दल ने 14 से 16 अक्टूबर के बीच प्रदेश के 16 जिलों में हुए नुकसान का जायजा लेकर अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को सौंप दी है. मुख्यमंत्री ने आकलन होने के बाद अब केन्द्र सरकार से तत्काल राज्य सरकार को राहत राशि देने का अनुरोध किया है. उन्होंने कहा कि मदद मिलने पर खासतौर से किसानों को हुए नुकसान की भरपाई हो सकेगी, जो कि बेहद जरूरी है. मुख्यमंत्री ने एक मेमोरेंडम भी गृह मंत्री अमित शाह को सौपा है, जिसमें बाढ़ के कारण 55 लाख से ज्यादा किसान और आम आदमी के प्रभावित होने के साथ बड़े पैमाने पर फसलों को नुकसान पहुंचाने की जानकारी है. साथ ही राज्य के मेमोरेंडम में बड़े पैमाने पर विकास कार्यों के भी प्रभावित होने की जानकारी केंद्र को दी है. राज्य सरकार ने प्रदेश में सामान्य से 46 प्रतिशत से ज्यादा बारिश होने और इसके कारण 20 जिलों में सबसे ज्यादा नुकसान होने की जानकारी दी है.