close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीएम योगी ने गुरु महंतों को किया याद, जनता को दिया विकास का भरोसा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि मैंने सत्ता संभालते ही यह संकल्प लिया कि अयोध्या में विकास और विश्वास की फिर से बहाली करना और प्रभु श्री राम की जन्मभूमि के उद्धार के लिए कानूनी तरीके से प्रयत्नशील रहना मेरी प्राथमिकताओं में से एक है. 

सीएम योगी ने गुरु महंतों को किया याद, जनता को दिया विकास का भरोसा

लखनऊः अयोध्या मामले में शनिवार को फैसला आने के बाद जहां सभी ओर लोगों ने इसे अलग-अलग तरीके से स्वीकार किया है वहीं उत्तर प्रदेश की सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने इस मौके पर बेहद ही भावुक ब्लॉग लिखकर अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ व गोरक्षपीठ के अन्य महंतों को याद किया है. इसके साथ ही सीएम ने लोगों से शांति की अपील की है और उन्हें सुरक्षा व विकास का वादा किया है.

राम मंदिर विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का क्या है नजरिया, यहां जानें

गुरु व महंतों को किया याद
उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ब्लॉग लिखकर अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ, महंत दिग्विजयनाथ और परमहंस रामचंद्र दास को याद किया है. सीएम योगी ने लिखा है कि उन्होंने हमेशा हिंदुत्व की राष्ट्रवादी विचारधारा को अंगीकार किया है और वह हमेशा सर्वे भवन्तु सुखिन: (सब सुखी हों) से लेकर वसुधैव कुटुम्बकम के रास्ते पर चले हैं. योगी ने आगे लिखा है, जब मैंने मुख्यमंत्री के रूप में दायित्व संभाला तब वर्षों से तुष्टीकरण की राजनीति के कारण सत्ता के लिए अछूत बनी अयोध्या की उपेक्षा की पीड़ा मेरे मन में बसी हुई थी.

मैंने सत्ता संभालते ही यह संकल्प लिया कि अयोध्या में विकास और विश्वास की फिर से बहाली करना और प्रभु श्री राम की जन्मभूमि के उद्धार के लिए कानूनी तरीके से प्रयत्नशील रहना मेरी प्राथमिकताओं में से एक है. इसी कारण मेरी सरकार ने अयोध्या में भव्य दीपोत्सव की शुरुआत की. अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ को याद करते हुए सीएम योगी ने लिखा है, 'आज जब मैं मुख्यमंत्री के रूप में कार्यरत हूं तो इस क्षण मुझे अपने गुरुदेव ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ जी महाराज याद आते हैं, जिन्होंने श्री रामजन्मभूमि आंदोलन में अति महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. वह कहा करते थे कि मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की न्यायप्रियता, आदर्श अनुशासन और समत्व भावना से युक्त त्याग के गुणों का हर सत्ताधारी को अनुकरण करना चाहिए. 

राम मंदिर फैसला: जरा याद कर लें इस मुद्दे को जिंदा करने वाले हिंदुत्व के पुरोधा को भी

लोगों से की शांति की अपील
जनता से शांति की अपील करते हुए योगी आदित्यनाथ ने लिखा है, मैं प्रदेश की जनता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि कानून व्यवस्था और सामाजिक सद्भावना के समक्ष चुनौती उत्पन्न करने वाले किसी भी असामाजिक अथवा आपराधिक तत्व से सख्ती से निपटा जाएगा. अपने प्रदेश की 23 करोड़ से अधिक जनता से भावपूर्ण अपील करता हूं कि आप अपनी एकता, परस्पर सद्भाव और शांति को पूरी तरह बनाए रखें. यह न किसी की विजय है और न किसी की पराजय. यह सत्य और न्याय की उद्घोषणा मात्र है. प्रदेश सरकार की तरफ से मैं आप सभी की शांतिपूर्ण सुरक्षा और विकास का पुनः आश्वासन देता हूं.

सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद, कुछ ऐसी रही देश की प्रतिक्रिया