दिल्ली को दहलाने की साजिश नाकाम! गिरफ्त में 3 आतंकी

दिल्ली पर बड़े धमाके की प्लानिंग करने वाले तीन आतंकियों को सुरक्षाबलों ने दबोच लिया है. दहलाने वाली साजिश के बारे में जब पूछताछ हुई तो पता चला है कि ये असम में भगवान कृष्ण से जुड़ा रासमेला में आईईडी ब्लास्ट करने वाले थे.

दिल्ली को दहलाने की साजिश नाकाम! गिरफ्त में 3 आतंकी

नई दिल्ली: दिल्ली को दहलाने की साज़िश सुरक्षाबलों ने नाकाम कर दी. असम के गोलपाड़ा ज़िले से सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने असम पुलिस के सहयोग से इन तीनों को पकड़ा जिनके पास से एक कम्पलीट आईईडी मिली है जो टाइमर वगैरह के साथ बिल्कुल तैयार अवस्था में थी, आईईडी के कॉम्पोनेंट मिले हैं. एक किलो एक्सप्लोसिव पाउडर भी मिला है. 

बड़े धमाके की प्लानिंग नाकाम

पूछताछ में पता चला है कि ये असम में भगवान कृष्ण से जुड़ा रासमेला में आईईडी ब्लास्ट करने वाले थे. इस मेले को इसलिए चुना गया था क्योंकि उसमें हजारों की संख्या में लोग आते हैं. बड़ा नुकसान पहुंचाने के लिए इनके निशाने पर रासलीला मेला था. ये एक तरह का टेस्ट रन था. कामयाब होने पर इनका अगला निशाना दिल्ली एनसीआर होता. पकड़े गए आतंकी जमील, मुकद्दीर इस्लाम और रंजीत अली 25 साल से कम उम्र के हैं और ISIS से प्रेरित हैं.

दिल्ली पुलिस के डीसीपी स्पेशल सेल प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि 'असम के गोलपाड़ा डिस्ट्रिक्ट से एक आईएसआईएस इन्सपायर्ड मॉड्यूल के तीन लड़कों को पकड़ा है जो कि रासमेला एक वहां पर लोकल फेयर होता है, कृष्णजी का उस मेले में टेस्ट रने के तौर पर एक IED ब्लास्ट करने वाले थे. और उसके सफल होने के बाद उनकी प्लानिंग दिल्ली में वैसे ही ब्लास्ट को दोहराने की थी.'

ISIS से प्रेरित हैं आतंकी

इनके लिंक के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है. इनका इरादा दिल्ली में ज्यादा भीड़भाड़ वाले इलाके में धमाका करने का था. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के पास कई दिनों से ऐसी जानकारी थी कि असम में कुछ रैडिकलाइज़्ड लड़कों की टीम है जो आतंकी घटनाओं को अंजाम दे सकती है. पता चला कि ये असम के गोलपाड़ा में केंद्रित हैं साथ ही दिल्ली में भी कुछ लड़कों को रैडिकलाइज किया हुआ है.

दिल्ली पुलिस के डीसीपी स्पेशल सेल ने ये भी बताया कि 'ISIS से इन्सपायर्ड इस सेंस में थे कि इनकी जो बातचीत थी उससे ये दावा करते थे कि ये आईएसआईएस से इन्सपायर्ड हैं. कुछ इनके साथी थे जिनसे इनकी बातचीत थी जो हमारे जो एसेट जो सोर्स हैं उनसे हमें पता चला है और इनकी प्राथमिक पूछताछ से पता चला है कि आईएसआईएस से इन्सपायर्ड थे.' इसके साथ ही प्रमोद कुशवाहा ने ये भी बताया कि जो आईईडी इन्होंने बनाई है वो आईएसआईएस के वीडियोज़ होते हैं डू इड योरसेल्फ वीडियोज होते हैं. उसमें जिस तरह की आईईडी बनाई जाती है उस तरह की आईईडी बनाई है. ये वैसी ही है जैसी भोपाल ब्लास्ट में ट्रेन ब्लास्ट में बनाई गई थी वैसी ही बनाई गई है.'

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में आतंकवाद पर इस तरह होगी 'फाइनल स्ट्राइक'

पकड़े गए तीनों आतंकी में से जमील 12वीं पास है और आधार एनरोलमेंट सेंटर में काम करता है. मुकद्दिर इस्लाम ड्राइवर का काम करता था. और मछलीपालन का काम भी करता था. रंजीत अली फिश ट्रेडिंग कंपनी में मैनेजर था. पुलिस ने समय रहते बड़ा हमला होने से रोका है. असम के रासमेले के बाद दिल्ली में भी बड़ी साज़िश को नाकाम किया गया है.